Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

एक जानीमानी समाज सेविका-2


Click to Download this video!

p>indian porn stories अब उसने एक बार फिर से मेरे लंड को पकड़कर कुछ देर हिलाने के बाद अपने मुहं में ले लिया और अब वो लोलीपोप की तरह मेरा लंड चूसने लगी, जिसकी वजह से मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था। दोस्तों कभी वो मेरे लंड के टोपे को चूसती तो कभी अपनी जीभ से मेरे लंड को नीचे तक चाट रही थी, वो धीरे धीरे पूरा लंड अंदर लेती उसके बाद धीरे से बाहर निकालकर टोपे पर अपनी जीभ को घुमा रही थी। अब वो किसी अनुभवी छिनाल रंडी की तरह मुझे मज़ा दे रही थी और यह सब उसने करीब दस मिनट तक लगातार किया और आख़िर मुझसे रहा नहीं गया, क्योंकि में अब झड़ने वाला था। अब मैंने उसके मुहं में अपना ढेर सारा गरम वीर्य डाल दिया, जिसको उसने बहुत मज़े लेकर चाट लिया, वो पूरा अंदर गटक गई और उसने मेरे लंड को चमका दिया। फिर हम दोनों सोफे पर आकर बैठ गये। मेरा लंड फिर से सामान्य हो गया, मैंने देखा कि वो अब भी साड़ी पहने हुई थी और मैंने उसकी साड़ी में हाथ डालकर उसकी गोरी भरी हुई जाँघो को सहलाया। फिर में अपने हाथ को उसकी चूत पर ले गया और तब मैंने महसूस किया कि उसकी पेंटी बहुत गीली हो चुकी थी और वो इतनी गीली थी जैसे पानी से भीगी हो और अब मैंने उसकी पेंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को सहलाना शुरू कर दिया, जिसकी वजह से वो अब बिना पानी की मछली की तरह तड़पने लगी।

फिर मैंने उसकी पेंटी के अंदर अपना हाथ डाल दिया और तब मैंने छूकर महसूस किया कि उसकी चूत फूली हुई और गरम भट्टी की तरह सुलग रही थी। अब मैंने झट से उसकी चूत की दरार में अपनी उंगली को डालकर में चूत के दाने को मसलने लगा था, उस वजह से वो बड़ी बेकरार होने लगी और सिसकियाँ लेने लगी। अब मैंने उसको सोफे पर लेटाकर उसकी साड़ी और पेटिकोट को ऊपर सरका दिया और फिर मैंने देखा कि उसकी पेंटी चूत के अमृत से तरबतर थी, मैंने उसकी गीली पेंटी को पकड़ा और जांघो तक सरका दिया। अब उसने खुद उठकर अपनी पेंटी को अपने पैरों से बाहर निकाल दिया और वो दोबारा सोफे पर लेट गयी, उसके दोनों घुटने ऊपर उठे हुए थे और दोनों पैर फैले हुए थे, जिसकी वजह से मुझे उसकी साँवली गीली चूत अब बिल्कुल साफ साफ दिखाई दे रही थी और वो सब देखकर में एकदम पागल हो चुका था। अब मैंने अपनी एक उंगली को उसकी चूत में डाल दिया, तब मुझे लगा जैसे मैंने आग को छू लिया हो, क्योंकि उसकी चूत अब तक बहुत गरम हो चुकी थी। फिर मैंने धीरे धीरे अपनी उंगली को उसकी चूत में अंदर बाहर करना शुरू किया, जिसकी वजह से उसके मुहं से आहह उूफफ्फ़ आईईईई की आवाज़ निकल रही थी।

फिर कुछ देर के बाद मैंने अपनी दो उँगलियाँ उसकी कोमल चूत में डाली, उसकी चूत बहुत चिकनी गीली होने की वजह से मेरी दोनों उंगलियाँ बहुत आराम से फिसलती हुई अंदर बाहर हो रही थी। फिर करीब पचास बार मैंने अपनी उंगलियों से उसकी चूत की बहुत जमकर घिसाई कि और इधर मेरा लंड भी फूलकर तन गया था। अब में उठकर खड़ा हुआ और में उसको अपनी गोद में उठाकर बेडरूम में ले गया, उसको बेड पर सीधा लेटा दिया और वो अपनी दोनों आंखे बंद किए मेरे अगले कदम का इंतज़ार करने लगी और वो बहुत सेक्सी लग रही थी। अब मैंने बेडरूम में पहुंचकर जल्दी से अपनी शर्ट को उतारकर उसकी साड़ी और पेटिकोट दोनों को उतार दिया और अब हम दोनों बिल्कुल नंगे हो गए, वो करवट लेकर लेट गयी, जिसकी वजह से उसके कूल्हे साफ झलक रहे थे और उसके बीच से उसकी छुपी हुई चूत भी नजर आ रही थी। फिर मैंने उसकी गांड पर अपने एक हाथ से सहलाया वाह क्या मस्त गांड थी? मज़ा आ गया, उसकी बहुत गोलमटोल चिकनी गांड थी और में करीब पांच मिनट तक उसकी गांड को सहलाता रहा। फिर उसकी कमर को पकड़कर मैंने उसको सीधा लेटा दिया और जितना हो सका उतने उसके दोनों पैरों को फैला दिया और उसके बाद मैंने अपने एक हाथ से उसकी चूत की दरार को भी फैलाकर नीचे झुककर अब अपनी जीभ से उसकी चूत को चाटने लगा।

अब मेरे यह सब करने की वजह से उसके मुहं से अहह्ह्ह उूउउफफफ्फ़ की नशीली आवाज़े निकल रही थी, में अपनी जीभ से उसकी चूत के हर एक हिस्से को धीरे धीरे चाट रहा था और में उसके बीच बीच में चूत को अपनी जीभ से चोद भी रहा था, वो अब बिल्कुल पूरी तरह से गरम हो चुकी थी। अब उसको यह सब सहना बहुत मुश्किल हो रहा था और इसलिए वो मुझसे कहने लगी कि अब हट जाओ दीनू मेरी चूत बहुत गरम चुकी है, तुम अपना लंड जल्दी से मेरी गरमागरम चूत में डाल दो मेरे राजा, उउफ़फ्फ़ और अपने लंड से मेरी चूत की सारी गरमी और प्यास को बुझा दो, मेरे दीनू आज तुम इतना कस कसकर चोदो कि मेरे सारे अरमान निकल जाए प्लीज अब थोड़ा जल्दी करो। फिर जैसे ही मैंने उसकी चूत से अपना मुहं हटाया, उसने अपने पैर मोड़ लिए और में अब उसके उठे हुए पैरों के बीच बैठ गया। अब मैंने उसके पैर अपने हाथ से उठाकर अपना लंड उसकी चूत के मुहं पर रख दिया, जिसकी वजह से उसके शरीर में झुरझुरी मच गयी और लंड को चूत के मुहं में रखते ही चूत की चिकनाहट की वजह से अपने आप अंदर जाने लगा। अब मैंने कसकर एक धक्का मार दिया, जिसकी वजह से मेरा लंड पूरा का पूरा उसकी चूत में घुस गया, गरमागरम चूत के अंदर लंड की अजीब हालत थी और में वो अहसास किसी भी शब्दों में नहीं बता सकता।

अब में धीरे धीरे अपना लंड उसकी चूत के अंदर बाहर करने लगा और उसकी चूत के घर्षण से मेरा लंड फूलकर और भी मोटा हो गया। मेरे हर धक्के पर वो उउफफफ्फ़ आहहहह ऊऊहह की आवाज़े निकालने लगी। फिर करीब बीस मिनट तक में उसकी चूत में अपना लंड अंदर बाहर करता रहा। फिर मैंने अपनी स्पीड को बढ़ा दिया और अब में धनाधन अपने लंड को उसकी चूत में मूसल की तरह ठूँसता रहा। उसने मुझे कसकर अपनी बाहों में जकड़ लिया और में समझ गया कि वो अब झड़ रही है। अब वो करहा रही थी और बोल रही थी हाँ दीनू और ज़ोर से धक्का दो उफ्फ्फ्फ़ आह्ह्ह्हह्ह आज पूरे दो साल बाद मेरी चूत की खुजली मिटी है आईई वाह मज़ा आ गया तुम वाकई में बड़े पक्के चुदक्कड़ हो, हाँ चोदो मुझे ज़ोर ज़ोर से और ज़ोर से धक्के देकर चोदो। अब में उनके कहने पर पूरे जोश में आकर लगातार धक्के देने लगा था और अब मेरा लंड उनकी गीली चूत होने की वजह से फच पच की आवाज़ के साथ अंदर बाहर हो रहा था। फिर उस पूरे कमरे में हमारी चुदाई की फ़च फ़च उफ्फ्फ्फ्फ़ आह्ह्हह्ह माँ मर गई, वाह मज़ा आ गया तुम बहुत अच्छे चोद रहे हो, हाँ ठीक ऐसे ही लगे रहो की आवाज़े गूँज रही थी।

अब मेरा लंड लगातार अंदर बाहर होकर उसकी चूत को चोदे जा रहा था, कुछ देर बाद उसके झड़ने की वजह से मेरा लंड बिल्कुल गीला हो चुका था और अब वो बिल्कुल निढाल होकर लंबी लंबी साँसे ले रही थी। फिर करीब 20-30 धक्कों के बाद मेरे लंड ने जोरदार धक्के के साथ अपना वीर्य बाहर निकाला और वो पूरा का पूरा उसकी चूत की गहराई में जाकर समा गया और जब तक लंड से एक एक बूँद उसकी चूत में गिरती रही। में धक्कों पे धक्के लगाता रहा। फिर उसके बाद मैंने अपना लंड बाहर निकाला और में उसके पास में लेट गया, हम दोनों की साँसे बहुत तेज गति से चल रही थी। अब वो एक तरफ करवट से लेटी हुई थी और करीब पंद्रह मिनट तक हम ऐसे ही लेट रहे और फिर मेरी नज़र उसकी गांड पर पड़ी और गांड का विचार आते ही मेरा लंड एक बार फिर से अपनी शरारती हरकत करने लगा। अब मैंने अपनी एक उंगली को उसकी गांड के छेद पर रखकर अंदर डालने की कोशिश करने लगा, तब मैंने महसूस किया कि उसकी गांड का छेद बहुत टाइट था। फिर मैंने ढेर सारा थूक उसकी गांड के छेद पर और अपनी एक उंगली पर भी लगाया और अब में दोबारा से उसकी गांड में अपनी उंगली को अंदर डालने की कोशिश करने लगा।

अब गीलेपन की वजह से मेरी उंगली थोड़ी सी गांड में घुस गयी, उंगली घुसते ही वो कसमसाहट करने लगी वो उस दर्द की वजह से तड़पकर आगे की तरफ सरक गई और उस वजह से मेरी उंगली गांड के छेद से बाहर निकल गयी और वो पीछे मुड़कर बोली तुम यह क्या कर रहे हो? फिर मैंने कहा कि तुम्हारी गांड सचमुच बहुत अच्छी मजेदार है, वो मुस्कुराकर बोली कि उंगली क्यों डालते हो, तुम्हारा लंड क्या सो गया है? उसकी यह बातें सुनकर में बहुत खुश हुआ और मैंने उसको तुरंत पेट के बल लेटा दिया और दोनों हाथों से उसके कूल्हों को फैला दिया, जिसकी वजह से उसकी गांड का छेद और भी ज्यादा खुल गया। अब वो धीरे से कहने लगी दीनू नारियल तेल, घी या कोई चिकनी चीज़ मेरी गांड और लंड पर लगा लो तो तुम्हे थोड़ी बहुत आसानी रहेगी। अब मैंने कहा कि मेडम जी मेरे पास इससे भी अच्छी चीज़ है, मेरे पास वैसलीन है और फिर में उठकर वैसलीन ले आया और मैंने बहुत सारा वैसलीन अपने लंड और उसकी गांड के छेद पर लगाया और उसकी गांड मारने को तैयार हो गया। अब मैंने अपना लंड उसकी गांड के छेद पर लगाया और थोड़ा ज़ोर लगाकर अंदर की तरफ ज़ोर लगाया, जिसकी वजह से मेरे लंड का टोपा गांड में थोड़ा सा घुस गया।

फिर मैंने थोड़ा ज्यादा ज़ोर लगाकर और अंदर किया, पूरा टोपा उसकी गांड में समा गया टोपा गांड में जाते ही वो बोली दीनू थोड़ा धीरे धीरे डालो, मुझे बहुत दर्द हो रहा है, मुझे पूरे दो साल हो गए है गांड को मरवाए हुए। अब में सिर्फ़ टोपे को ही धीरे धीरे गांड के अंदर बाहर करने लगा और थोड़ी देर बाद ही उसकी गांड का छेद पूरा लंड खाने के काबिल हो गया, मुझे लगा अब मेरा लंड पूरा उसकी गांड में आराम से चला जाएगा और फिर ठीक ऐसा ही हुआ जैसा मैंने सोचा था। दोस्तों उसकी गांड का छेद चिकनाहट की वजह से लंड थोड़ा और अंदर समाने लगा, करीब दो तीन मिनट की मेहनत से मेरा लंड पूरा का पूरा उसकी गांड में घुस गया और उसके बाद में उसको घोड़ी बनाकर उसके दोनों कूल्हों को ज़ोर से पकड़कर बहुत धीरे से अपना लंड उसकी गांड के अंदर बाहर करने लगा। अब उसकी टाईट कसी हुई गांड होने की वजह से मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था और अब उसको भी मुझसे अपनी गांड को मरवाने का मज़ा आ रहा था और मुहं से उउफ्फफफ आह्ह्ह्हह्ह माँ मर गई हाँ जाने दो पूरा तुम्हारे अंदर बहुत दम है, वाह मज़ा आ गया स्स्सीईईईईइ प्लीज हल्के धक्के दो की आवाजे निकल रही थी।

दोस्तों करीब बीस धक्कों के बाद मेरे लंड ने उसकी गांड के सामने अपने घुटने टेक दिए और अब उसकी गांड में मैंने ढेर सारा वीर्य छोड़ दिया, वो भी अपनी गांड को सिकोड़ने लगी। अब हम दोनों एक साथ बिल्कुल निढाल होकर बिस्तर पर लेट गये। मैंने उसके बूब्स को सहलाया और जब तक मेरा दोस्त नहीं आया मैंने उसकी खाला की कई बार चूत और गांड मारी। दोस्तों मैंने अपने लंड से उसको पूरी तरह से संतुष्ट कर दिया और उसकी लगी आग को बुझा दिया और फिर जब में वापस अपने घर जाने लगा। अब खाला मुझसे पूछने लगी कि क्यों कैसी रही मेरी समाज सेवा, तुम्हे मज़ा आया कि नहीं? और में उनकी वो बात सुनकर हंसकर बोला खाला जी आप सच्चे तनमन से समाज सेवा करती हो, ऐसी सेवा से तो मुझे क्या हर किसी को मज़ा आ जाए और फिर में अपने घर पर आ गया ।।

धन्यवाद …

Best Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone


sex story 2016sex chut me landindian maa beta ki chudai storytution madam ki chudaimarwadi sxeladke ki gaandchudai with sasurnew hot sexy storychudai ki long storyrandi blue filmsax mastiboor in hindichachi ki chudai with picjaldi in hindiladki ki chudai moviesex story aapstory chudai ki hindirajasthani hindi sexbehan ki gand maradesi chut me desi lundsex stories with bossteri behen ki choothot sexstorymumbai sex antysexy bhabhi ki chudai ki kahaniharami larkisuhagraat in hindisexy karnaanti ko choda storysex punjabi storychoti ladki ki chut ki photonew latest hindi sexy storiesrandi ka nachsex with mamichudai jija sali kixxx stories indianchudai best kahanichachi ki jawaniindian chudai sexgay fuck storiesladki ko kaise chodapyar sexschool ladki chudaibhabhi ki boor chudaimoti gaand wali auratmastram ki chudai ki kahani hindi meainbadi badi gaandjungle chudai storydesi incest story in hindiriste me chudaimaa ki gand mari hindi storywww chudai com ingoa aunty sextailor ne ki chudaibhai behan chudai hindi storylatest kahani chudai kiladki chudai photoindian sax storeychudai ghar kiuncle ne chodasuhagrat me sexbaap beti ki chudai sex storieschudai ki story with picssali ki chudai hindimastani chut ki chudaisuhagrat ki kahanichoot ki pyaschut kathachut com sexaunty in saree sexhindisexy storisxx sex hindihindi sax storyhindi sex kahani bhabhisexy chut land storychut chudai kahanibete ne jabardasti chodasaas chudai kahanisex masti desichut me lundling se pani nikalnachut chati