Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

दिवाली का जुआ Part 6


Click to Download this video!
अमित बेचारा अपनी पत्नी के ऊपर होते हुए “अत्याचार” को देखकर जल भुन रहा था …अब वो अत्याचार था या वासना का नंगा नाच, ये तो अनीता ही बता सकती थी अब .
और मैं प्रतीक्षा कर रहा था की कब तक उसका ये अवरोध रहेगा ..आज मुझे अनीता को अमित के सामने बुरी तरह से तडपना था जब तक की वो गिदगिड़ा कर मुझसे चुदाई की भीख न मांगे ….
अभी भी इसके बाद 5 किस्सेस बची हुई थी ..
और जोकर की किस्स तो अभी शुरू ही हुई थी …
अमित बेचारा अपनी पत्नी के ऊपर होते हुए “अत्याचार” को देखकर जल भुन रहा था …अब वो अत्याचार था या वासना का नंगा नाच, ये तो अनीता ही बता सकती थी अब .
और मैं प्रतीक्षा कर रहा था की कब तक उसका ये अवरोध रहेगा ..आज मुझे अनीता को अमित के सामने बुरी तरह से तडपना था जब तक की वो गिदगिड़ा कर मुझसे चुदाई की भीख न मांगे ….
अभी भी इसके बाद 5 किस्सेस बची हुई थी ..
और जोकर की किस्स तो अभी शुरू ही हुई थी …
*******
अब आगे **
*******
जोकर ने अनीता भाभी को किसी गुडिया की तरह से उल्टा पकड़ कर रखा हुआ था, और उनकी फेली हुई चूत को सोफ्टी की तरह से चूस रहा था, जोकर की लम्बी जीभ अनीता की चूत के अन्दर तक गडी हुई थी और उसके होंठ बाहर उफन कर आ रहे जूस को बटोरने में लगे हुए थे …
जोकर की नाक अनीता भाभी की गांड के छेद के ऊपर थी …वैसे अक्सर औरते अपनी गांड के छेद पर ज्यादा साफ़ सफाई का ध्यान नहीं देती है जिसकी वजह से अन्दर से आने वाली बदबू सूंघकर उनके पार्टनर वहां पर चाटने या फिर ऊँगली डालने का इरादा छोड़ देते हैं पर कुछ ही अलग तरह की औरते या लडकिय होती है जो गांड के छेद की भी पूरी तरह से साफ़ सफाई करके रखती है ताकि जब उनके आशिक या पति उन्हें वहां पर चाटे या उन्गलबाजी करे तो उन्हें सिर्फ खुशबु का एहसास हो ताकि उसके आगे बढकर वो उन्हें और भी मजा दे सके जो सिर्फ पीछे वाले रास्ते से ही मिल सकता है ..और मैं ये बात ठोक-बजा कर कह सकता हु की अनीता भाभी उन्ही कुछ गिनी चुनी औरतों में से है जो इस बात का ध्यान रखती है क्योंकि जब मैंने उनकी चूत को चूसते हुए अपनी ऊँगली पीछे डाली थी तो उसे सूंघकर मैंने ये बात पता कर ली थी की वो पीछे से कितनी फ्रेश है ..
और अब जोकर की लम्बी और मोती नाक का एहसास अपनी गांड के छेद पर पाकर अनीता भाभी का शरीर थिरकने सा लगा, वो शायद उनका दूसरा वीक पॉइंट था अपनी नाभि के अलावा .
जोकर को भी चूत चाटते हुए अपनी नाक को उनकी गांड में घिसने का कुछ ज्यादा ही मजा आ रहा था ..और वैसे भी अगर किसी औरत की चूत और गांड पर एक साथ वार हो तो उसके अन्दर की वासना उछल-2 कर गर्म पानी के रूप में बाहर निकलती है .. और येही अनीता भाभी के साथ भी हो रहा था ..जो भी गरमा गरम जूस उनकी चूत से निकल रहा था उसे जोकर अपने मुंह में सटकता जा रहा था ..आज अपनी पत्नी की ये हालत देखकर अमित पर जो बीत रही थी उसे देखकर मुझे बड़ा ही सकूं मिल रहा था .
अचानक जोकर ने अनीता भाभी की चूत के चारो तरफ फ़ले हुए होंठ अपने मुंह में ले लिए और उन्हें चुभलाने लगा अपने होंठो और दांतों से …अब अनीता के लिए सहन करना मुश्किल हो गया …और उसने जोकर के लैंड को अपने मुंह से बाहर निकाल दिया और जोर से चीख मारी, जिसकी वजह से पूरा कमरा गूँज उठा ..
अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह ओह्ह्ह्हह्ह्हह्ह मर्र्र्रर्र्र्र गयी …….अह्ह्हह्ह्ह्ह ….
जोकर ने शायद कुछ ज्यादा ही जोर से काट लिया था उनकी फूल जैसी चूत की पंखड़ियों पर ..
पर वो चीख अनीता के दर्द की नहीं, बल्कि आने वाले ओर्गास्म की थी …क्योंकि जैसे ही चीख से डर कर जोकर ने अपना मुंह पीछे किया, अनीता भाभी की चूत से उनका रस किसी फव्वारे की तरह से हवा में उछला, और जोकर के सर से भी ऊपर उठकर उस फव्वारे के मीठे रस ने उसके चेहरे और सर को पूरी तरह से भिगो दिया, थोडा बहुत अमृत मुझपर भी गिरा जिसे मैंने ऊँगली से चाट लिया ..
जोकर के चेहरे पर गर्म रस की फुहार पड़ते ही उसके लंड ने नीचे से अनीता भाभी के मुंह पर गोलियां चलानी शुरू कर दी ..और वो बेहाल सा होकर अनीता भाभी को लेकर लम्बे वाले सोफे पर गिर गया ..अनीता भाभी गहरी सांस लेती हुई, अपने चेहरे पर गिरे हुए सफ़ेद और गाड़े वीर्य को साफ़ करने में लगी हुई थी ..और जोकर का मुंह पूरी तरह से अनीता भाभी की मोटी और फेली हुई गांड के बोझ तले पीसकर दिखाई देना भी बंद हो गया था …
और कोई मौका होता तो शायद वो इस सारे रस को चाट जाती, पर अपने पति के सामने शायद वो इस बात का एहसास करना नहीं चाहती थी की उसको इन सबमे मजा आ रहा है, इसलिए उसने सोफे पर पड़े हुए तकिये का कवर उतारा और अपने चेहरे पर गिरे रस को साफ़ करके उसे कोने में फेंक दिया और खुद खड़ी होकर अपने पति के पास जाकर बैठ गयी . उसके उठते ही जोकर भी उठा और अपने कपडे पहन कर वापिस अपनी जगह पर बैठ गया, उसके चेहरे के भाव बता रहे थे की जो भी उसने किया उसपर उसे अभी भी विशवास नहीं हो पा रहा था ..उसने अपने 5000 पूरी तरह से वसूल कर लिए थे .
अब 5 किस्स बची हैं .
मैंने अनीता को अपनी तरफ दोबारा बुलाया, उसने अपने पति की तरफ देखा पर वो बेबस सा अपने सर को झुकाए हुए बैठा रहा . वो उठी और मेरे सामने आकर खड़ी हो गयी ..
तभी मुल्ला उठकर मेरे पास आया और मेरे कान में धीरे से बोला ” यार लाला ..जोकर ने तो पुरे मजे ले लिए …और झड भी गया, पर मेरा लैंड तो अभी तक वैसा ही है ..एक काम कर मुझे एक और किस्स लेने दे, मैं तुझे कल दो के हिसाब से दस हजार दे दूंगा ..”
साले का लैंड जोर मारने लगा था जोके के द्वारा लिए गए मजे को देखकर ..
मुझे क्या फर्क पड़ना था, मैंने हाँ कर दी, और देखा जाए तो दोनों तरफ से मेरा फायेदा ही था, एक तरफ से तो मुझे 5 हजार और मिल रहे थे और दूसरी तरफ अनीता भाभी की ख़ास सेवा करके वो उसे ज्यादा तैयार कर रहा था जो शायद बाद में मेरे ही काम में आने वाला था .
मैंने हाँ कर दी .
अनीता शायद समझ चुकी थी की मुल्ला ने मुझसे क्या बात करी होगी, और मेरे सर हिलाते ही उसके चेहरे की रंगत बदल गयी, क्योंकि वो शायद जानती थी की मुल्ला कितनी ताकत के साथ उसके शरीर से खेलेगा ..
मुल्ला तुरंत उठा और नंगी भाभी को लगभग घसीटते अमित वाले लम्बे सोफे पर ले गया और उसे धक्का देकर बिठा दिया .
अमित भी हेरान था की मुल्ला उसे लेकर उसी सोफे पर क्यों लाया है …
और फिर मुल्ला ने अपने कुरते को उतार कर एक तरफ फेंका और फिर पायजामे को खोला और नीचे गिरा दिया, वो नंगा हो चूका था, सामने बैठी हुई अनीता भाभी ऐसे डर गयी जैसे किसी सपेरे ने अपना पिटारा खोल दिया हो उनके चेहरे के सामने ..उसका मोटा पेट और उसके नीचे लटक रहा काला लंड बड़ा ही भयानक लग रहा था .
मुल्ला का काले रंग का नाग फुफकारता हुआ बाहर निकल आया, ये बात हम सभी दोस्त अच्छी तरह से जानते थे की मुल्ला का लंड सबसे मोटा
है और जब कभी भी हम मिलकर किसी रंडी को चोदते थे तो उसका नंबर सबसे बाद में आता था, क्योंकि उसके लंड से डरकर कोई भाग न जाए .
और इतने मोटे लंड को शायद अनीता ने पहली बार देखा था, वो डर गयी थी .
अब मुल्ला ने अपनी ताकत दिखाई और अनीता के बगलों में हाथ डालकर उसे किसी फूल की तरह से अपनी गोद में उठा लिया, अनीता के पास कोई और चारा नहीं था इसके अलावा की वो अपने पैरों को मुल्ला की कमर के चरों तरफ लपेट दिया और इस तरह से उसकी गांड मुल्ला के खड़े हुए लंड के ऊपर टिक गयी ..
मुल्ला ने अपने एक हाथ से उसके मुम्मे दबा दिए, अनीता का मुंह खुला का खुला रह गया अपने ऊपर हुए अचानक हमले से और उस खुले हुए मुंह को एक ही बार में मुल्ला ने अपने बड़े से मुंह के अन्दर समेत लिया और उसके ऊपर और नीचे वाले दोनों होंठो को अपने मुंह में डालकर चिवंगम की तरह से चबाने लगा …
नीचे से वो उसके हॉर्न दबा रहा था और ऊपर से उसके होंठो की चाशनी पी रहा था .
अब मुल्ला ने अपनी ताकत दिखाई और अनीता के बगलों में हाथ डालकर उसे किसी फूल की तरह से अपनी गोद में उठा लिया, अनीता के पास कोई और चारा नहीं था इसके अलावा की वो अपने पैरों को मुल्ला की कमर के चरों तरफ लपेट दिया और इस तरह से उसकी गांड मुल्ला के खड़े हुए लंड के ऊपर टिक गयी ..
मुल्ला ने अपने एक हाथ से उसके मुम्मे दबा दिए, अनीता का मुंह खुला का खुला रह गया अपने ऊपर हुए अचानक हमले से और उस खुले हुए मुंह को एक ही बार में मुल्ला ने अपने बड़े से मुंह के अन्दर समेत लिया और उसके ऊपर और नीचे वाले दोनों होंठो को अपने मुंह में डालकर चिवंगम की तरह से चबाने लगा …
नीचे से वो उसके हॉर्न दबा रहा था और ऊपर से उसके होंठो की चाशनी पी रहा था .
*******
अब आगे **
*******
अनीता भाभी फिर मदहोश सी होती जा रही थी ..
पर मुल्ला के लंड के ऊपर बैठकर भी उसके मन से पतिव्रता धर्म का मान अपनी जगह पर ही था अभी तक ..
मुल्ला का मोटा लंड ढोलक की तरह से अनीता भाभी की गांड के पाटों के बीच फंसा हुआ था और उनकी चूत मुल्ला के पेट से टकरा रही थी ..और मुल्ला उसे अपने वहां बिठा कर उसको अपनी ताकत का एहसास करवा रहा था ..
वैसे एक तरह से देखा जाए तो अनीता भाभी मुल्ला जी के लंड के ऊपर ही बैठी हुई थी ..और झूले झूल रही थी ..
मुल्ला ने अनीता के दोनों होंठो को अपने मुंह में दबा रखा था, बेचारी सही तरह से सांस भी नहीं ले पा रही थी ..
और अमित का ध्यान तो सिर्फ मुल्ला के मोटे लंड पर था, कहीं वो उसकी पत्नी की गांड या चूत के अन्दर न घुस जाए .
मुल्ला ने बिना किस्स तोड़े ही अपने मुंह को अनीता के जिस्म से चिपकाये हुए ही नीचे आना शुरू कर दिया ..उसके मोटे और गीले होंठ और जीभ उसकी सुराहीदार गर्दन से होती हुई उसके मोटे -2 मुम्मो तक आ गयी और उसने अनीता को कमान की तरह टेड़ा करके उसके मोटे-2 मुम्मो पर अपना मुंह मारना शुरू कर दिया ..
अह्ह्ह्हह्ह्ह्हह्ह ……ओहहहहहहहहहहहहहह
उसका मुंह अब फ्री था इसलिए वो जोरों से करहा -2 कर अपने मुम्मो पर हो रहे जुल्म को शिकायत के रूप में अपने पति को सुना रही थी ..पर ये शिकायत थी या मजा ये तो सिर्फ वो खुद ही जानती थी ..
और अमित बेचारा, अपनी पत्नी के सफ़ेद दूध पर मुल्ला के काले दांतों की बनावट छपते हुए देखकर रोने जैसा हो रहा था ..
अब मुल्ला ने थोडा और साउथ की तरफ जाना शुरू कर दिया …और इसके लिए उसने अनीता को फिर से अमित के पास ही सोफे पर लिटा दिया ..अब अनीता का सर अमित की गोद में आ गिरा और मुल्ला ने उसकी टाँगे चोड़ी करके अपने मुंह को उसकी रिस रही चूत के मुहाने पर लगा दिया ..और जोरों से चूसने लगा .
अय्य्यीईईईईई …….अमीईईत्त्त्त ………..बचाओ मुझे ….
मैंने मन में सोचा ….साली रंडी ….अपने पति के दोस्त से चुसवा रही है और उसको बुला रही है, जैसे वो बचा लेगा उसको ..हा हा ..
पर तभी मेरा ध्यान अमित के लंड पर गया …
वो पेंट के अन्दर पूरी तरह से खड़ा हो चूका था ….और वो बड़ी मुश्किल से इधर-उधर देखकर अपनी शर्मिंदगी को हम सभी से बचा रहा था ..
अनीता का सर इधर-उधर पड़ने की वजह से उसको जब एहसास हुआ की उसके पति का लंड खड़ा हो चूका है तो वो पहले तो हेरान रह गयी की कैसे कोई अपनी पत्नी को किसी और के द्वारा मजे लेता देखकर खड़ा हो सकता है ..पर जब उसने सोचा की जैसे ना चाहते हुए उसकी चूत को भी मजा आ रहा था शायद वैसे ही अमित भी ना चाहते हुए अपनी पति के जिस्म पर हो रहे हमलो को देखकर उत्तेजित हो रहा है ..और शायद यही वजह थी की वो अब मेरी बातों का ज्यादा विरोध भी नहीं कर रहा था।
अचानक मुल्ला ने अनीता की गांड के नीचे हाथ रखकर उसको थोडा हवा में उठा दिया ….और उसकी चूत को हवा ही हवा में चूसने लगा …
ये आसन अनीता के लिए बिलकुल नया था, उसका मुंह अपने पति की गोद में था और उसके दोनों मुम्मे हवा में लटक रहे थे और उसकी गांड हवा में तैर रही थी, मुल्ला उसकी चूत को गन्ने की तरह से चूस रहा था और अनीता ने अपनी टाँगे उसके कंधे पर रखकर अपनी पकड़ बना रखी थी ..
इतना गर्म सीन देखकर मेरा लंड तो छलांगे मारने लगा था …
मैंने देखा की जोकर अभी तक नंगा था और अपने मरे हुए लंड को दोबारा उठाने का प्रयत्न कर रहा था ..
अनीता की आँखों के सामने अपने पति का खड़ा हुआ लंड था पेंट के अन्दर …अचानक उसपर उत्तेजना ज्यादा ही सवार हो गयी और उसने एक ही झटके में अमित की पेंट की जिप खोली और उसके तने हुए लंड को बाहर खींच लिया ….
अमित अपने ऊपर होने वाले हमले को तैयार नहीं था …वो चोंक गया …पर इससे पहले की वो कुछ बोलता अनीता ने अन्दर हाथ डालकर उसके लंड को बाहर खींचा, उसे अपने मुंह में भरा और जोरों से चूसना शुरू कर दिया …ठीक उतनी ही तेजी से, जितनी तेजी से मुल्ला उसकी चूत को चूस रहा था …
अब आएगा मजा ..
अमित की नजरे अपनी पत्नी से मिली और दोनों की आँखों में वासना के अंगारे जल उठे …और अमित ने एक ही झटके से अपनी बेल्ट खोली, पेंट उतारी और नीचे से नंगा होकर अपनी पत्नी के बालों को पकड़ा और अपने लंड के ऊपर चिपका दिया …
अह्ह्हह्ह्ह्ह …..अनीता ……म्मम्मम्म ……चूओस साली ……भेन चोद …
और तभी एक और अचम्भा हुआ …अनीता ने हाथ नीचे करके अपने हाथ में मुल्ला का लुल्ला पकड़ा और उसे हिलाने लगी …
एक तरफ वो उसकी चूत चूस रहा था, दूसरी तरफ वो अपने पति का लंड चूस रही थी और खुद वो मुल्ला के लंड की मालिश करके उसके ओर्गास्म को तैयार कर रही थी …
सोफे की चू -2 की आवाजे पुरे कमरे में गूँज रही थी …
और फिर अचानक मुल्ला ने अपना मुंह उसकी चूत से हटा लिया …
और वो जोर से चीख कर बोला ..
अह्ह्हह्ह्ह्ह भाभी जान ……कसम से ….मजा आ गया …..अह्ह्ह्हह्ह …..इतनी मीठी चूत आजतक मैंने नहीं चखी ….निकाल लो मेरा माल आज ….ये तुम्हारी चूत पर मेरी तरफ से एक नजराना है …अह्ह्हह्ह …
और अनीता के हाथ अपनी तारीफ सुनकर और तेजी से चलने लगे ….और जल्दी ही मुल्ला के लंड की पिचकारियाँ निकल कर उसके मुम्मो पर गिरने लगी ….और उधर अमित के लंड ने भी पानी निकालना शुरू कर दिया …और अनीता ने अपने पति की एक-2 बूँद को कुशल गृहणी की तरह से अपने पेट में उतार लिया ..
मुल्ला सोफे पर बैठ गया …और अनीता नीचे उतर गयी …
और खुद नीचे बैठकर …सामने बैठे हुए अमित और मुल्ला के लंड को अपने एक-2 हाथ में पकड़ कर उन्हें चाट चाटकर साफ़ करने लगी ..
और पूरी तरह से साफ करके जैसे ही वो उठने को हुई ..पीछे से उसको फिर से किसी नंगे लंड का एहसास हुआ .. जो की मेरा था ..
इतने गर्म सीन को देखकर मैं भी नंगा हो चूका था …और लंड चूस रही अनीता के पीछे जाकर खड़ा हो गया ..
अब बाकी की किस्स कैसे और कहाँ लेनी है, मैं सोच चूका था ..
अब होगा असली खेल शुरू .
और अनीता के हाथ अपनी तारीफ सुनकर और तेजी से चलने लगे ….और जल्दी ही मुल्ला के लंड की पिचकारियाँ निकल कर उसके मुम्मो पर गिरने लगी ….और उधर अमित के लंड ने भी पानी निकालना शुरू कर दिया …और अनीता ने अपने पति की एक-2 बूँद को कुशल गृहणी की तरह से अपने पेट में उतार लिया ..
मुल्ला सोफे पर बैठ गया …और अनीता नीचे उतर गयी …
और खुद नीचे बैठकर …सामने बैठे हुए अमित और मुल्ला के लंड को अपने एक-2 हाथ में पकड़ कर उन्हें चाट चाटकर साफ़ करने लगी ..
और पूरी तरह से साफ करके जैसे ही वो उठने को हुई ..पीछे से उसको फिर से किसी नंगे लंड का एहसास हुआ .. जो की मेरा था ..
इतने गर्म सीन को देखकर मैं भी नंगा हो चूका था …और लंड चूस रही अनीता के पीछे जाकर खड़ा हो गया ..
अब बाकी की किस्स कैसे और कहाँ लेनी है, मैं सोच चूका था ..
अब होगा असली खेल शुरू .

Best Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone


punjabi aunty ki chudaighode ne ki chudaichudai ki khanmumbai sexy auntyrandi ki hot chudaireal chudai photosister ki chut marigand chodne ka mazasex with savitachachi chudisex aunty ki chudaisex antuybahu ke sath sexjangle sexhindi sex story with imagechudai special kahanipadosan bhabhi ko chodaaunty ke chudai kebaji ki chootgujarati saxchachi ke chodachut n landvery sexy hindichachi xxx storyhindi sex story collectionmastram sexy kahanidivya bhabhispecial chudai kahaniboor mai lundmaa beta sex storetrain chudai storychudai ki batehaye meri maaatarvasna comhindi choda chodi kahanigujarati sexi kahanigaram gaandmami chudainangi ladki chudaidesi chut pornchudai kahani hindi maindukan me chudaibhabhi ki chudai ki sexy storylund chudai kahanichudai ki kahani bestantarvasna didiland bur kahanihindi indian chudai storyanti ki mast chudaiantarvasna maa kimaa ki chudai mehindi nangi blue filmmoshi chudaiantarvasan hindi storysex hindi sexmumbai new sexteacher ne jabardasti chodaenglish sex story in pdfsachi sex kahanisex com hendibhabhi ko papa ne chodamaa chud gaidesi aunty sesunita chachi ki chudaisoniya ki chudai ki kahanichokidar ne chodasex book hindezavazavi storynew latest sex story hindikamasutra full film in hindidesi zavazavichudai story comchudai ki kahani larki ki zubanimoti aunty ki chut mariseksi kahanibest indian chootmeena ki gand marimarathi gay sex stories