Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

लंड लेने को बेताब थी


Click to Download this video!

Antarvasna, kamukta मेरे परिवार में चार सदस्य हैं मेरा बड़ा लड़का बैंक में जॉब करता है और मेरी पत्नी घर का काम संभालती है मुझे भी रिटायर हुए अभी कुछ समय ही हुआ है। एक दिन मैं घर पर ही बैठा हुआ था उस दिन मेरे एक रिश्तेदार मेरे पास आए और वह मुझसे पूछने लगे आप क्या कर रहे हैं मैंने उन्हें कहा बस घर पर ही समय बिताता हूं और शाम के वक्त पार्क में घूमने के लिए चला जाता हूं। वह मुझे कहने लगे आगे आपने क्या सोचा है मैंने उन्हें कहा मैंने तो अभी ऐसा कुछ नहीं सोचा है लेकिन मैं सोच रहा था कि यदि कावेरी की शादी हो जाती तो फिलहाल मेरे कंधों से कावेरी की जिम्मेदारी कम हो जाती परंतु अभी तक ऐसा कोई रिश्ता हमें मिला नहीं है जिससे कि हम लोग कावेरी की शादी की बात को आगे बढ़ा पाए।

वह मुझे कहने लगे अरे भाई साहब आप चिंता क्यों करते हैं हम लोग किस दिन आपके काम आएंगे मैंने मैंने कहा लेकिन आजकल अच्छे लड़के मिल पाना भी तो मुश्किल है वह कहने लगे कोई मुश्किल वाली बात नहीं है मेरी नजर में हमारे पड़ोस में रहने वाला एक परिवार है वह लोग बड़े ही सज्जन हैं मैं उन्हें काफी वर्षो से जानता हूं यदि आप कहें तो मैं कावेरी के रिश्ते की बात उन लोगों से करुं। मैंने उन्हें कहा यदि आप कह रहे हैं तो वह लोग अच्छे ही होंगे परंतु एक बार मैं भी उनसे मिलना चाहता हूं वह कहने लगे मैं फिलहाल उनसे कावेरी के रिश्ते की बात करता हूं उसके बाद मैं आपको फोन कर के सूचित करता हूं कि आपको कब आना है मैंने उन्हें कहा ठीक है आप मुझे बता दीजिएगा। जब उन्होंने मुझे यह बात कही तो मैं खुश था क्योंकि मैं जल्द से जल्द कावेरी की शादी करवाना चाहता था मैं चाहता था कि कावेरी की शादी अच्छे घर में हो सके कावेरी को मैंने बचपन से बहुत नाज और प्यार से पाला है उसे मैंने कभी भी कोई कमी नहीं होने दी उसने जब भी मुझसे कोई चीज मांगी तो मैंने हमेशा ही उसे वह चीज लाकर दी मेरी पत्नी हमेशा मुझे कहती कि तुम कावेरी को कुछ ज्यादा ही प्यार करते हो। कावेरी मेरी लाडली बेटी है इसलिए मैं उससे बहुत ज्यादा प्यार करता हूं, कुछ ही दिनों बाद मुझे मेरे उन्ही रिश्तेदार का फोन आया जिन्होंने कावेरी के रिश्ते की बात की थी वह कहने लगे भाई साहब आपको मैं उन लोगों से मिलवा देता हूं।

मैं उन लोगों से मिला तो मुझे उन लोगों से मिलकर अच्छा लगा मैंने उन्हें अपने बारे में सब कुछ बता दिया था और मैंने यह भी बता दिया था कि कावेरी ने अपनी पढ़ाई के बाद अपनी जॉब भी की थी लेकिन अब वह कुछ समय से घर पर ही है मुझे तो वह रिश्ता बहुत अच्छा लगा लड़का भी इंजीनियर है मैं बहुत खुश था क्योंकि मुझे उम्मीद नहीं थी कि इतना अच्छा परिवार हमारी लड़की को अपना लेगा। मैं जब लड़के से मिला तो लड़के से मिलकर भी मैं खुश था लड़के का नाम संतोष है सब कुछ बहुत ही अच्छे से चल रहा था और कावेरी की सगाई भी संतोष के साथ हो गई हम लोग बहुत खुश थे और शादियों की तैयारी हम लोग करने लगे जब हम लोग शादी की तैयारी करने लगे तो मैंने शादी की तैयारियों में कोई भी कमी नहीं रखी क्योंकि मैं नहीं चाहता था की शादी में कोई भी कमी रह जाए इसलिए मैंने बड़े अच्छे ढंग से शादी का अरेंजमेंट करवाया मुझसे जितना बन सकता था उतना मैंने किया। संतोष और कावेरी की शादी हो चुकी थी कावेरी बहुत ही खुश थी कावेरी से जब भी मैं फोन पर बात करता या वह घर आती तो हमेशा उसके चेहरे पर एक अलग ही मुस्कान होती। मैं इस बात से बहुत खुश था कि कावेरी का रिश्ता हमने एक अच्छे घर में करवाया और वह लोग कावेरी को अपनी बेटी की तरह समझते हैं लेकिन कुछ समय बाद ना जाने किसकी नजर संतोष और कावेरी के रिश्ते को लगी उन दोनों के बीच बहुत झगड़े होने लगे जिससे परेशान होकर कावेरी ने एक दिन मुझे फोन किया और कहा पापा संतोष मुझे बहुत ज्यादा परेशान करते हैं मैंने उसे समझाया और कहा बेटा झगड़े तो आपस में होते रहते हैं लेकिन तुम दोनों को एक दूसरे से बात करनी चाहिए कावेरी ने मुझे कहा मैंने काफी बात की लेकिन संतोष मेरी बात को समझने को तैयार ही नहीं है ना जाने वह किस बात का गुस्सा मुझ पर निकालते हैं। मैं अंदर ही अंदर से बहुत दुखी था लेकिन फिर भी अपनी बेटी को मैं हिम्मत दे रहा था कावेरी अब हमेशा मुझे और अपनी मां को फोन किया करती जिससे कि हम दोनों ही टेंशन में हो जाते लेकिन फिर भी हम लोग कावेरी को हिम्मत देते हुए कहते कि नहीं बेटा तुम अपना ध्यान रखो और ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है।

एक दिन कावेरी अपना सामान लेकर घर पर आ गई जब वह अपना सामान लेकर घर आई तो मैं समझ गया कि अब उसने संतोष से अपना रिश्ता तोड़ लिया है मैंने उसे कुछ भी नहीं पूछा और मैं संतोष से मिलने उसके घर पर चला गया उसके परिवार के सब लोग घर पर ही बैठे हुए थे मैंने उनसे कहा आप लोगों ने कावेरी के साथ बहुत गलत किया है वह कहने लगे इसमें कावेरी की गलती है। उन्होंने सारा दोष कावेरी पर लगाया परन्तु मैंने यह बात कबूल ही नहीं कि मैंने कभी भी कावेरी को ऐसे संस्कार नहीं दिए जिससे कि वह किसी के साथ ऊंची आवाज में बात करें या किसी से कोई गलत बात करे इसमें संतोष के परिवार की ही पूरी गलती थी इसलिए मैंने उनसे कोई बात नहीं किया और चुपचाप घर चला आया इस बात को एक महीना हो चुका था एक महीने तक कावेरी घर पर ही थी। जब भी मैं कावेरी के चेहरे को देखता तो मुझे बड़ा बुरा लगता लेकिन मेरे पास अब और कोई रास्ता नहीं था मैं चुपचाप सब कुछ बर्दाश्त करता जा रहा था और मेरे रिश्तेदार भी मुझे ताने मारने लगे थे वह लोग कावेरी को बहुत बुरा भला कहते जबकि कावेरी की कोई भी गलती नहीं थी लेकिन सारा दोष सब कावेरी के सर पर ही मारते।

मैं इस बात से बहुत ज्यादा दुखी हो गया था फिर भी मैंने कावेरी को हिम्मत दी और उसे कहा जरूर तुम्हारे साथ कुछ अच्छा होगा समय बीतता चला गया लेकिन संतोष कावेरी को लेने कभी घर पर ही नहीं आया और ना ही उसने कभी हमें फोन किया, कावेरी अपने सदमे से उभरने लगी थी और वह स्कूल में पढ़ाने लगी जिस स्कूल में वह पढ़ाती थी उसी स्कूल में एक लड़का है जिसका नाम संजय है संजय से जब कावेरी की मुलाकात हुई तो संजय और कावेरी के बीच में शायद बहुत अच्छी दोस्ती हो गई जिससे कि कावेरी संजय के साथ शादी करना चाहती थी। कावेरी ने मुझे जब इस बारे में बताया तो मैंने कावेरी से कहा देखो कावेरी तुम सोच समझ कर कोई फैसला लेना मैंने आज तक तुम्हें कभी भी किसी चीज के लिए मना नहीं किया है लेकिन तुम्हें हर चीज सोच समझकर करनी चाहिए। कावेरी ने कहा पापा आप एक बार संजय से मिल लीजिए मैं जब संजय से मिला तो संजय बड़ा ही सिंपल और सामान्य सा लड़का है। मैंने संजय से कहा क्या तुम्हें कावेरी के बारे में सब कुछ पता है वह कहने लगा जी सर मुझे कावेरी ने सब कुछ बता दिया था मुझे उसके पुराने रिश्ते से कोई भी आपत्ति नहीं है मैं कावेरी को अपनाना चाहता हूं और मैं उससे शादी करना चाहता हूं। मुझे भी लगा कि संजय कावेरी को खुश रखेगा और इसी के चलते मैंने संजय से कहा तुम अपने माता पिता से मुझे मिलवाना। उसने कुछ ही दिनों बाद मुझे अपने माता पिता से मिलवाया वह लोग बड़े ही सामान्य और सिंपल लोग हैं सब कुछ ठीक हो चुका था संजय और कावेरी ने शादी भी कर ली मैं बहुत खुश था क्योंकि कावेरी ने दोबारा से अपनी जिंदगी की शुरुआत कर ली थी। वह संजय के साथ बहुत खुश थी और मैं भी बहुत खुश था।

जब भी मै संजय की भाभी से मिलता तो उसकी प्यासी नजरें जैसे मुझे देख रही होती थी। उसकी भाभी का नाम सविता है सविता की प्यासी नजरें मुझे घूर रही होती थी मैं इस बुढ़ापे में भी अपने आपको उसे देखकर काबू नहीं कर पाता, मैं उसकी भाभी से फोन पर बात करने लगा था। सविता से मैं जब भी फोन पर बात करता तो हमेशा ही उससे अश्लील बातें किया करती। वह मुझे अपने पास आने के लिए कहती लेकिन मुझे इस बात का डर था कहीं यह बात संजय को मालूम चली गई तो वह मेरे बारे में क्या सोचेगा इसलिए मैं कभी भी सविता से मिलने नहीं गया परंतु एक दिन ऐसा संयोग बना कि मुझे कावेरी से मिलने के लिए जाना पड़ा। मैं कावेरी से मिलने के लिए चला गया, उस दिन मुझे वहीं रुकना पड़ा। जब मै कमरे में लेटा हुआ था तो सविता मेरे पास आई और कहने लगी आप तो आराम कर रहे हैं। वह मेरे बगल में आकर बैठ गई वह अपनी बडी सी गांड को मुझसे टकराने लगी और कहने लगी मै आपका कब से इंतजार कर रही थी। सविता ने मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर हिलाना शुरू किया तो मैं भी उत्तेजीत हो गया, मैं भी अपने आपको रोक ना सका उसने जब मेरे मोटे लंड को अपने मुंह में लेकर सकिंग किया तो मेरे लंड और भी ज्यादा कडक हो गया।

उसने कमरे का दरवाजा बंद किया और मेरे सामने नंगी हो गई उसकी चिकनी चूत देखकर मै अपने आपको ना रोक सका। मैंने उसे घोड़ी बनाकर चोदना शुरू कर दिया काफी समय बाद ऐसा हुआ था जब मै बड़े अच्छे से चूत मार पा रहा था क्योंकि मैंने काफी समय से सेक्स नहीं किया था। मैंने जब उसकी गांड मारी तो मुझे बहुत मजा आ रहा था वह अपनी चूतडो को मुझसे मिलाती जाती और कहती मुझे तो बड़ा मजा आ रहा है। यह कहते हुए मैं उसे बड़ी तेजी से धक्के देता लेकिन मैं ज्यादा देर तक उसकी  गांड की गर्मी को बर्दाश्त ना कर सका और मेरा वीर्य पतन हो गया लेकिन मुझे बड़ा अच्छा लगा और उसके बाद तो जैसे उसका जादू मेरे सर पर चढकर बोलने लगा था। मुझे भी सविता से मिलने मै खुश होत, कावेरी भी संजय के साथ बहुत खुश थी, संजय उसका बहुत ध्यान रखता है। वह दोनों एक दूसरे से बहुत प्यार करते हैं, मैं जब भी उन दोनों के चेहरे को देखता हूं तो मुझे सुकून मिलता है कि कम से कम कावेरी की जिंदगी पहले से बेहतर हो चुकी है।

Best Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone


maa beta beti ki chudaibur or chutnaukar se chodaimami ki chudai sex videohomosex storiesmaa beta sexy storybhabi sex bhabi sexstory of chutporn story comchudai stories picschoot me lund ki photosbhabhi bra pantyladki aur ladkidevar ki kahanibhojpuri chudai storymastaram hindi sex storyxxx sax hindehindi sexs storiesgandu ki gand maridesi aunty kahanisex gf and bfbhabi ko choda jabardastisexi story comchote bache ke sathchudai ki katha in hindihansika sex storieschut chudai story comsaxi khaniyabhabhi ki chudai hindi sexy storydesi porn sex storiesantarvasna hindi sexy kahaniyadesi randi chutchut kaise maresaxy gemasmaa ki badi chuchisex on desimama ki wife ki chudaisex story hindi photochudai ki kahani apni zubanibus me aunty ki chudaichudai photo ke sathindian group storiesgand fad dikuwari ladki ki chut ka photobiwi chudai videosexy story language hindichachi ko choda kahanibhai behan ki chudai kahani hindi mebhai ne chodalund chut burdesi ladkiyabehan ki chudai kahanimummy ki chodai ki kahanimumbai sex antymalish sexsexi kahani hindi mehospital me chudailadki ko chodne ke liyesex chudiboyfriend chudaicall girl ko chodabhosde ki chudaibubs sexchut bur chudailatest story of chudaidesi marwadi bhabhiladki ki seal todigay sex kathasex girl chudaipadosi bhabhi ko chodarangeen chudaiantarvasna bhabhi ko chodamami ki chudai hindi sex storyreal bus sexmeri biwi ki chudaimarathi gay kathahindi sexy torybhani ki chudaichachi ki phudi maribehan ki chut imagebade boobs wali ko chodaindian sex kahani com