Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

पापा के सामने मेरी ब्लू फिल्म


हैल्लो फ्रेंड्स.. में उम्मीद करती हूँ कि आप सभी लोग अच्छे होंगे. में अनामिका सिंह आज आपके सामने अपनी लाईफ को चेंज करने वाली एक सच्ची घटना बताने जा रही हूँ और में मानती हूँ कि जो मेरे साथ हुआ वो शायद ठीक नहीं था.. में अपने बारे में बता दूँ कि में फरीदाबाद की रहने वाली हूँ और मेरा बचपन यहीं पर बीता है और में यहाँ के एक स्कूल से पढ़ी और अब यहीं के एक कॉलेज से बीए 1st कर रही हूँ. में दिखने में एकदम सुंदर इंडियन लड़की जैसी ही थी.. लेकिन मेरे चेहरे पर थोड़ा ग्लो था.. में अक्सर खुद को आईने में देखकर सोचती कि में बहुत सुंदर हूँ और शायद मेरे लिए कहीं पर एक बहुत सुंदर राजकुमार बना होगा.. लेकिन भगवान ने मेरे नसीब में कुछ और ही लिखा था.

दोस्तों यह उन दिनों की बात है.. जब मैंने अपना 18वां जन्मदिन मनाया था और में नई नई जवानी में दाखिल हुई थी. मेरा फिगर उस समय कुछ ख़ास तो नहीं था.. लेकिन फिर भी 32-24-32 तो रहा ही होगा और बाल मेरे बहुत लंबे थे और वो मेरी कमर को छूते थे और में पढ़ाई में बहुत ही होनहार थी.. लेकिन में सेक्स के बारे में सिर्फ़ उतना ही जानती थी कि जितना 10वीं क्लास की बायोलोजी की किताब में बताया जाता था और सेक्स की तरफ मेरी ज़रा भी रूचि नहीं थी. मुझे मेरे कई सीनियर लड़को ने बहुत बार प्रपोज़ भी किया था.. लेकिन में उनकी शिकायत कर दिया करती थी और हाँ कभी कभी भीड़ में कुछ लोगों ने फायदा उठाकर मुझे ज़रूर छुआ था.. लेकिन उसके अलावा कभी किसी लड़के ने मुझे ऐसे छुआ नहीं होगा. शायद अब आप लोग बोर हो रहे होंगे.. अब अपनी आज की स्टोरी पर आती हूँ.

फिर उन दिनों में 10वीं की बोर्ड परीक्षा देकर घर पर खाली बैठी हुई थी और में घर पर बहुत बोर होती थी.. क्योंकि मेरे मम्मी, पापा दोनों ही नौकरी करते थे. हमारी फेमिली फिल्मों की बहुत ही शौकिन थी और हम अक्सर बाहर फिल्म देखने जाते और फिर एक दिन मैंने सोचा कि क्यों ना में खाली समय में कुछ पार्ट टाईम नौकरी कर ली जाए.. जिससे मेरा टाईम भी पास हो जाएगा और में जो पैसे जमा करूँगी तो अपने लिए एक अच्छा सा फोन ले लूँगी. तो एक दिन मैंने अपनी मम्मी, पापा को अपनी इच्छा बताई तो वो भी बहुत खुश हुए और अगले दिन से हम तीनों न्यूज़ पेपर्स में नौकरी ढूंढने लगे और एक दिन न्यूज़ पेपर में एक मॉडलिंग एजेन्सी का विज्ञापन आया कि उन्हें एक टीवी शो के लिए फिमेल की ज़रूरत है.. मेरी मम्मी ने वो देखा तो मुझे और पापा को बताया.

फिर मैंने सोचा कि नौकरी तो अच्छी है.. लेकिन मुझे एक्टींग कहाँ आती है? लेकिन मेरी मम्मी, पापा ने मुझे समझाते हुए कहा कि आजकल एक्टिंग करता भी कौन है? और मुझे एक बार कोशिश करनी चाहिए. फिर मेरे पापा ने वहाँ पर कॉल किया तो उन लोगों ने दो दिन बाद का हमें टाईम दे दिया और अब क्या था.. में तो खुशी के मारे पागल सी हुई जा रही थी. पापा ने मम्मी से कहा कि ज़रा मुझे ब्यूटी पार्लर से थोड़ा टचअप करवा दे.. दोस्तों में आज तक कभी ब्यूटी पार्लर नहीं गई थी.. लेकिन मेरी मम्मी अक्सर वहाँ पर जाती रहती थी और उन्हे तो वहाँ जाने का बहाना चाहिए था. फिर उस दिन शाम को में और मम्मी पार्लर गये.. वहाँ पर मम्मी ने पहले तो मेरी आईब्रो बनवाई, मेरा फेशियल करवाया और थोड़े से बाल भी छोटे करवाए.. पार्लर में फ्री वेक्सिंग थी तो मम्मी ने कहा कि करवा लो और फिर उन लोगों ने मेरे पैर, हाथ, जांघो पर वेक्सिंग भी कर दी और में जब घर पर आई तो पापा ने बहुत अच्छा कहा और मम्मी ने आते टाईम मेरे लिए कुछ नयी ब्रा और पेंटी भी ली थी. फिर अगले दिन में और पापा तैयार होकर उस होटल में पहुंचे.. जहाँ पर हमे बुलाया गया था. मैंने नीली कलर की जीन्स और हल्के भूरे कलर का टॉप पहना था.. लेकिन वो थोड़ा डिज़ाइनर था.. उसके अंदर मैंने नई लाल कलर की ब्रा और वैसी ही पेंटी पहनी हुई थी.. लेकिन ब्रा नई होने की वजह से मुझे बहुत चुभ रही थी और मुझे बहुत अजीब सा महसूस हो रहा था और में बार बार उसे ठीक भी कर रही थी. फिर मेरे पापा ने यह देखा तो मैंने उन्हे सब बताया.. उन्होंने कहा कि कहीं यह तुम्हारी एक्टिंग टेस्ट खराब ना कर दे और उन्होंने कहा कि तुम कार में ही ब्रा उतार दो.

फिर मैंने अपनी ब्रा उतार दी और पापा ने उसे रख लिया और जब हम उनके ऑफिस पहुंचे.. जो कि होटल का एक रूम था.. वहाँ पर पहले से ही बहुत लड़कियां थी. फिर वहाँ कुछ फार्म भरने के बाद मुझे मिस्टर आलोक से मिलने भेजा गया.. उनका रूम थोड़ा हटकर था.. में और पापा भी वहां पर मेरे साथ गये.. तो अंदर कॅस्टिंग चल रही थी.. वहाँ पर एक कैमरा मेन, एक स्पॉट बॉय, एक डाइरेक्टर जो 60 साल के आसपास था.. एक असिस्टेंट जो 40 साल के आसपास था और एक मेरे पापा की उम्र के अंकल थे.. जो शायद एक्टिंग के लिए आए थे और उनकी उम्र करीब 40 साल होगी.

फिर डाइरेक्टर ने मुझे पहले बहुत ध्यान से चारों तरफ से देखा.. मुझे बहुत अजीब लग रहा था और मेरे मन में एक अजीब सा डर भी था कि कहीं में रिजेक्ट ना हो जाऊँ. फिर कुछ देर देखने के बाद डाइरेक्टर ने कहा कि इस लड़की में कुछ तो बात है.. यह बात सुनकर में बहुत खुश हुई और मैंने पापा की तरफ देखा. फिर उन्होंने भी मेरी तरफ हाथ हिलाकर इशारा किया और फिर डाइरेक्टर ने मुझसे कहा कि मुझे कुछ एक्टिंग शॉट्स देने होंगे.. तो में एक प्रोफेशनल एक्ट्रेस की तरह बात सुनने लगी. मुझे करना यह था कि में और वो अंकल बेटी और बाप हैं और वो मुझे बहुत प्यार करते हैं.. मुझे उदास देखकर वो मुझसे पूछते हैं कि में परेशान क्यों हूँ? और मुझे उन्हे बताना है कि में तीन महीने से गर्भवती हूँ.

फिर वो मुझे बहुत डांटते हैं और फिर रोकर हम गले लग जाते हैं.. तो यह सब सुनकर मुझे बड़ा ही अजीब लगा और में सोचने लगी कि यह कैसे होगा? मुझे सोचने के लिए 5 मिनट मिले और में पापा के पास गई और कहा कि पापा ये बहुत अजीब है.. लेकिन पापा ने कहा कि आजकल टीवी पर यही सब होता है और तुम्हे बहुत अच्छी एक्टिंग करनी चाहिए.. क्योंकि तुम तो पूरे दिन घर पर वो सब देखती भी रहती हो. फिर मैंने सोचा कि एक एक्ट्रेस को तो एक्टिंग करनी ही होती है और फिर एक अच्छी एक्ट्रेस हर तरह के रोल करती है और में करने के लिए तैयार हुई.. स्पॉट बॉय ने मुझ पर स्पॉट डाला, डाइरेक्टर ने एक्शन बोला और कैमरा मेन रेकॉर्डिंग करने लगा.

बेटी : पापा मुझे आपसे कुछ जरूरी बात करनी है.

पापा : हाँ बेटी बताओ क्या हुआ? और तुम कुछ परेशान लग रही हो.

बेटी : पापा में गर्भवती हूँ.

पापा : क्या? ( गुस्से से ) यह कैसा मज़ाक है बेटी?

बेटी : (रोता हुआ चेहरा बनकर) नहीं पापा यह एकदम सच है.

पापा : कितने दिन हुए और इस बच्चे का बाप कौन है?

बेटी : 3 महीने हो गए हैं पापा.

पापा : मैंने पूछा इस बच्चे का बाप कौन है?

बेटी : ( अब में एकदम चुप रहती हूँ)

पापा : चुप क्यों हो? क्या तुम्हे नहीं पता या फिर भूल गई.. किसके साथ मुहं काला किया था?

बेटी : (रोते हुए) पापा वो हमारा ड्राईवर.. में करण से बहुत प्यार करती हूँ.. पापा.

पापा : पागल हो गई हो क्या? उसकी हिम्मत कैसे हुई? क्या तुम जानती नहीं कि वो खुद एक शादीशुदा है.

बेटी : मुझे माफ़ कर दो पापा.. प्लीज मुझे एक बार माफ़ कर दीजिए (और में रोने लगती हूँ.)

पापा : रोते हुए मुझे गले लगाते हैं और कहते है कि यह तूने क्या कर दिया बेटी?

फिर डाइरेक्टर हमारी बहुत तारीफ करते हैं.. विशेषकर मेरी और मेरे पापा को बुलाकर भी मेरी बहुत तारीफ करते हैं और मेरे पापा भी मेरी एक्टिंग देखकर बहुत खुश थे और डाइरेक्टर हमे थोड़ी देर बैठने को बोलकर हमारे शॉट को बाकी सबको दिखाने चले गये. फिर में और पापा वहाँ पर कुछ देर बैठे रहे और जब डाइरेक्टर वापस आए.. तो उनके साथ तीन और लोग भी थे.. जो शायद उनके हेड थे.. वो हमारे पास आए और उन्होंने हमे बताया कि उन्हे मेरी एक्टिंग बहुत पसंद आई है और मेरा चेहरा टीवी सीरियल्स नहीं बल्कि किसी फिल्म की हीरोईन बनने के लायक है. तो यह बात सुनकर में और पापा दोनों बहुत खुश थे और उन्होंने हमें बताया कि वो अभी एक कम बजट फिल्म की बनाने जा रहे हैं और उसकी एक्ट्रेस अभी तक फाइनल नहीं हुई है.. लेकिन वो लोग मुझे यह रोल देना चाहते हैं.

अब भला मुझे क्या परेशानी हो सकती थी. उन्होंने बताया कि यह मेरी पहली फिल्म है और फिल्म का बजट भी कम है.. इसलिए वो लोग मुझे इसके लिए सिर्फ 10 लाख रूपये देंगे. फिर में यह बात सुनकर तो मेरे पापा जैसे एकदम सुन्न रह गये और उन्होंने हमे होश में लाते हुए पूछा कि अगर हम लोग तैयार हो तो वो आगे की कार्यवाही पूरी करे और मेरा साइनिंग अमाउंट जो कि 1 लाख रुपये है.. वो मेरे पापा को दे. फिर मेरे पापा ने सुनते ही हाँ कर दी और उन लोगो ने हमसे कई जगह साईन करवाए और फिर साइनिंग अमाउंट पापा को दे दिया और हमें अगले दिन आने को बोला गया ताकि फिल्म के कुछ शॉट्स लिए जा सके और प्रोड्यूसर्स को वो दिखाकर फिल्म का बजट अरेंज कर सके.

फिर जब हम चलने लगे तो कैमरा मेन वहाँ पर आया और मुझे मेरा शॉट दिखाया.. सबने मेरी बहुत तारीफ की.. लेकिन पता नहीं कैसे किसी ने इस बात पर गौर कर लिया कि मैंने ब्रा नहीं पहनी हुई है और पापा बोल पड़े.. पापा ने सुबह वाली पूरी बात वहाँ पर सबको बता दी. फिर डाइरेक्टर ने मेरे पापा से मुझे कुछ अच्छी कम्पनी की ब्रा और पेंटी दिलाने को कहा ताकि आगे कोई भी समस्या ना आए.. जिस पर मेरे पापा ने हाँ कर दी. फिर में और पापा वहाँ से चल दिए और अब यह खुश खबरी हमें मम्मी को देनी थी.

फिर हमने मम्मी को उनके ऑफिस से हमारे साथ में लिया और उन्हे सब बताया.. वो तो खुशी से जैसे चीख ही उठी थी. पापा ने कहा कि अब यह पैसे जो कि मेरा साइनिंग अमाउंट है उससे थोड़ी मस्ती की जाए और हमने सोचा कि पहले कुछ शॉपिंग करते हैं और वहाँ पर पापा ने मम्मी से मुझे कुछ अच्छे कपड़े दिलाने को बोला.. हमने मेरे लिए कई ब्रा और पेंटी ली और मम्मी ने भी बहुत सारी शॉपिंग की और पापा ने भी अपने लिए सूट लिया और ऐसे करते हुए हमने वो सारे पैसे खर्च कर दिए.

फिर अगले दिन में अच्छी तरह से तैयार हुई.. मेकअप किया और आज मैंने एक अच्छा सा सलवार सूट पहना था.. पापा को ऑफिस जाना था.. तो यह तय हुआ कि में पापा के साथ होटल तक जाउंगी और पापा वहाँ पर कुछ देर रुकेंगे. फिर वो अपने ऑफिस चले जाएँगे और वापस आते हुए वो मुझे अपने साथ लेकर आएँगे. फिर जब हम लोग वहाँ पर पहुंचे तो सारी तैयारी हो रही थी.. वहाँ करीब 10-12 लोग मौजूद थे और जिनमे डाइरेक्टर, उनके दो असिस्टेंट्स, कैमरा मेन, स्पॉट बॉय, मेकअप मेन, दो एक्टर्स जो करीब 35-40 की उम्र के थे और एक ड्रेस मेन भी था. वहाँ पर पहुंचने के बाद हमे फिल्म की कहानी सुनाई गई.. वो कहानी यह थी कि में एक बिगड़ी हुई मॉडर्न लड़की हूँ.. जो बुरे काम करती हूँ.. जैसे कि लड़को के साथ घूमना, अय्याशी करना, बार में डांस करना और एक दिन बार में ही मुझे एक पुलिस वाले से प्यार हो जाता है.. जो कि उम्र में मुझसे बहुत बड़ा है और उसका तलाक़ हो चुका है.. वो मुझसे प्यार नहीं करता.. लेकिन मुझे अपने घर वालों का वास्ता देकर कुछ बुरे लोगों को पकड़ने में उसकी मदद के लिए कहता है और में एक एक करके बुरे आदमियों को अपने हुस्न के जाल में फंसाती हूँ और फिर उन्हे पुलिस पकड़ती है.

फिर वो कहानी मुझे और पापा दोनों को पसंद आई.. लेकिन डाइरेक्टर ने कहा कि इस फिल्म में कई बोल्ड सीन भी है.. जैसे किस्सिंग सीन, बाथरूम सीन, बेड सीन, रोमांस सीन. यह बात सुनकर में और पापा थोड़ा घबराने लगे.. जिस पर वहाँ मौजूद लोग हमें समझाने लगे कि आजकल किस फिल्म में ये सब नहीं होता और फिर आजकल तो यह सब नॉर्मल है और अगर एक बार में हिट हो गई.. तो हमारी लाईफ बन जाएगी.. अभी यह बातें हो ही रही थी कि डाइरेक्टर ने मेरे पापा के हाथ में 2 लाख रुपये का चेक दे दिया कि यह मेरी एडवांस फीस है और अब तो मेरे पापा फिल्म के लिए बिल्कुल तैयार थे और फिर वो भी मुझे समझाने लगे थे कि यह सब आजकल नॉर्मल है और में सच कहूँ.. मेरा दिल तो बहुत था फिल्म करने का और फेमस होने का.. लेकिन मुझे बहुत डर लग रहा था कि शूटिंग में ना जाने क्या क्या होगा? आख़िर में दिल जीता और मैंने फिल्म के लिए हाँ कर दी.

फिर डाइरेक्टर ने मुझे और जो 2 और एक्टर्स थे.. उन्हे सीन समझाना स्टार्ट किया.. सीन यह था कि उनमे से एक तो शहर का बहुत बड़ा क्रिमिनल होता है और एक उसका दोस्त कोई नेता. वो मुझे बार में डांस करता देख मेरे पास आते हैं मुझे छूते हैं और फिर में अगले सीन में उन दोनों के साथ उनके बेड पर हूँ और यह एक बेहद सेक्सी बेड सीन है और डाइरेक्टर ने हमसे कहा कि कस्टमर्स को बुलाने के लिए हमे ऐसा तड़का लगाना पड़ता है और प्रोड्यूसर्स को पैसा खर्च करने के लिए और मानने के लिए. फिर ड्रेसमेन मेरे पास आया और मुझे ड्रेस चेंज करने को बोला.. में चेंजिंग रूम में गई तो वो भी मेरे साथ आया.. वहाँ पर बहुत सारी ड्रेस थे और उसने मुझे एक बहुत ही छोटा सा गोल्डन कलर ड्रेस दिया.. जो मेरे बूब्स से शुरू होकर बस मेरी पेंटी तक था.

मुझे बड़ा ही अजीब लगा.. क्योंकि मेरी ब्रा की डोरी बड़ी अजीब सी लग रही थी.. क्योंकि वो एक बिना बाँह की ड्रेस थी. फिर जब में बहुत देर बाहर नहीं निकली तो ड्रेसमेन अंदर आया.. में बहुत शरमा रही थी और मैंने उसे अपनी समस्या बताई. फिर उसने बोला कि इस ड्रेस में ब्रा नहीं पहनी जाती और मुझे ब्रा उतारने को बोला.. जब में पूरी ड्रेस उतारने लगी.. तो वो मेरे पीछे आकर मुझे रोकते हुए बोला कि यह 12000 की ड्रेस है.. लड़की ऐसे बार बार उतारेगी तो खराब हो जाएगी और यह बात कहते हुए उनसे मेरी ड्रेस मेरे बूब्स से पकड़कर नीचे कर दी और वो ड्रेस मेरे पेट तक अटक गई. फिर में शरम से पानी पानी हो गई और फिर उसने कहा कि हाँ अब जल्दी से ब्रा उतारो. तो मुझे लगा कि वो बाहर जाएगा.. लेकिन वो वहीं पर खड़ा रहा और मुझे डर लग रहा था कि वो फिर से ना डांटे इसलिए में पीछे की तरफ घूमी और ब्रा खोलने को लगी.. उसने एकदम से आगे की तरफ हाथ बढ़ाया और मेरी ब्रा के हुक खोल दिए.

फिर मैंने ब्रा उतारी और वो ड्रेस ठीक करने लगा. फिर जब में पीछे की तरफ घूमी तो वो हंसने लगा और कहा कि किस गावं से आई हो.. पता नहीं डाइरेक्टर ने इसे क्या सोचकर रोल दे दिया? एक मॉडर्न ड्रेस पहननी ही नहीं आती और यह एक मॉडर्न लड़की का रोल क्या करेगी?

तो उसकी यह बात मुझे बहुत बुरी लगी और मेरी आँखें भर आई.. लेकिन मैंने खुद को संभाला और सोचा कि जैसे यह कहता है वैसा ही करती हूँ वो मेरे पास आया और ड्रेस को मेरे बूब्स पर से नीचे करने लगा और वो चाहता था कि मेरे आधे बूब्स बाहर दिखे.. लेकिन वो ड्रेस बहुत टाईट थी और नीचे नहीं हो रही थी और अब उसने जो मेरे साथ किया वो मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था. उसने मेरी ड्रेस में मेरे बूब्स के बीच में से हाथ अंदर डाला और एक एक करके दोनों बूब्स को आधा आधा बाहर खींच दिया.

दोस्तों यह पहली बार था जब किसी आदमी के हाथ मेरे नंगे बूब्स पर पड़े हो और में तो ऐसी हो गई जैसे मानों किसी ने मुझे बेहोश कर दिया हो और उसके हिलाने पर भी में होश में नहीं आई और मेरी आँखें भर आई.. उसने देखा और बड़ी चालाकी से मुझे चुप करवाता हुआ बोला देखो कि तुम मेरी बेटी जैसी हो और में चाहता हूँ कि तुम एक बहुत बड़ी हिरोईन बनो.. में नहीं चाहता कि कोई ड्रेस तुम पर खराब लगे इसलिए मैंने यह सब किया.

फिर यह कहते हुए वो मेरे काम की तारीफ करने लगा और में बहुत खुश हो गई और उसने फिर से मेरे बूब्स के साथ थोड़ा खिलवाड़ किया.. लेकिन अब मैंने सोचा कि यह सब बातें फ़िल्मी दुनियां में नॉर्मल बात है और जब में बाहर आई तो डाइरेक्टर बहुत गुस्से में थे कि तुम इतना टाईम लगाती हो.

तो मैंने सॉरी बोला और वो मान गये.. मेरे पापा भी मुझे देखकर बहुत हैरान थे कि उनकी मासूम सी बेटी इतनी हॉट भी दिख सकती है? डाइरेक्टर ने मेकअप मेन को इशारा किया तो वो अपना किट लेकर आया और मेरा मेकअप करने लगा. उसने थोड़ा पाऊडर मुझे लगाया, लिपस्टिक लगाई और फिर कुछ चमक जैसा मेरी छाती पर भी लगाया.. जिससे उनमे एक अलग सी चमक आ गई और अब शॉट का टाईम था और सीन हमे पता ही था. एक बार का शॉट तैयार था और मुझे वहाँ पर एक खंबे के सहारे डांस करना था.. वैसे में बचपन से डांस में बहुत अच्छी थी और मैंने डांस का शॉट किया. फिर एक एक्टर एंट्री लेता है उनके एक हाथ में विस्की का ग्लास होता है और दूसरे से वो मेरी कमर पकड़ लेता हैं और में डांस करती रहती हूँ. फिर वो ग्लास मेरे होंठ से लगाता है और में एक घूँट पी लेती हूँ.. वो शायद सच की शराब थी.. खैर में डांस करती रहती हूँ और अब वो एक हाथ मेरी जांघ पर घुमाना स्टार्ट करता है और दूसरा एक्टर एंट्री लेता है और वो भी ऐसे ही करने लगता है. तो थोड़ी ही देर में डाइरेक्टर कट बोलता हैं और गाली देते हुए कहता हैं.. अबे सालों यह तुम्हारी बहन नहीं है जो बहन की तरह छू रहे हो.. यह एक रंडी है और तुम दोनों रंडीबाज और अब इसके साथ एक रंडी की तरह व्यहवार करो.

दोस्तों डाइरेक्टर का मेरे लिए रंडी शब्द कहना मुझे बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगा.. लेकिन फिर वो कहते है कि यह एक नई लड़की कितना अच्छा डांस कर रही है लगता नहीं कि यह नई लड़की है सीखो कुछ इससे और में अपनी तारीफ सुनकर सब भूल गई और सीन फिर से स्टार्ट होता है.. लेकिन इस बार मुझे खंबे को पकड़कर अपना एक पैर थोड़ा उठाना होता है और में जैसे ही ऐसा करती हूँ मेरी सफेद कलर की पेंटी केमरे में आ जाती है और सीन डाइरेक्टर कट कर देते है. अरे यार तुम लोगों को कुछ समझ में आता भी है या नहीं? इतनी सेक्सी ड्रेस की माँ बहन कर दी.. डाइरेक्टर बहुत गुस्से में मुझे पेंटी बदलने को कहता हैं.. लेकिन में अपने साथ और पेंटी नहीं लाई थी जिस पर ड्रेस मेन मुझे चेंज रूम में ले जाता है और कुछ पेंटी देता है.. लेकिन वो सारी पेंटी या तो बहुत बड़ी थी या फिर छोटी थी और जो मेरे साईज़ की थी उनका कलर खराब था.

अब में बहुत उदास हो चुकी थी.. ड्रेसमेन कहता है कि तुम्हे पेंटी लेकर आनी चाहिए थी और अब या तो डाइरेक्टर की गाली सुनो या फिर पेंटी मत पहनो. तो मैंने उनसे पूछा कि बिना पेंटी कैसे होगा? तो वो कहते है कि वैसे भी कुछ दिखेगा तो है नहीं वो तो बस ढाका ही रहेगा और में उनकी कही बात के बारे में सोच विचार ही कर रही थी कि इतने में डाइरेक्टर अंदर आते है और ड्रेसमेन उन्हे सारी बात बताते हैं और वो मुझे बिना पेंटी के स्टार्ट करने को बोलते हैं. अब मेरे पास कोई और रास्ता भी नहीं था तो में बाहर आकर सीन स्टार्ट करती हूँ.

अब में बस एक छोटी सी ड्रेस में थी जो मेरे आधे बूब्स दिखा रही थी और अगर में झुकती तो मेरी चूत और गांड भी लोगो को साफ दिख जाती और फिर सीन स्टार्ट होने से पहले पापा ऑफिस के लिए निकल गये. मैंने उनसे आते हुए कुछ पेंटी लाने को बोल दिया था और यह कहते हुए साईज, डिज़ाइन के लिए अपनी पुरानी पेंटी उन्हें दे दी. तो सीन स्टार्ट हुआ और मैंने डांस स्टार्ट किया वो दोनों मेरे पास आते हैं और एक मेरी कमर पकड़ कर नाचने लगता है और दूसरा जांघ को छेड़ने लगता है. तो पीछे से डाइरेक्टर कहता है कि रंडी के गालों पर किस करो, इसके होंठ चूसो, इसके बूब्स दबाओ, जांघ को ऊपर तक सहलाओ.

फिर वो एक्टर्स ऐसा ही करते हुए मेरे होंठो को चूसने लगते है और मेरे बूब्स और जांघ को दबाने लगते है. में ना चाहते हुए भी यह सब होने देती हूँ. तो डाइरेक्टर कट बोलता है और मुझे फिर से डांट देता है.. देखो लड़की तुम एक रंडी जैसा रोल कर रही हो.. ज़्यादा सती सावित्री मत बनो.. उसको किस करने में सहयोग क्यों नहीं देती? तुम्हारे चेहरे से खुशी दिखनी चाहिए.. तो में हाँ में सर हिला देती हूँ और सीन फिर से शुरू होता है.. लेकिन इस बार वो मेरे बूब्स से खेलते हुए मुझे किस करते है और में भी उनके होंठ चूसती हूँ और उनका सहयोग देती हूँ. तो डाइरेक्टर बहुत खुश होते हैं और सीन कट होता है और सभी मेरी बहुत तारीफ करते है जिससे में भी खुश हो जाती हूँ. हमें थोड़ा रेस्ट मिलता है और मेकअप मेन मेरे पास आकर अपना काम स्टार्ट कर देता है.. वो दोनों एक्टर्स सिगरेट पीने लगते हैं और डाइरेक्टर अपने असिस्टेंट्स और कैमरा मेन के साथ सीन देखने लगते है. मेकअप मेन भी मेरी बहुत तारीफ करता है और मेरे होंठो की लिपस्टिक जो कि किस करने से थोड़ी खराब हो गई थी उसे ठीक करता है, मेरे बूब्स पर चमक लगता है और मेरा पसीना साफ करता है. वो मेरी जांघ पर भी थोड़ी मसाज भी करता है और में भी उसे धन्यवाद कह देती हूँ.

फिर उसके जाने के बाद डाइरेक्टर आकर हमे अगला सीन बताते है कि यह एक बेड सीन है और इसमे वो दोनों मेरे साथ प्यार करेंगे और इस सीन को हमे बहुत ज्यादा हॉट बनाना है. में इस सीन में ब्रा, पेंटी और ऊपर से एक जालीदार शर्ट में रहूंगी. फिर वो मेरे पास आएँगे मेरी शर्ट फाड़ देंगे और फिर मुझसे प्यार करेंगे.. बाद में वो मेरी ब्रा और पेंटी उतारकर कमरे की और फेंकेंगे और हम चादर में चले जाएँगे. तो में ड्रेस चेंज करने चेंजिंग रूम में चली गई और ड्रेसमेन मेरे पीछे आता है और वो मुझे एक जालीदार टाईप की बहुत ही बारीक कपड़े की सफेद कलर की पेंटी देता है और ऐसी ही मॅचिंग ब्रा और उसके ऊपर एक जालीदार गुलाबी कलर की शर्ट जैसे कि दुपट्टा.. मुझे बहुत शरम आ रही थी.. लेकिन अब पीछे हटना बहुत मुश्किल था. फिर में बाहर आई और सीन स्टार्ट हो गया. वो सभी लोग मुझे देखकर एकदम पागल से हो गए.. वो दोनों एक्टर्स सिर्फ़ अंडरवियर में थे और उनके अंडरवियर में टेंट बने हुए थे.

फिर सीन स्टार्ट होता है और वो मुझे लेकर बेड पर जाते है. कैमरा हमारे पीछे चलता है पता नहीं कैसे.. लेकिन कैमरा मेन यह देख लेता है कि पेंटी से मेरी कुछ झाँटे दिख रही थी क्योंकि मैंने बहुत दिनों से झाँटे नहीं काटी थी और इस वजह से वहाँ थोड़े बाल थे.. जो कि इस बारीक पेंटी से दिख रहे थे. तो डाइरेक्टर सीन रोक देता हैं और कहता हैं तुम आज के ज़माने की लड़की हो और तुम अपनी झाँटे भी नहीं काटती.. तुम कैसी लड़की हो? तुम्हे साफ सफाई का तो ध्यान देना चाहिए. जाओ और अपनी झाँटे कटवाओ यह कहते हुए वो मेकअप मेन की और इशारा कर देता हैं और में बिना कुछ सोचे समझे मेकअप मेन के आगे रखे स्टूल पर बैठ जाती हूँ.. फिर वो मुझे बेड पर चलने के लिए कहता है और मुझे बेड पर ले जाकर लेटा देता है और में ना जाने उस समय किस दुनिया में खोई थी.. बस में एक रोबोट जैसे उनके कहने पर चल रही थी. वो मेरी पेंटी को उतारने के लिए हाथ आगे बड़ाता है तो में खुद भी अपने कुल्हे उठा लेती हूँ ताकि पेंटी बाहर निकल सके और इस पूरी प्रक्रिया के दौरान सभी मौजूद आदमी बेड के चारों तरफ खड़े हो जाते है और वो मेरी झांटे काटना स्टार्ट करता है.

तो वो पहले बालों को कैंची से काटता है फिर थोड़ा क्रीम लगाकर शेव कर देता है में सभी लोगों के सामने नंगी पड़ी रहती हूँ. तभी मेरी नज़र डाइरेक्टर पर जाती है तो मुझे बिल्कुल भी यकीन नहीं होता कि यह 60 साल का बूढ़ा आदमी मेरी पेंटी को सूंघ रहा है और मुझे देखकर अपना लंड सहला रहा है और वहाँ पर मौजूद सारे लोग मुझे देखकर अपने लंड सहला रहे थे और कैमरा मेन मेरी रिकॉर्डिंग करने में व्यस्त था और अब साफ था कि मेरी नंगी वीडियो भी रिकॉर्ड हो चुकी है.

खैर अब मुझे कुछ फ़र्क नहीं पड़ रहा था और झाँटे काटने के बाद डाइरेक्टर ने मुझे मेरी पेंटी दी और मैंने उसे पहन लिया वो जहाँ मेरी चूत होती है वहाँ से बहुत गीली थी शायद वो डाइरेक्टर के थूक से गीली हो गई थी. तो मैंने देखा कि पापा भी सामने बैठे हुए हैं और शायद वो भी यह सब देख रहे थे.. तब मुझे थोड़ा विश्वास मिला कि चलो अब कुछ ग़लत नहीं हो रहा.. क्योंकि पापा तो यहीं है. फिर सीन स्टार्ट होता है और एक्टर मुझे किस करते हुए बेड तक ले जाते हैं मेरी शर्ट उतारते हैं और फिर दोनों मुझ पर टूट पड़ते है.

एक मेरे होंठ चूसने लगता है और दूसरा मेरी नाभि को चूसने लगता है. मुझे भी अब थोड़ा थोड़ा जोश आने लगा था और में भी उनका साथ दे रही थी और में भी किस कर रही थी और उनके बालों में हाथ घुमा रही थी.. फिर एक मेरी ब्रा के अंदर हाथ डाल देता है और मेरे बूब्स दबाने लगता है. में थोड़ा हिचकिचाती हूँ.. लेकिन डाइरेक्टर बहुत अच्छा अनामिका करने लगता है. तो में नॉर्मल हो जाती हूँ और अब वो मेरे निप्पल से खेलने लगता है और पता नहीं कब मेरी ब्रा मेरे बूब्स पर से हट जाती है और दूसरा एक्टर मेरी पेंटी में हाथ डाल देता है और मेरी कुँवारी चूत के होंठो को छेड़ता है.. जिससे मेरे मुहं से सिसकियाँ निकलने लगती है और वो सभी लोग बहुत अच्छा बहुत अच्छा करते हैं. तो मुझे लगता है मेरी एक्टिंग की तारीफ हो रही है और में जो भी मेरे साथ हो रहा है वो होने देती हूँ और अब मेरी चूत में एक उंगली उतर जाती है और मेरी चूत और मेरे बूब्स पर हो रहे अटैक की वजह से मेरी चूत भी बहुत गीली हो जाती है.

एक असिस्टेंट डाइरेक्टर आकर मेरा हाथ एक एक्टर के खड़े लंड पर रख देता है और ऊपर नीचे करने का इशारा कर देता है. तो में उसकी अंडरवियर के ऊपर से ही उसके लंड को ऊपर नीचे करने लगी और अब आलम यह था कि मेरी ब्रा और मेरी पेंटी का मेरे शरीर पर कहीं भी निशान नहीं था और मेरी चूत में अब दो उंगलियाँ थी जो कि किसी मशीन की तरह अंदर बाहर हो रही थी. मेरे निप्पल दूसरे एक्टर के मुहं में थे और मेरे मुहं में उनकी उंगलियाँ जिन्हे में चूस रही थी.

तो में पूरे जोश में थी और में भी मेरी चूत में जाती हुई उंगलियों के साथ बेड पर ऊपर नीचे हो रही थी और शायद में झड़ने ही वाली थी कि डाइरेक्टर ने कट बोल दिया और दोनों एक्टर मेरे ऊपर से हट गए.. में तो जैसे तड़प कर रह गई और में वैसी ही नंगी लेटी रही और अपनी चूत में उंगलियाँ करने लगी. फिर मेकअप मेन मेरे पास आ चुका था.. उससे पूरा मेकअप करने के बाद मेरी चूत पर एक क्रीम लगाई.. जिसने मेरी चूत को अंदर तक एकदम चिकना कर दिया और फिर जब सीन स्टार्ट हुआ तो मेरे ऊपर जो एक्टर आया उसने अपनी चड्डी उतार दी और वो अपना लंबा झूलता हुआ लंड मेरे चेहरे के सामने ले आया और मैंने बिना देर किए उसे अपने होंठो से लगा लिया और चूसना शुरू कर दिया.

दूसरे एक्टर ने भी देर नहीं की और मेरी चूत चाटने लगा.. कुछ देर मेरी चूत चाटने के बाद उसने अपना लंड मेरी चूत पर लगाया और एक ज़ोरदार धक्का मारा. तो में चीख उठी तभी किसी ने आकर मेरा हाथ थामा और उसे मसलने लगा.. ताकि मुझे आराम मिले. फिर थोड़ी देर रुकने के बाद उस एक्टर ने दूसरा धक्का मारा और उसका पूरा लंड मेरी चूत में था.. उसके लंड पर मेरी चूत का बहुत खून लगा हुआ था जिसे उसने बाहर कैमरे पर दिखाया और फिर मेरी चूत में अपना लंड डालकर मेरी चुदाई स्टार्ट कर दी.

फिर लगभग 10 मिनट उसने मुझे चोदा तो मेरी चूत में एक गरम लावा फूटा जो कि उसका वीर्य था.. वो बहुत देर तक मेरी चूत में झड़ता रहा.. उसके गरम वीर्य ने मेरी घायल चूत की सिकाई भी की और मुझे कुछ आराम मिला. तो जब वो मेरे ऊपर से हटा तो कैमरा मेन ने मेरी चूत पर फोकस किया और मेरी चूत से निकलता हुये वीर्य को शूट किया. फिर दूसरे एक्टर ने मेरे मुहं से अपना लंड बाहर निकाला और मेरी चूत पर रखकर अंदर कर दिया. इस बार मुझे उतना दर्द नहीं हुआ जितना पहली बार हुआ था और जब मैंने आँखें खोली तो देखा कि मेरे हाथ को और कोई नहीं मेरे पापा मसल रहे थे और अब जो हुआ वो में सोच भी नहीं सकती थी.. मेरे पापा उठे और उन्होंने अपना लंड मेरे मुहं में दे दिया और में उसे चूसने लगी.

अपने पापा के लंड को चूसना मुझे बहुत अजीब तो लगा.. लेकिन मज़ा भी आया और अब में चुदाई का भी मज़ा ले रही थी और उसके झड़ने के बाद मुझे मेरे पापा ने चोदा और एक के बाद एक मुझे वहाँ मौजूद सब लोगों चोदा और कैमरे में रिकॉर्डिंग भी हुई. उन सभी के बाद मुझे प्रोड्यूसर ने एक बार चोदा जिसकी रिकॉर्डिंग नहीं हुई थी.. लेकिन उसने मेरी गांड मारी उसके साथ डाइरेक्टर मेरी चूत मार रहा था और इसमे मुझे बहुत मज़ा आया.

दोस्तों उस दिन में रात भर चुदती रही और अगले दिन पापा मुझे लेकर घर पर आए और मम्मी को हमने देर रात के शूट का बहाना बना दिया था और उसके बाद मैंने और पापा ने सोचा कि अब कभी भी वहाँ पर नहीं जाएँगे.. लेकिन उन लोगों ने मेरी वीडियो का हवाला देकर मेरी और भी कई वीडियो बनाई और अब जब मेरे जिस्म की डिमांड नहीं रही थी तो उन्होंने मेरी वीडियो बनाना बंद कर दिया.. लेकिन अब वो मुझे कॉल गर्ल की तरह काम में लेने लगे है और जब कभी उन लोगों को कहीं किसी से कोई भी काम निकलवाना होता है तो वो मुझे वहाँ पर भेज देते है और में वहाँ पर जाकर प्रोड्यूसर्स या ऑफिसर्स या फिर पुलिस वालों को खुश करती हूँ और वो लोग मुझे इन सबके लिए पैसे भी देते हैं.

पापा ने जब मुझे चोदा तो उन्हे भी जैसे मेरी जवान चूत का चस्का लग गया था और शायद अब मेरी ढीली चूत उन्‍हे भी पसंद नहीं.. इसलिए पिछले दो महीने से वो भी मुझे नहीं चोदते. अब वो नई चूत वाली कॉल गर्ल्स को चोदते हैं. दोस्तों में उम्मीद करती हूँ कि आप लोगों को मेरी आप बीती बहुत पसंद आई होगी.

Updated: September 7, 2015 — 4:23 am
Best Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone


sarita ki chutchudai ki kahani bestchut ki chudai newhot chudai ki khaniyachoti ladki sexgaand ki thukaiapni maa ko choda storysali sex with jijachudai story and photochoot ka mazachudai kya hchudai ki papa nechoot ka mazachudai ki kahani indianland se chodnagirlfriend ko choda storysachchi kahaniyabhai ne hotel me chodabedroom chudaimummy ko choda hindi kahanichoot raniladki ki chudai hindipariwarik chudai storybhabhi ki jabardasti chudai videolatest gay storieshindi maa ki chudai storysexi stiryrandi ki chut ki photochut land hindi mesavita bhabhi ki chudai ki kahani hindipapa ne meri chootschool teacher chudaibua sexchodne wali kahanididi ki chudai new storybest chudai hindididi ki chudaemadhosh bhabhisexy story in hindi auntychudai familysexy story marathi hindidesi kahani hindichut marne ki storyhindi sexy hindi sexhindi mein sexynew latest hindi sex storyapni maa ko kaise chodudidi ko patayahot real story in hindimastram sex kahanichodai ki mast kahaniammi ki chutnew anty sexmeri chut sex storyantrvasna hindi khanisexy hindi story chudairasili bhabhisex story antarvasnaindian chudai kahaninokrani ko chodabhabhi ki chudai hot storymere ghar ki randiyahindi xxx storewww hindi sexy story combhabhi ke sath chudai storychut fad chudaihindi sexiestindian eex storieschoot didi kibade boobsbhatiji ki chutchachi ki chut storybollywood actress rekha ki chudaibua ki ladki ki chudai hindinew chut landbhai behan ki chudai kahani hindipehli chudai ki story2014 ki sex kahanibhabhi ko choda hot storyanimal sex story hindirukhsana ki chudaisexy mom ki chudaisachi desi kahanistory of sex hindi