Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

देवर आधा घरवाला-1


Click to Download this video!

desi porn stories, indian sex kahani हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम पंकज है और घर पर मेरे अलावा मेरा एक दोस्त कुलीन, उसकी पत्नी अंजना रहती थी। यह उन दिनों की बात है जब मेरे दोस्त ने नयी नयी शादी की थी और हम तीनों साथ में रहते थे, कुलीन की उमर करीब 25 साल और अंजना भाभी की उमर सिर्फ़ 19 साल और मेरी 24 साल। मेरे दोस्त की शादी अभी पांच महीने पहले ही हुई और अंजना भाभी का रंग एकदम गोरा, आखें गुलाबी और नशीली बड़ी बड़ी, बाल काले और लंबे शरीर भरा, उसके बूब्स उमर के हिसाब से ज्यादा गोल गोल और कूल्हे भी बहुत भरे हुए है इसलिए जब भी वो चलती थी तब उसके कुल्हे इस अंदाज से मचलते जिसको देखकर मेरा लंड खड़ा हो जाता था, लेकिन अभी तक उसके साथ कुछ भी करने का मौका ही नहीं मिल पाया था और वैसे अंजना भाभी मुझे अपना देवर समझती थी। दोस्तों मेरी अंजना भाभी वैसे बहुत ही शरारती, खुले विचारों हंसमुख स्वभाव और दिखने में बहुत ही सेक्सी थी वो हमेशा ही मुझसे मज़ाक किया करती थी, लेकिन मुझे पता नहीं था कि वो कभी मेरे साथ ऐसा भी कुछ कर सकती है।

एक दिन सुबह अंजना मुझे जगाने के लिए आई तब सुबह के आठ बजे थे। मेरा लंड एकदम तनकर खड़ा था और लंड के खड़ा होने की वजह से मेरी लुंगी में टेंट बन गया था। अंजना भाभी ने बिना कोई शरम किए मेरे लंड पर अपने हाथ से धीरे से मारा और बोली आठ बज रहे है क्या उठाना नहीं है? मैंने कहा कि मुझे आज दोपहर के समय ऑफिस जाना है इसलिए आप मुझे सोने दो, वो बोली कि ठीक है सोते रहो और उसके बाद वो घर का काम करने लगी। अब में सो गया मेरे दोस्त के जाने के बाद वो दोबारा मुझे जगाने के लिए आ गई। मेरा लंड अभी तक भी खड़ा था और उन्होंने मेरे लंड को पकड़कर खींचा और बोली भैयाजी अब तो उठ जाओ। तो में उठ गया अब मैंने अपने लंड की तरफ इशारा करते हुए उससे पूछा क्या आपको मेरे लंड पर हाथ लगाने में शरम नहीं आती अगर कुछ हो गया तो? वो बोली क्या हो जाएगा? तुम तो मेरे एकलौते और प्यारे प्यारे देवर हो और देवर से कैसी शरम आख़िर भाभी पर देवर का आधा हक़ होता है, जैसे साली आधी घरवाली होती है ठीक वैसे ही देवर भी आधा घरवाला होता है। वैसे तुम्हारा यह लंड कुछ ऐसा है कि में इसको पकड़ने से अपने आप को रोक नहीं पाई और मैंने इसको पकड़ लिया और अगर तुम्हे अच्छा नहीं लगा तो में अब कभी भी तुम्हारे बदन को हाथ भी नहीं लगाउंगी। तो मैंने कहा कि नहीं अंजना भाभी में तो आपसे बस मज़ाक कर रहा था सच कहूँ भाभी मुझे बहुत अच्छा लगा और मेरे इतना कहने के बाद वो मेरे पास में बैठ गयी और उन्होंने मेरे लंड को एक बार फिर से पकड़कर खींच लिया और पूछने लगी क्यों कैसा लगा? मैंने कहा कि बहुत अच्छा, लेकिन अगर मुझे जोश आ गया तो में तुम्हे रगड़ दूँगा। अब वो मुझसे बोली तो देर किस बात की है, रगड़ दो ना, तुम्हे मना किसने किया है? मैंने कहा कि मेरा लंड तो तुमने पहले ही छूकर महसूस किया है कितना लंबा और मोटा है? वो बोली अभी तक मैंने इसे देखा ही कहाँ है? अभी तो यह किसी नयी नवेली दुल्हन की तरह घूँघट में है। अब उसकी यह बातें सुनकर में भी मज़ाक के मूड में आ गया और मैंने उससे कहा कि अगर आप उसको देखना चाहती हो तो देख लो, वो पूछने लगी तुम अपने दोस्त से तो नहीं कहोगे ना? मैंने कहा कि बिल्कुल नहीं और मेरे इतना कहते ही अंजना ने मेरी लूँगी को ऊपर कर दिया और अंजना भाभी मेरे लंड को देखती ही रह गयी और वो बोली देवर जी तुम्हारा लंड तो बहुत ही शानदार है आप इसको छुपा लो वरना किसी की नज़र लग जाएगी। इतना कहकर अंजना भाभी उनके हाथ से मेरे लंड को छूने लगी, जिसकी वजह से मेरे सारे बदन में सुरसुरी सी दौड़ गयी और कुछ देर बाद उसने लूँगी को नीचे कर दिया। फिर मैंने उससे कहा कि मेरे लंड को आज तक किसी ने नहीं देखा था। आज पहली बार तुमने मेरा लंड देखा है मुहं दिखाई नहीं दोगी? वो बोली हाँ ज़रूर दूँगी बोलो क्या चाहिए? मैंने कहा कि ज़्यादा कुछ नहीं सिर्फ़ एक बार उसको चूम लो अंजना भाभी ने तुरंत ही मेरे गालों को चूम लिया, तब मैंने शरारत भरे अंदाज़ में उससे कहा कि देखो भाभी मुहं दिखाई तो उसकी होती है जिसको तुमने पहली बार देखा है।

फिर वो बोली नहीं नहीं ऐसे कैसे हो सकता है? में नहीं कर सकती, देखो भाभी में आपके ऊपर दबाव नहीं डालता, लेकिन मुहं दिखाई की रस्म तो आपको पूरी करनी ही पड़ेगी और इतना कहकर में लेट गया। फिर वो बोली कि हाँ ठीक है में तुम्हारे लंड का ही चुम्मा ले लेती हूँ और इतना कहकर उन्होंने मेरी लूँगी को ऊपर कर दिया, जैसे ही मेरा लंड बाहर आया तो उन्होंने मेरे लंड को पकड़ लिया वो थोड़ी देर तक मेरे लंड को देखती रही और फिर बोली कि तुम्हारे लंड का बहुत ही मोटा टोपा है उसके बाद उन्होंने बड़े प्यार से मेरे लंड का टोपा चूम लिया जिसकी वजह से मेरे सारे बदन में बिजली सी दौड़ गयी और अंजना भाभी की आखें भी गुलाबी हो गयी थी, वो बोली अब तो मिल गयी ना मुहं दिखाई। तो मैंने कहा कि हाँ मिल गयी, वो बोली चलो अब फ्रेश हो जाओ और नीचे आ जाओ और में फ्रेश होने चला गया और वो किचन में नाश्ता बनाने चली गयी फ्रेश होने के बाद में नहा रहा था। तब अंजना भाभी ने आवाज़ दी और कहा कितनी देर तक नहाते रहोगे? जल्दी से नहा कर आ जाओ और नाश्ता कर लो मुझे भी नहाना है। फिर मैंने कहा कि मेरा लंड अभी भी बहुत गरम है में इसको ठंडा कर रहा हूँ, लेकिन यह ठंडा होने का नाम ही नहीं लेता पहला प्यार पाकर आज बहुत ही खुश हो गया है तुम भी आकर मेरे साथ ही नहा लो। अब वो बोली नहीं मुझे तुम्हारे साथ नहाते हुए शरम आती है, तब मैंने कहा कि मेरे लंड को पकड़ने में शरम नहीं आई और अब नहाने में शरम आ रही है, तो वो बोली कि में तुम्हारे सामने अपने कपड़े कैसे उतार सकती हूँ? मैंने कहा तो में नहाकर नंगा ही बाहर आ जाता हूँ। फिर वो बोली कि हाँ तो आ जाओ ना तुम नंगे रहोगे तो शरम भी तुम्हे ही आएगी मुझे नहीं और फिर मैंने कहा कि हाँ ठीक है और फिर नहाने के बाद मैंने अपनी भीगी हुई अंडरवियर बाथरूम में ही उतार दी और में एकदम नंगा ही अंजना भाभी के सामने चला आया। फिर जब उन्होंने मुझे पूरा नंगा देखा तो अपनी आखें बंद कर ली, मैंने कहा अब क्यों शरमा रही हो? वो बोली मुझे शरम आ रही है जाओ तुम कपड़े पहनकर आओ में वैसे ही चुपचाप खड़ा रहा और थोड़ी देर बाद अंजना भाभी ने अपनी आखों को खोल दिया। वो तब भी मुझे नंगा देखती रही और मेरा कस हुआ गोरा बदन देखकर उसकी आखें फटी रह गई। मेरा लंड धीरे धीरे खड़ा हो गया तो मैंने अपने लंड की तरफ इशारा करते हुए उससे कहा कि सुबह तुमने इसको ठीक से मुहं दिखाई नहीं दी और पूरी तरह जी भरकर देखा भी नहीं था, इसलिए अब अच्छी तरह से देख लो, अंजना भाभी सोफे पर बैठी हुई थी इतना कहकर में अंजना भाभी के नज़दीक गया और अपना लंड उनके मुहं के सामने कर दिया। अब वो बोली कि तुम तो नंगे ही ज़्यादा सुंदर लगते हो, मैंने अपने लंड की तरफ इशारा करते हुए कहा और इसके बारे में क्या विचार है? विधि भाभी मेरे लंड को देख रही थी उनकी आखें गुलाबी होने लगी थी। वो बोली कि तुम्हारा लंड तो सही में बहुत ही अच्छा है। फिर मैंने पूछा कि अच्छा है का क्या मतलब? वो बोली कि अच्छा है का मतलब तुम्हारा यह लंड बहुत ज़्यादा लंबा है, एकदम गोरा और चिकना है। मैंने आज तक ऐसा लंड कभी नहीं देखा। फिर मैंने कहा इतना प्यार आ रहा है तो एक बार और मेरे लंड को चूम लो, भाभी ने कहा तुम बड़े शैतान हो और उसके बाद उन्होंने मेरा लंड अपने हाथ में पकड़ लिया और अपने गरम, गुलाबी होठों को मेरे लंड के टोपा पर रख दिया और थोड़ी देर तक अपने होठों को मेरे लंड के टोपे पर रखने के बाद उन्होंने बड़े प्यार से चूम लिया। मुझे बहुत मज़ा आया और मेरे सारे बदन में बिजली सी दौड़ गयी।

अब मैंने कहा मज़ा आ गया एक बार और चूम लो, वो बोली यही बात है और तुम कहते हो तो में एक नहीं दो बार चूम लेती हूँ और उन्होंने फिर से मेरे लंड को पकड़कर बड़े प्यार से दो बार और चूम लिया। उस समय भाभी की आखें भी जोश से एकदम गुलाबी हो चुकी थी और मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा था में अपने आप को रोक नहीं पा रहा था। तभी वो कहने लगी कि चलो अब बहुत हुआ अब नाश्ता करो, मुझे नहाना है और इतना कहकर भाभी नहाने चली गयी और में उनके जाने के बाद अपने लंड पर हाथ रखते हुए अंजना भाभी का इंतज़ार करता रहा और सोचने लगा चाहे कुछ भी हो जाए, लेकिन आज यह मौका मुझे मिला है तो में जी भरकर मज़े लूँ मेरा दुबला पतला दोस्त अपनी सुंदर सेक्सी पत्नी को पूरी तरह चुदाई का संतोष तो नहीं दे पा रहा है और वो आज में इसको जरुर दूंगा। फिर करीब बीस मिनट के बाद भाभी नहाकर बाहर आई तब उन्होंने बस पेटिकोट और ब्लाउज ही पहना था। उनका एकदम गोरा बदन देखकर मुझे और ज़्यादा जोश आने लगा में सोफे पर बैठा था, भाभी मेरे सामने आ गयी और बोली दिखाओ तुम्हारा लंड। वो तुरंत हाथ में पकड़कर हिलाने लगी और बोली सही में तुम्हारा लंड बड़ा मदमस्त है, जिसको लेकर कोई भी लड़की दीवानी हो जाएगी। अब मैंने प्यार से कहा अंजना भाभी तुम खुद इसको प्यार नहीं करना चाहती? वो चुप हो गयी, लेकिन लंड को सहलाने नहीं छोड़ा मैंने उसके कंधो को पकड़कर उसको ऊपर उठाया तो उसने आखें बंद कर दी, मैंने धीरे से हाथ को आगे किया और एक बूब्स को पकड़कर सहलाने लगा। वो सिसकियाँ भरने लगी और में अपना दूसरा हाथ दूसरे बूब्स पर रखकर उसको दबाने लगा, जिसकी वजह से उसकी सिसकियाँ और भी तेज हो गयी। वो बोली प्लीज धीरे से दबाओ ना मुझे बहुत दर्द होता है। फिर मैंने कहा कि भाभी तुम्हारे बूब्स में बहुत रस भरा हुआ है जब तक उस रस को में नहीं पीयूँगा तब तक दर्द होगा। फिर इतना कहकर ब्लाउज के बटन खोलकर मैंने दोनों पल्लू को खोल दिया। तब में देखता ही रह गया 34 इंच के गोल बूब्स बीच में भूरे रंग की निप्पल थी जो अब मेरा पहला स्पर्श पाने के लिए बेताब हो चुकी थी, लेकिन भाभी ने पहले से ही उसकी चोली को उतार दिया। उस समय उसने मेरे लंड को मुक्त कर दिया, लेकिन उसकी गुलाबी आखों की बेताबी अब बढ़ती ही जा रही थी। उसकी आखें बंद सी हो गयी थी। फिर भाभी जैसे पहले स्पर्श से मदहोश हो गयी थी तो मैंने सही मौका देखा और ऊँगली से उसके पेटिकोट का नाड़ा पकड़ा और मैंने उसको तुरंत झटका देकर खींच लिया और उसको नंगा कर दिया तो उसके मुहं से एक आअहह यह क्या किया निकल गयी? सच कहूँ तो वो बहुत ज़्यादा जोश में आ चुकी थी और मैंने उसको थोड़ा सा अलग किया तो सचमुच में बस देखता ही रह गया। भाभी का गोरा चिकना संगमरमर सा बदन अब मेरे सामने था और में अंजना भाभी के एकदम गोरे गदराए हुए बदन को देखता ही रह गया। उन्होंने अपने एक हाथ से अपनी चूत को ढक लिया और जोश की वजह से उन्होंने अपनी आखों को बंद कर लिया। फिर मैंने भाभी के दोनों निप्पल को अपनी उंगलियों से पकड़कर ज़ोर से मसलना शुरू कर दिया, थोड़ी ही देर में वो जोश में आकर सिसकियाँ भरने लगी। मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा था और मेरा लंड खड़ा होने लगा।

अब भाभी ने जोश में आकर एक बार फिर से मेरे लंड को पकड़ लिया और वो सहलाने लगी, तब मैंने कहा कि तुम अपने दूसरे हाथ से क्या छुपा रही हो? वो बोली कि बहुत ही कीमती चीज़ है जिसको देखने के बाद पंगा हो जाता है। फिर मैंने कहा तो क्या हुआ? वो कुछ नहीं बोली तो मैंने उनका हाथ उनकी चूत से हटा दिया उनकी चूत एकदम गोरी और चिकनी थी बिना बालों वाली डबल रोटी की तरह फूली हुई चूत को देखकर मेरा लंड तनकर खड़ा हो गया। मैंने अपना हाथ उनकी चूत पर लगा दिया तो वो आह भरने लगी। तो मैंने पूछा अब क्या हुआ? वो बोली कि गुदगुदी हो रही है, मैंने अपने एक हाथ से उनकी चूत को सहलाना शुरू कर दिया और दूसरे हाथ से उनकी निप्पल को मसलता रहा वो सिसकियाँ भरते हुए मेरे लंड को सहलाती रही में उनकी चूत को सलहा रहा था, जिसकी वजह से वो बहुत ज़्यादा जोश में आ गयी और थोड़ी ही देर बाद वो झड़ गयी। तो मैंने अब भाभी को अपने दोनों हाथों में ले लया और बेड पर लेटा दिया मेरे सामने भाभी की भरी हुई नंगी जवानी थी मैंने उसके जिस्म को चूमना शुरू किया जिसकी वजह से वो पागल सी हो गयी मैंने धीरे से उसका सर ऊपर करके उसके होंठो को चूसने लगा उसने प्यार का वादा निभा ही दिया हम दोनों पूरे जोश से एक दूजे को चूमने का मज़ा देकर रसपान करने लगे और फिर मैंने अपना दूसरा मोर्चा भी संभाल लिया उसकी बड़ी उठी हुई निप्पल को अपने हाथों में लेकर धीरे धीरे मसलने लगा और दोनों निप्पल को ज़ोर से मसलने के बाद मैंने भाभी के एक करके दोनों बूब्स का रसपान शुरू किया जिसकी वजह से वो मचलने लगी मेरे राजा ऑश आआहह ऊहह्ह्ह मैंने धीरे धीरे ज़ोर से बूब्स को चूसना दबाना शुरू किया। तो भाभी आआहह क्या कर रहे हो ऊफ्फ्फ्फ़ प्लीज धीरे मुझसे अब सहा नहीं जाता, लेकिन मैंने प्यार करने के साथ रसपान का पूरा मज़ा लेने लगा थे। मैंने मेरे हाथ से उसकी जांघो को छूता हुआ चूत पर रख दिया और अब मेरी ऊँगली उसकी नशीली चूत के ऊपर अपना पहला प्यार जताने लगी, जिसकी वजह से वो मदहोश हो चुकी थी करीब दस मिनट तक ऐसा हुआ और में उनकी चूत के रस को चाटने लगा, वो बहुत ज़ोर ज़ोर से सिसकियाँ भरने लगी उनकी चूत का सारा रस चाट लेने के बाद जैसे ही मैंने हटने की कोशिश कि भाभी ने मेरा सर पकड़कर अपनी चूत की तरफ खीच लिया और वो बोली कि मुझे बहुत मज़ा आ रहा है थोड़ी देर और चूसो। अब मैंने भाभी के दोनों पैरों को चौड़ा किया और तुरंत में उसकी चूत को चाटने लगा जिसकी वजह से भाभी बहुत ज़्यादा जोश में आ चुकी थी और वो ज़ोर ज़ोर से सिसकियाँ भर रही थी करीब पांच मिनट में ही वो एक बार फिर से झड़ गयी इस बार उनकी चूत से ढेर सारा रस निकाला और मैंने वो सारा रस चाट लिया उसके बाद में हट गया। अब भाभी एकदम मस्त हो चुकी थी और वो बोली में तुम्हारा लंड एक बार चूसना चाहती हूँ क्या में चूस लूँ? मैंने कहा कि मैंने कब आपको मना किया है? उन्होंने मेरे लंड को अपने मुहं में ले लिया और चूसने लगी। में एक हाथ से उनके निप्पल को मसलने लगा और दूसरे हाथ की उंगली को उनकी चूत में डाल दिया और अंदर बाहर करने लगा। वो बड़े प्यार से मेरा लंड चूसती रही और ज़ोर ज़ोर से सिसकियाँ भर रही थी, क्योंकि भाभी बहुत ज़्यादा जोश में थी और मेरे लंड को बहुत तेज़ी के साथ वो चूस भी रही थी।

Best Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone


gandu ki chudaihindi ladki ki chutkutiya ki chudaihindi sex story for bhabhichudai gamemast boor ka photosexi kahniyabhabhi ki chudai chudaifuck me bhaiyamaa bete ki sex storysexy kathasex kahani hotsexy mom ki chudaisex hot bhabhisexy sex storieshindi sixevichitra sexbhabhi ki chudai ki kahani10 ki ladki ki chudaiboyfriend and girlfriend sexbeti ko choda storywww aunty xxx combahan sex storyhindi hot story in hindididi ki chootindian sex khaniyabehan ki seal todimaa ki chudai sex story in hindinayi bahu ki chudaichut lene ki kahaniaunty ki sexy chutnew chudai ki storyclass ki ladki ko chodabhabhi ki chudai sex story in hindimosi ki chudai kahanisexy stories in hindi latestbaap ki chudai kahanibur chudai story hindinita bhabhi ki chudaihindi kahani maa ko chodatrain may chudaichudai ki desi photochudai bhai bahan kichudai ki hindi mai kahanichudai historyvabiki chudaihindi xxx auntyhindi se xhindi sex story movieindian hot chudaivasna story12 saal ki beti ki chudaichut marne ki photobhabi chodafuck chudailatest hindi sexy kahaniyamummy ko zabardasti chodanude hindi storychachi chudai in hindiantarvasna ki hindi storychudai ka seenek ladke ki gand mariporn sex bhabhihindi sex storey compatni ko chodachudai photo storybhabhi ki badi gandsex aunty storybahan ki chuchihindi secxbhabhi ki chudai ki kahani with photonange boobsphone sex storieslal chut