Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

भाभी को गोवा में मोर्डन बनाकर चोदा – [Part 2]


Click to Download this video!

कहानी का पहला भाग आप ने यहाँ पढ़ा: भाभी को गोवा में मोर्डन बनाकर चोदा – [Part 1]

हैल्लो दोस्तों.. में रोहन एक बार फिर हाजिर हूँ इस कहानी का दूसरा भाग लेकर. तो दोस्तों फिर में सुबह 9 बजे उठा और फ्रेश होकर ब्रेकफास्ट किया और फिर में वापस अपने रूम में चला गया, फिर 11 बजे मुझे भाभी का कॉल आया कि मेरे रूम में आ जाओ. तो फिर जैसे ही में भाभी के रूम में पहुंचा तो भाभी ने दरवाजा खोला और में जैसे ही अंदर गया. भाभी ने मुझे पकड़कर किस किया और कहा कि रोहन, आज तक तुम्हारे भैया कभी इतने खुश नहीं हुए थे. उस वक़्त भाभी ने एक टी-शर्ट और केफरी पहनी हुई थी. वो क्या लग रही थी? फिर मैंने कहा कि ऐसा क्या हुआ?

भाभी : ओह.. देवर जी को बहुत मज़ा आ रहा है.

में : ऐसा कुछ बात नहीं है.. में सिर्फ़ इतना जानना चाहता हूँ कि भैया को आपको देखकर कैसा लगा?

भाभी : ऐसा ठीक है चलो सुनो.. तुम्हारे भैया को मैंने सुबह 7 बजे उठाया और वो पहले फ्रेश होने के लिए चले गये फिर में फ्रेश होकर आई और ऐसे ही 7:30 बज चुके थे.

भैया : चलो क्या आज जिम नहीं चलना है?

भाभी : फिर मुझे ध्यान में नहीं आया कि में तो आज अपने पति को चकित करने वाली थी और फिर मैंने कहा कि हाँ चलना है. फिर में वॉशरूम में गयी और मैंने शॉर्ट और ब्रा पहन ली जैसे ही में बाथरूम से बाहर आई तुम्हारे भैया की आँखें खुली की खुली रह गयी. उन्होंने कहा कि तुमने यह सब कब खरीदा? तो मैंने कहा कि यहाँ पर आने से पहले.

में : आपने यह क्यों नहीं कहा कि यह सब मैंने लेकर दिया है?

भाभी : पागल हो क्या? तुम्हारे भैया यह सब सुनते तो उन्हे कैसा लगता कि तुमने मुझे ब्रा लाकर दी? अब चलो छोड़ो और आगे की कहानी सुनो.

फिर उन्होंने कहा कि अचानक ऐसा परिवर्तन कैसे? तो मैंने कहा कि यह परिवर्तन आपके लिए ही है. फिर हम दोनों नीचे गये और सब लोग मुझे ही घूर रहे थे. मुझे बहुत माज़ा आ रहा था, कि सब लोग मुझे ही देख रहे थे. तो हम लोग जैसे ही जिम में अंदर गए. वहां पर सबका ध्यान मेरे ऊपर था, क्योंकि कोई भी औरत ने मेरी तरह एकदम फिट कपड़े नहीं पहने थे. फिर हमने थोड़ी एक्ससाईज की और फिर मैंने कहा कि चलो अब तैराकी करने चलते है. तो हम लोग जिम में से निकले और फिर में चेंजिंग रूम में गयी.

मैंने वन पीस वाला तैराकी सूट पहन लिया, जो पीछे से पूरा जाली का था. और जिससे कि मेरी गांड पूरी दिख रही थी और मुझे बहुत अच्छा लग रहा था. फिर में कपड़े से ढककर बाहर चली गयी और तुम्हारे भाई बाहर मेरा इंतज़ार कर रहे थे. और जैसे ही में उनके पास पहुंची, तो तुम्हारे भैया बोलने लगे कि वाह यह बहुत अच्छी है.. लेकिन अभी तक उन्होंने नीचे नहीं देखा था. फिर जैसे ही में पूल के पास पहुंची और मैंने कपड़ा उतारा तो तुम्हारे भैया ने मेरी गांड देखी और वो कहने लगे कि यह क्या है? तो मैंने कहा.

भाभी : तैराकी का सूट क्यों क्या आपको पसंद नहीं आया?

भैया : बहुत अच्छा है.. लेकिन आज से पहले तुम्हे कभी ऐसे नहीं देखा.

भाभी : यह सब खरीदने में तुम्हारे भाई की पसंद है.

में : क्या? लेकिन आपने मेरा नाम क्यों लिया?

भाभी : अरे अब तुम सुनो तो सही इसके आगे क्या हुआ?

भैया : ओह्ह मतलब आज से शॉपिंग के लिए मुझे रोहन को ही तुम्हारे साथ भेजना पड़ेगा.

भाभी : क्यों? तुम नहीं चलोगे.

भैया : नहीं.. क्योंकि मेरी इतनी सेक्सी पसंद नहीं है और रोहन को यह सब पसंद है.

भाभी : ठीक है, ठीक है.. क्या अब स्विमिंग करें?

फिर हमने थोड़ा टाईम स्विमिंग की और फिर मैंने कहा कि चलिए रूम पर चलते है.

भैया : हाँ चलो नहाकर फिर हमें घूमने भी तो जाना है.

भाभी : फिर हम रूम में आए और..

और क्या भाभी आगे भी तो बताओ सॉरी आगे में तुम्हे नहीं बता सकती?

लेकिन क्यों नहीं बता सकती? वो अभी में नहीं बता सकती कि आगे क्या हुआ? तो ठीक है फिर क्या हुआ?

भाभी : फिर हमने नाश्ता किया और तुम्हारे भैया को कहीं काम से जाना था और फिर में तुम्हारे पास आ गई.. लेकिन भाभी आप तो बीच पर गये थे क्यों वहां पर क्या हुआ?

भाभी : नहीं टाईम ही नहीं मिला.

में : तो फिर बिकनी की बुरी किस्मत.

भाभी : क्या मतलब?

में : उन्होंने बाहर की दुनिया अभी तक देखी ही नहीं.

भाभी : तो क्या हुआ हम चले चलते है.

में : कहाँ बीच पर?

भाभी : हाँ चलो चलते है.

में : ठीक है आप रूम में चलो में आपके रूम में तैयार होकर आता हूँ.

भाभी : ठीक है जब तक में भी तैयार हो जाती हूँ.

फिर मैंने जल्दी से शर्ट और केफरी पहनकर भाभी के रूम की बेल बजाई और जैसे ही में अंदर घुसा क्या नाज़ारा था? भाभी ने काली कलर की बिकनी पहनी हुई थी.. वाह वो एकदम मस्त लग रही थी.

तो फिर भाभी ने कवर ऊपर पहन लिया और फिर हम लोग रूम से बाहर निकले और लॉबी में गये लॉबी में सब भाभी को घूर घूर कर देख रहे थे और फिर मैंने रिशेप्शन पर एक प्राइवेट बोट के लिए बात कि तो उन्होंने हमे पता दिया और हमने एक टेक्सी ली और वहां पर पहुंच गये और हम उस बोट वाले को ढूँडने लगे और हमे वो बोट वाला मिला और फिर हम बोट पर चले गये और अंदर एक रूम में भाभी और में वहां पर बैठे थे और फिर वहां वो बोट वाला आया और हमसे पूछने लगा कि हमे क्या देखना है? तो भाभी कहने लगी कि हमे एक प्राईवेट बीच पर जाना है जहाँ पर कोई नहीं जाता हो.

बोट वाला : ऐसा एक बीच तो है.. लेकिन वहां पर कुछ लोग जाते है.

तो फिर हमने कहा कि ठीक है और हम वहां के लिए निकल गये. तो में कहने लगा कि..

में : क्या भाभी आपने ऐसा क्यों कहा कि हमे एक प्राईवेट बीच पर जाना है? मैंने यह बोट सिर्फ़ घूमने के लिए करवाई है.

भाभी : वो ऐसे ही.. लेकिन अगर हम इसमें घूमेंगे या कहीं पर रुक जाए तो भी उतने ही पैसे लगेंगे.

में : लेकिन आपने ऐसा क्यों कहा कि हमे ऐसी जगह पर लेकर जाओ जहाँ पर कोई नहीं आता हो?

भाभी : मुझे बिल्कुल भी पसंद नहीं है कि लोग मुझे घूरे वैसे भी मैंने ऐसी बिकनी पहनी हुई है उसकी वजह से लोग मुझे ज़्यादा घूरेंगे इसलिए मैंने कहा कि ऐसी जगह पर चलो जहाँ पर कोई नहीं आता हो.

में : लेकिन भाभी आप ऐसी बिकनी पहनोगी तो लोग आपको घूरेंगे ही ना.

भाभी : ऐसी बिकिनी मुझे पहनना पसंद है और मुझे छोटे कपड़े पहनना बहुत पसंद है.. लेकिन लोग घूरते है इसलिए में ज़्यादा नहीं पहनती हूँ और इसलिए में हमेशा सादे कपड़े पहना करती थी.. लेकिन यहाँ पर फिर भी थोड़ा ठीक है. मेरा बस चले तो में सिर्फ़ बिकनी में या फिर नंगी घूमूं.

में : ऐसी एक जगह है जहाँ पर आप नंगे या बिकनी में जैसे चाहे घूम सकते हो.

भाभी : हम लोग ट्राई करेंगे और अगली बार हम उस जगह पर जाएँगे.. ठीक है.

फिर हमने बोट वाले ने बुलाया उसने कहा कि वो जगह आगे है तो फिर हम बोट में उतरे और बोट वाला हमे उस जगह पर ले गया और जहाँ पर उसने हमे छोड़ा था वहां पर कोई भी नहीं था और उसने बताया कि यह पिछला हिस्सा है. इसके आगे की साइड में कुछ लोग आते है.. लेकिन यहाँ पर कम लोग आते है और वो हमे कुछ ज़रूरत के समान जैसे कुर्सी, टावल, साबुन, तेल, और कुछ सॉफ्ट ड्रिंक्स देकर चला गया.

फिर मैंने और भाभी ने कपड़े उतारे और में केफरी में और भाभी बिकनी में थी और फिर हम पानी में चले गये और तैरकर मस्ती करने लगे और फिर कुछ टाईम के बाद हम बाहर निकले और फिर हम कुर्सी पर लेट गये और सॉफ्ट ड्रिंक्स पीने लगे थोड़े देर के बाद मुझे भाभी ने कहा कि मेरी पीठ पर तेल से मसाज कर दो तो में उठा और भाभी उल्टी लेट गयी और अपने टॉप का रस्सी को खोल दिया और अब उनकी पीठ पूरी नंगी थी. उनकी पीठ को हाथ लगाते से ही मेरा लंड उठने लगा.. लेकिन मैंने सेफ्टी के लिए केफरी के अंदर अंडरवियर पहना हुआ था इसलिए ज़्यादा नहीं दिख रहा था. तो मैंने उनकी फुल मसाज की गांड और जांघ को छोड़कर बाकी सब मसाज किया. फिर मैंने भाभी से कहा कि अब में चला.

भाभी : कहाँ पर? अभी तो गांड और जांघ की मसाज बाकी है.

में : (अरे वाहह आज तो मस्त मस्त मिल्की गांड पर हाथ लगाने का मौका मिलेगा) तो ठीक है भाभी.

फिर मैंने थोड़ा सा तेल लिया और मसाज करने लगा.

भाभी : तुम तो बहुत अच्छी मसाज करते हो.

में : धन्यवाद भाभी.

भाभी : क्या तुमने इससे पहले किसी और की भी मसाज की है?

में : नहीं भाभी.

भाभी : झूठ मत बोलो मुझे पता है तुमने अपनी गर्लफ्रेंड की मसाज की है.

में : लेकिन आपको कैसे पता?

भाभी : तुम्हारे सेल फोन से.

में : मोबाइल से? कैसे

तो भाभी ने मुझे बताया कि उन्होंने मेरी गर्लफ्रेंड का मैसेज पड़ लिया था जिसमे लिखा हुआ था कि धन्यवाद जानू इस सेक्सी मसाज के लिए अब मुझे चुदाई का इंतजार है. तो मैंने कहा कि तो क्या हुआ भाभी मसाज तो में करता ही हूँ ना?

भाभी : इसलिए तो मैंने ड्राइवर से कहा कि हमे ऐसी जगह लेकर चलो जहाँ पर कोई नहीं आता हो.

में : अब समझा आपको मुझसे मसाज करवानी थी इसलिए आप मुझे इतनी दूर लेकर आए.

भाभी : हाँ चलो अब मसाज करो.

फिर में मसाज करने लगा और सोचने लगा कि काश भाभी के फ्रंट की भी मसाज कर सकूँ और देखते ही देखते भाभी के पूरे पीछे के हिस्से की मैंने मसाज कर दी और फिर भाभी से कहा कि मसाज हो गयी.

भाभी : चलो अब आगे की भी मसाज कर दो.

में : क्या?

भाभी : आगे की भी तो मसाज करनी बाकी है.

मेरे मन में लड्डू फूटने लगे और फिर जैसे ही भाभी सीधी हुई और उन्होंने उनका टॉप उतारा और अब उनके बूब्स नंगे थे वो भी मस्त फुल बड़े बड़े और फिर वो पूरी ही नंगी थी. फिर मैंने तेल लेकर उनके पेट की तेल से मसाज करने लगा फिर कमर की. तो भाभी ने कहा कि अरे यहाँ पर मेरे बूब्स बाकी है उनकी कौन मसाज करेगा? में जैसे सातवें आसमान पर था और मैंने उसी वक़्त तेल लिया और उनके बूब्स पर डाला और उनके बूब्स की मसाज करने लगा क्या मस्त लग रहा था दोस्तों.. क्योंकि इतने बड़े बूब्स तो मेरी गर्लफ्रेंड के भी नहीं थे. फिर में उनको ज़ोर ज़ोर से मसाज करने लगा और भाभी सिसकियाँ लेने लगी. फिर भाभी कहने लगी कि थोड़ा ज़ोर से दबाकर करो.

तो में उनके बूब्स को मुहं में लेकर और ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा उनके निप्पल को काटने लगा क्या बताऊँ दोस्तों क्या मज़ा आ रहा था गर्लफ्रेंड के साथ भी इतना मज़ा नहीं है जितना शादीशुदा औरत के बूब्स में आता है. फिर मैंने उनके बूब्स चूसते चूसते उनकी पेंटी के अंदर हाथ डाल दिया और चूत को दबाने लगा और वो अपना हाथ मेरी कैफ्री में डालकर मेरे लंड को दबाने लगी और फिर मैंने भाभी की पेंटी उतारी और उनकी चूत को देखा एकदम साफ थी.. कहीं पर एक भी बाल नहीं था.. तो में उनकी चूत चाटने लगा और उनकी चूत चाटते वक़्त में उनकी चूत में जीभ जैसे ही डालता वो अहह अहह ऐसी आवाज़े निकालती. मुझे डर था कि सामने कोई देख ना ले और कहीं हमारी वीडियो ना बना ले..

इसलिए मैंने भाभी से कहा कि चलो बोट में चुदाई करेगें और भाभी ने कहा कि बोट का ड्राइवर? तो मैंने कहा कि उसे में बाहर भेज दूँगा. भाभी ने जल्दी से बिकनी पहन ली और उसके ऊपर टावल लपेट लिया और फिर हम लोग समान लेकर बोट में चले गये और बोट में एक छोटा सा रूम था मैंने भाभी से कहा कि आप रूम में चलो में आता हूँ. फिर में बोट ड्राईवर के पास गया और उसे 500 रूपय दिए और कहा कि जा घूमकर आ और करीब एक घंटे के बाद आना.

फिर में रूम में गया और रूम को अंदर से लॉक कर दिया.. मैंने देखा कि भाभी पूरी नंगी बेड पर लेटी हुई थी और मुझे बुला रही थी.. मैंने अपने कपड़े उतारे और उसके पास चला गया. फिर भाभी मेरे लंड को लेकर चूसने लगी और में खड़े होकर उनके बूब्स दबाने लगा और फिर कुछ देर बाद मैंने भाभी से कहा कि क्या आपने कभी 69 पोज़िशन ट्राई की है? तो भाभी ने कहा कि तेरे भैया ज़्यादा टाईम चोदते ही कहाँ है बस रात को आते है.. एक दो मिनट चूत चाटते है और 5 मिनट मुझे चोदते हुए झड़ जाते है.

तो मैंने पूछा कि क्यों भैया का बड़ा नहीं है? वो कहने लगी कि उनका तो तेरे से शायद थोड़ा बड़ा है.. लेकिन वो बहुत थके हुए आते है ना इसलिए.. लेकिन आज उन्होंने मुझे मस्त चोदा. तो में पूछने लगा कि कैसे चोदा? तो उन्होंने कहा कि तुम छोड़ो ना क्या अभी इतनी लंबी कहानी सुनाने का मेरा मूड नहीं है. फिर में बेड पर सीधा लेट गया और भाभी की चूत मेरे मुहं की तरफ और मेरा लंड उनके मुहं में और फिर ऐसे ही हम एक दूसरे को चूसते रहे करीब 15 मिनट तक. फिर में उठा और उनको सीधा किया और उनकी चूत में एक ही झटके में लंड डाल दिया. वो भी बिना कंडोम और बहुत दर्द हुआ फिर वो मस्त आवाजे निकाल रही थी अहह इईईई चोद दे इस निकिता को आह्ह्हह्ह्ह्ह जल्दी और ऐसी आवाजे सुनकर मेरी हिम्मत बड़ी और में और ज़ोर से धक्के लगाता.

फिर मैंने भाभी को कुतिया बनाया और फिर उनकी चूत में लंड डालकर सबसे ज़्यादा दर्द डॉगी पोज़िशन में ही होता है और फिर में उनको वैसे चोदने लगा और वो फिर से आवाजे निकालने लगी और फिर में उनको उसी पोज़िशन में चोदता रहा मेरी कुतिया बनाकर और वो जैसे ही चिल्लाती में उतनी ही ज़ोर से मेरे लंड को उनकी चूत में और ज़ोर से धक्का मारता. फिर मैंने उसी पोज़िशन में भाभी को 20 मिनट तक चोदा और फिर..

भाभी : बस अब मुझे तुम पानी में भी चोदोगे.

में : बाथरूम में.

भाभी : नहीं बाहर समुद्र में.

में : लेकिन किसी ने देख लिया तो क्या होगा?

भाभी : क्या कर लेगा कोई?

में : वीडियो रीकॉर्डिंग

भाभी : देखा जाएगा जो होगा

में : ठीक है.. लेकिन अगर भैया को मालूम पड़ गया तो.

भाभी : कुछ नहीं होगा बस मुझे तुम्हारे भैया को पटाने के लिए एक नई मेक्सी ख़रीदनी पड़ेगी.

फिर में और भाभी नंगे बोट के बाहर चले गये और हमने बाहर देखा तो कोई नहीं था फिर हम दोनों पानी में गये और हम दोनों ने एक दो मिनट तक नंगे किस किया और फिर मैंने भाभी को पानी में उनकी कमर को पकड़कर लेटा दिया और उनकी चूत में मेरा लंड डाल दिया और चोदने लगा और भाभी ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगी. चोद मुझे मादरचोद साले ज़ोर से और ज़ोर से आआआआअ उूह्ह्ह अपनी भाभी को चोद और ज़ोर से देवर जी.. ज़ोर से चोदो. तो में ज़ोर ज़ोर से धक्के लगाने लगा. करीब 15 मिनट के बाद में और भाभी दोनों झड़ गये और मैंने अपना सारा वीर्य भाभी को पिलाया.

उनका पिया और वहीं पानी में नहाए और फिर वापस बोट में चले गये और रूम बंद करके बेड पर नंगे सो गये मैंने अपने कपड़ो से मेरा सिगरेट का पैकेट निकाला और जलाकर स्मोक करने लगा और भाभी पूछने कि तुम भी स्मोक करते हो? तो मैंने कहा कि हाँ भाभी हर सेक्स के बाद.. फिर भाभी ने मेरे हाथ में से सिगरेट ले ली और वो भी स्मोक करने लगी और कहने लगी कि में भी करती हूँ और कुछ देर बाद ड्राईवर आया और उसने पूछा कि हो गया? तो मैंने कहा कि हाँ चलो और फिर मैंने और भाभी ने कपड़े पहने और बाहर आ गये. तो बोटमेन कहने लगा कि..

बोटमेन : क्यों आपका ठीक से हो गया ना साहब जी?

में : हाँ हो गया.

बोटमेन : और पानी में मज़ा आया ना और फिर बीच में.

तो भाभी ने कहा कि क्यों तुझे मज़ा आया?

बोटमेन : हाँ भाभीजी बहुत मज़ा आया अगली बार फिर से मुझे ही बुलाना.

फिर में और भाभी बोट के रूम पर चले गये और बाहर रूम पर बैठकर स्मोक करने लगे और फिर कुछ देर के बाद हमारा स्टॉप आया बोटमेन ने हमे उसका कार्ड दिया और हम वहां से वापस आ गये थे ..

Updated: May 26, 2015 — 3:16 am
Best Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone


hinde sax stroygaand ka chedhindisexkahaniyandeshi maza comromantic sex kahanisaxey chutkamsutra katha in hindibest hindi sex story sitesuhagrat me chudai ki kahanikamsutra hindi storyma ne chodna sikhayadesi saxymaa ko sote me chodasasu ki chudai in hindimeri gaand marovidesi ki chudaibest hindi chudai storygand me chutbollywood rekha sexantarvasnabest hindi sex kahanisex story aapchudai video storyhindi family chudai storysexi stores hindichut sex hindidesi sex stories in englishmast chudai kahani in hindinew xxx in hindihindi hot khaniyawww hindisex story commaa ki chudai hindi storyjabardasti sex story in hindibhabhi ka pyarsexy story hotchudai jobchudai hindi font kahanischool chutsuper sex storyvery gandi storiessabji wali ki chudaikannada aunty sex storieshindi chudai historychudai ki gandi kahaniindian sec storieshot bhabhi ki chudai ki kahanichudai maa kewww antervasana comhindi mast kahaniyachudai balatkar kahanidevar aur bhabhi ka sexantarvasna 2000sex stories at antarvasnahindi six kahanikam umar me chudaigf sex storynew sex hindi kahanichoti behan ki gand maridesi ladkiyo ki chudaichudai stories in pdfmaa ke sath bete ki chudaisexystorissachi sexy kahaniyabadi mami ko chodahindi galiyachudai chudai kahanichoot nangiindian bus sexmumbai local sexsaas ki gand marihindi phone chatsexy story of girls in hindihindi gandghar mein chodabehan ki chut fadi