Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

सलवार चूत के रस से गीली-1


Click to Download this video!

desi kahani हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम कमल है, जैसा कि आप सभी लोग अच्छी तरह से जानते है कि में दिल्ली का रहने वाला हूँ और आप सभी को तो पता भी होगा कि में कितना बड़ा चाहने वाला हूँ। अब तक मैंने बहुत सारी कहानियों को पढ़कर उनके मज़े लिए है, वो सभी मुझे बहुत अच्छी लगी और आज में अपनी सच्ची कहानी को सुनाने जा रहा हूँ। यह मेरे जीवन का सबसे मजेदार सेक्स अनुभव है और यह बहुत मस्त भी है। दोस्तों यह घटना मेरे साथ नवंबर 2012 में घटित हुई और यह तब की बात है, जब हमारे पड़ोस में एक नये किराएदार रहने के लिए आए। दोस्तों वो लोग दो बहने और एक छोटा भाई और उनकी माँ भी उनके साथ ही रहती थी, बड़ी बहन का नाम नजमा और छोटी बहन का नाम किरन था। दोस्तों उन दोनों बहनों का फिगर बड़ा ही मस्त कमाल का था, इसलिए मेरी नजर हमेशा उनके गोरे बड़े आकार के बूब्स पर ही टिकी रहती और में जब अपनी छत पर बैठकर अपने पेपर की तैयारी किया करता था, तब छोटी बहन किरन मुझे छुप छुपकर देखा करती थी। दोस्तों उस समय उसकी उम्र करीब बीस साल होगी, लेकिन उसका वो सेक्सी फिगर बड़ा ही कमाल का आकर्षक था और मेरे हिसाब से उसके बूब्स का आकार 34-28-34 होगा।

दोस्तों उसके बूब्स तो बहुत बड़े उभरे हुए थे और इसलिए उसके बूब्स को देखकर हमेशा मेरे मुहं में पानी आने लगता था और जब भी वो मटकती हुई चलती थी तब उसके बूब्स, कुल्हे हिलते थे वो देखने में बड़े मस्त लगते थे। फिर मेरी नजर हमेशा उनको घूरकर देखा करती थी और फिर धीरे धीरे में अब उसकी तरफ देखने लगा था और वो भी अब मेरी तरफ देखकर हर कभी मुस्कुरा देती थी। एक दिन शाम को मैंने थोड़ी सी हिम्मत करके उसको अपने पास बुला लिया और वो भी चली आई। अब मैंने उसको पूछा कि आपका नाम क्या है? और में उस समय अंदर से डर भी रहा था कि कहीं वो मुझसे गुस्सा ना हो जाए? लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ जैसा मैंने सोचा था। फिर उसने बड़े ही प्यार से मेरी तरफ मुस्कुराकर मुझे अपना नाम किरन बता दिया और अब मैंने उसको कहा कि जैसा आपका नाम है वैसी ही आप कितना प्यारी हो? में उसकी तारीफ करता रहा, जिनको सुनकर वो खुश होती चली गई और उसके बाद हम दोनों बहुत देर तक इधर ऊधर की बातें करते रहे। अब मैंने उसको पूछा कि क्या आपने मेरी बातों का बुरा तो नहीं माना? तब वो मुझसे कहने लगी कि नहीं ऐसी कोई भी बात नहीं है, मुझे क्यों आपकी किसी बात का बुरा लगेगा? अब मैंने उसको कहा कि इसका मतलब यह है कि अब तो हर दिन ही हमारी बात हो सकती है?

यह बात सुनकर वो कहने लगी कि हाँ जरुर मुझे आपसे बातें करने में किसी भी तरह की कोई भी आपत्ति नहीं है। फिर इस तरह से हम दोनों हर दिन ही शाम को छत पर बैठे कई घंटो तक बातें किया करते थे और हमें मौका मिलने पर हम रात को भी साथ में बैठकर हंसी मजाक इधर उधर की बातें किया करते थे। एक दिन वो मुझसे कहने लगी कि मेरे हाथ बहुत ठंडे हो रहे है और तभी मैंने उसी समय उसका हाथ पकड़ लिया और मैंने छूकर महसूस किया कि उसका वो हाथ बहुत ठंडा था और उसके हाथ को इस तरह अचानक से पकड़ने पर भी उसने मुझसे कुछ भी नहीं कहा और इसलिए अब मेरी हिम्मत पहले से ज्यादा बढ़ गई। फिर कुछ देर बाद मैंने उसके हाथ पर चूम लिया, लेकिन तभी उसने एक झटका देकर अपने हाथ को पीछे हटा लिया। अब मैंने उसको पूछा कि क्यों क्या हुआ, जो तुमने मेरे हाथ को इस तरह से झटक दिया? वो मुझसे कहने लगी कि कुछ नहीं और उसके बाद कुछ देर बातें करके हम अपने अपने घर चले गए। फिर अगली रात को कुछ देर बातें करने के बाद मैंने हिम्मत करके उसको कहा कि में तुम्हे एक बार चूमना चाहता हूँ। अब वो मुझसे कहने लगी कि इस समय नहीं कहीं कोई हमे देख ना ले, मुझे बहुत डर लगता है।

फिर मैंने उससे कहा कि रात के अँधेरे में हमें कौन देखने आएगा, चलो ठीक है और फिर आज रात को करते है और इस तरह से मैंने उसी रात को उसको सबसे पहले उसके हाथ पर और फिर उसके बाद उसके चेहरे पर चूमा और तब उसने भी मेरे चेहरे पर एक चुम्मा दिया और फिर में तुरंत समझ गया कि उसकी तरफ से मुझे हाँ है और उसी समय मैंने उसके होंठो पर अपने होंठ रख दिए, थोड़ी देर के बाद वो भी मुझे अपनी तरफ से जवाब देने लगी और फिर धीरे धीरे मेरे हाथ आगे बढ़ते हुए उसकी कमर पर चले गये। अब में उसकी कमर को कुछ देर सहलाता रहा, उसके बाद मेरा एक हाथ अब ज्यादा आगे बढ़ते हुए उसके बूब्स पर जा पहुंचा। फिर मैंने उसके बूब्स को छूकर महसूस किया कि उसके वो मस्त बड़े आकार के बूब्स बहुत नरम थे और यह मेरा पहला अनुभव था, जिसका में पूरी तरह से फायदा उठाकर मज़े ले रहा था और मेरे साथ उसको भी बड़ा मज़ा आ रहा था। तभी मैंने उसको पूछा कि क्या यह इतने नरम होते है? तब वो कहने लगी कि हाँ और क्या? लेकिन मुझे तो आज ही पहली बार पता चला है कि यह इतने मुलायम मजेदार होते है। फिर उसी समय हमे कुछ शोर सुनाई दिया और हम लोग नीचे चले गये। दोस्तों अब हम दिन ही ऐसे मज़े लेने लगे, में उसको चूमते हुए उसके बूब्स को कपड़ो के अंदर हाथ डालकर दबाने और निप्पल को भी निचोड़ने लगा था।

दोस्तों वो इन सभी कामो से इतनी गरम होकर जोश में आ जाती कि वो बस सिसकियाँ लेते हुए मुझे मज़े लेने से मना नहीं करती, मैंने उसकी ऐसी हालत कर दी थी कि उसने बहुत बार मुझे अपनी चुदाई की तरफ इशारा किया। अब हम दोनों ही किसी खास मौके का इंतज़ार कर रहे थे, जिसका फायदा उठाकर में उसकी प्यासी चूत में अपने लंड को डालकर उसकी चूत को पूरी तरह से शांत कर दूँ। एक दिन हमें वो मौका मिल ही गया, जिसका हमें इतने दिनों से इंतजार था। दोस्तों उस दिन मेरे सभी घर वाले एक शादी में दूसरे शहर में गए हुए थे और घर वालों ने दूसरे दिन तक वापस आने की बात भी मुझसे कही थी। दोस्तों में उस मौके को पाकर मन ही मन बहुत खुश था, क्योंकि मुझे उस दिन कैसे भी करके उसकी चुदाई के मज़े लेने थे और यह बात सोचकर मैंने मिलकर उसको कहा कि आज हम दोनों के पास बहुत अच्छा मौका है, क्योंकि मेरे सभी घर वाले मेरे किसी रिश्तेदार की शादी में बाहर जा चुके है और में घर में अकेला हूँ और अब तुम जल्दी से मेरे घर आ जाओ हम आज बहुत मज़े मस्ती करेंगे। अब वो मुझसे पूछने लगी कि घर आकर क्या करना है? मैंने उसको कहा कि हम दोनों आराम से बैठकर बहुत सारी बातें करेंगे, क्योंकि हमे अकेले घर में रहने से किसी का डर भी नहीं होगा, कोई भी हमें देखने रोकने टोकने वाला नहीं है।

फिर वो मुझसे कहने लगी कि हाँ ठीक है, लेकिन मुझे अपने घर भी जाना है और इस वजह से में तुम्हारे पास ज्यादा देर नहीं रहूंगी। अब मैंने उसको कहा कि हाँ ठीक है, तुम अपनी मर्जी से जब चाहो चली जाना तुम्हे कौन रोकने वाला है? और फिर कुछ देर के बाद वो मेरे घर पर आ गई। में उसको देखकर बहुत खुश था और सबसे पहले तो हम दोनों ने आराम से बैठकर कुछ देर इधर उधर की बातें की और उसके बाद मैंने सही मौका देखकर उसके होंठो पर किस कर दिया और वो भी कुछ देर बाद गरम होना शुरू हो गई, जिसकी वजह से वो अब मुझसे लिपट गई और वो मुझे अपने गले से लगाकर मेरे अंदर पूरी तरह से डूबने लगी और उसके बूब्स भी अब मेरी छाती से दबने लगे थे और हम दोनों उस समय बहुत जोश में आ चुके थे। फिर मैंने सही मौका देखकर उसको अपनी बाहों में लेकर धीरे धीरे बेड पर लेटा दिया और उसके बाद मैंने उसकी गोरी गर्दन और उसके सुंदर गोल चेहरे पर चूमना शुरू कर दिया, जिसकी वजह से वो पागल होने लगी। अब मैंने उसके बूब्स को कपड़ो के ऊपर से ही दबाना उनको मसलना शुरू कर दिया, मेरे ऐसा करने की वजह से वो भी अब धीरे धीरे पहले से ज्यादा गरम होती जा रही थी।

फिर मैंने उसकी हालत को देखकर तुरंत उसकी कमीज़ को पूरा ऊपर कर दिया और तब मैंने देखा कि उसने अपनी कमीज के नीचे काले रंग की ब्रा पहनी हुई थी और वो उसके गोरे कामुक जिस्म पर बहुत जच रही थी। दोस्तों वो काली बार उसकी सुन्दरता को और भी बढ़ा रही थी, जिसको देखकर में बिल्कुल पागल हुआ जा रहा था। अब मैंने सबसे पहले उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके बूब्स को चूमा और उसके बाद मैंने उस ब्रा को भी उसकी कमर पर पीछे हाथ डालकर हुक को खोलकर उतार दिया। अब उसने मेरी भी शर्ट को उतार दिया और अब मेरे सामने पहली बार उसके एकदम नंगे गोलमटोल आकर्षक बूब्स थे। दोस्तों उन पर में शुरू से ही फिदा था। में उनको हमेशा इस हालत में देखने के लिए सोचा करता था और उनको पूरा नंगा देखना मेरा एक सपना था और फिर में उसके पूरे नंगे बूब्स को देखकर बिल्कुल पागल हो गया था। अब में उसके एक बूब्स को चूसने लगा और दूसरे को अपने एक हाथ से दबाने उसका रस निचोड़ने लगा था। यह सब करने की वजह से नीचे मेरा तनकर खड़ा लंड अब उसकी चूत पर कपड़ो के ऊपर से ही छूकर चूत को महसूस करके मस्त होता रहा और अब में ऊपर से हिल रहा था और वो नीचे से। फिर में उसी समय अपने एक हाथ को उसकी चूत पर ले जाकर उसकी चूत को अपने हाथ से धीरे धीरे मसलता उसको सहलाता गया।

फिर उसी समय मैंने छूकर महसूस किया कि उसने अपनी सलवार के नीचे पेंटी नहीं पहनी थी और वो सलवार चूत के रस से बिल्कुल गीली हो चुकी थी। फिर कुछ देर बाद ही उसने बेकाबू होकर अपनी चूत का पानी छोड़ दिया। उसके बाद वो धीरे धीरे ठंडी हो गयी और जब मैंने दोबारा से उसके बूब्स को चूसना दबाना शुरू किए, तब वो एक बार फिर से गरम होना शुरू हो गयी। अब हम दोनों पूरी तरह से जोश में आ चुके थे, तभी उसी के साथ ही मेरे घर की घंटी बज गई और उस आवाज को सुनकर हम दोनों एकदम से डर गए। अब हम दोनों ने तुरंत ही अपने कपड़े ठीक किए और उसके बाद मैंने उसको एक सुरक्षित जगह देखकर छुपा दिया और मैंने जब जाकर दरवाजे को खोलकर देखा, तब बाहर मेरा चचेरा भाई खड़ा हुआ था। फिर मैंने उसको कुछ देर अंदर बैठाकर इधर उधर की बातें करने के बाद बहाने से उसको बाहर पास की दुकान से ठंडा लाने के लिए भेज दिया और फिर अंदर आकर मैंने किरन को उसके घर पर भेज दिया। उस दिन मुझे बहुत दुख हुआ कि में उसके साथ कुछ भी ना कर सका, लेकिन उसके बूब्स ने मुझे वो पूरा मज़ा दे दिया था, उस तरह दो चार दिन गुज़र गए और हम लोग कोई भी अच्छा मौका मिलने पर बातें भी कर लेते थे।

Best Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone


ma bete ki chodai ki kahanichut and lundantarvasna mameri pyasi chuthindi sex story xossiphindi sxy storygharelu chutsasur ne choda hindifadu sexgaand ki kahanididi ki burnew chudai kahani hindi meland or chut ki kahanimaa ko choda sex story in hindihind saxy storychut sealnew sexi storyland chut kahanipelne ki kahanigaand mein landchoot chodostory hindi saxwww sex bhabhi comhindi devarsaas ki chudai hindi storymaa ki chudai sex story in hindibahan ki chudai hotel mereal sex story in hindi fontsexy desi sex storybhabhi ko khet me chodabadi mummy ko chodamere ghar ki randiyaindian hindi chudai kahanishaadi me chudaichudai ki ma kichoti ladki ki chut ka photopapa aur beti ki chudai ki kahanichacha ne mummy ko chodasagi chachi ki chudaimaa ki chudai story in hindilund aur bur ki chudaisex in choothot bhabi chudaidesi sexstoryaunty chaddikamukta kahanigirlfriend ki pehli chudaimarathi sexy storismaa ko choda story hindichudail ko chodashilpa chudaiaunty chodasexi khahanisexy chut comhindi sax storeykhala ki chudai kinangi chutlong hindi sex storiesgb road ki kahanisexy hindi chudai kahanibahan aur maa ki chudaiindian chudai ki storymastram hindi chudai kahanichudai kahani beti kisexy kahani behanbhabhi ki behan ko chodaxxx story hindi mehindi sex ki kahaniwww jija sali ki chudaimeri chut chudai ki kahanidesi hindi chudai kahanipehli baar chodababhi ke gand maribehan ko choda storymaa choda storyporn sex auntybhanji ki choot mariland chut ki ladaichut fadnaantarvasna hindi chudai kahaniindian sex hindi kahaniyaboobs touching storieshindi sixy filmchudai kahani hindi mainmeri chut or gandbahan chutdesi style chudai8 saal ki bfladkiyo ki chutbest chudai kahani in hindioffice ki ladki ko chodasexx bhabhiantarvasna hindi commummy chudaimeera ki chudaiaadhaantarvasna comhindi bhabhi porn