Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

भाभी की अन्तर्वासना मिटाई -2


Click to Download this video!

hindi sex stories फिर भाभी ने तुरंत अपना गाउन उतार दिया और फिर अपना पेटीकोट भी उतार दिया। अब भाभी सिर्फ़ पेंटी में रह गयी थी। फिर वो मेरे नजदीक आई और बोली कि मोनू में बिल्कुल पागल हो गयी हूँ, मुझे खूब चोद और आज मुझे पूरी औरत बना दे। मैंने इससे पहले कभी किसी को नहीं चोदा था, यह मेरा पहली बार था इसलिए में कुछ ज़्यादा ही उत्तेजित हो रहा था। फिर भाभी ने तुरंत मेरी टी-शर्ट और शॉर्ट्स को उतार दिया। फिर मैंने अपनी बनियान उतारी। अब में सिर्फ़ अंडरवेयर में रह गया था। फिर भाभी अपना एक हाथ मेरे अंडरवेयर में ले गयी और मेरे लंड को ऊपर से ही अपने हाथ में लेने लगी थी और बोली कि मोनू तेरा लंड तो काफ़ी मोटा है, क्या तूने कभी किसी के साथ सेक्स किया है? तो तब मैंने कहा कि नहीं भाभी, यह मेरा पहला मौका है।

फिर इतना सुनते ही उन्होंने मेरा अंडरवेयर नीचे खींच दिया और मेरे लंड को झट से बाहर निकालकर पकड़ लिया। तब मैंने भी तुरंत उनकी पेंटी को पकड़ा और नीचे खींच दिया। अब हम दोनों पूरे नंगे हो गये थे और पलंग पर लेट गये थे। फिर मैंने भाभी की पहले चूचीयों को मसलना शुरू कर दिया और उन्हें अपने मुँह में लेकर चूसना शुरू कर दिया। तब वो सिसकारी लेती हुई बोली कि और ज़ोर से मोनू और ज़ोर से, आज मेरी इन चूचीयों का सारा रस निकाल दे और सब कुछ पी जा। अब मेरा जोश बढ़ता जा रहा था। अब में इतने में उनकी चूचीयों दबाता हुआ नीचे आने लग गया था। अब मेरे होंठ उनके शरीर के हर हिस्से को चूमते जा रहे थे। फिर जब में उन्हें चूमते हुए उनकी चूत तक पहुँचा तो तब उन्होंने मुझे रोक लिया और कहा कि मोनू में भी बहुत प्यासी हूँ। अब में उनका मतलब नहीं समझ सका था। तब वो तुरंत अपनी साईड बदलकर मेरे पैरों की तरफ आ गयी। अब मेरा मुँह उनकी चूत की तरफ और मेरा लंड उनके मुँह की तरफ हो गया था।

फिर मैंने अपने हाथ से उनकी चूत को मसला और अपनी एक उंगली उनकी चूत में घुसा दी। उनकी चूत में बिल्कुल गर्म भट्टी की तरह आग लगी हुई थी और बहुत चिपचिपी भी थी। फिर मैंने अपने हाथ से उनकी चूत की दोनों फाखों को अलग किया तो सामने गुलाबी रंगत लिए उनकी चूत की गहराई दिख रही थी। अब मेरी जीभ में पानी आ गया था। फिर मैंने अपनी पूरी जीभ उनकी चूत में डाल दी और अंदर गहराईयों तक चूसने लग गया था। अब भाभी भी पीछे नहीं थी। अब उन्होंने मेरा लंड कसकर पकड़ रखा था और अपने होंठ से मेरे लंड के सूपड़े को चूसे जा रही थी। फिर उन्होंने मेरा पूरा का पूरा लंड अपने मुँह में ले लिया और गप-गप चूसने लगी थी। अब इधर में उनकी चूत चूस रहा था, तो उधर वो मेरा लंड चूस रही थी। अब हम दोनों के दोनों अपनी गांड उठा उठाकर पूरा चुसवाना चाह रहे थे।

फिर थोड़ी देर में भाभी की चूत में से बहुत सारा रस निकल आया। अब मेरा मुँह तो था ही उनकी चूत में तो में उनका सारा का सारा रस पी गया, गजब का मीठापन था उस रस में। अब मेरी उत्तेजना भी चरम पर पहुँच गयी थी, इसलिए मैंने भाभी से कहा कि आप अपना मुँह हटा लो, लेकिन वो नहीं मानी और बोली कि छोड़ दे अपना रस मेरे मुँह में। थोड़ी देर के बाद मेरा गाढ़ा रस निकलने लगा। तो उन्होंने उसे भी अपने मुँह में ले लिया और सारा चाट लिया। फिर थोड़ी देर तक हम शांत पड़े रहे, लेकिन जब भाभी ने कहा कि अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है, मोनू जल्दी से मुझे चोद दे और अपना रस इस बार मेरी चूत में छोड़ दे और फिर उन्होंने मेरे मुलायम पॉइंट को सहलाना शुरू किया और मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी। फिर थोड़ी देर में ही मेरा लंड फिर से फनफनाने लगा। तब भाभी ने कहा कि अब जल्दी से आ जा। तब मैंने सीधा होकर अपना लंड उनकी चूत से टीका दिया। अब उनकी चूत बहुत गीली हो रही थी, तो धीरे से थोड़ा दबाव देते ही मेरा लंड करीब 3 इंच अंदर चला गया था और फिर थोड़ा धक्का देने के बाद मेरा लंड करीब 2 इंच और घुस गया।

अब भाभी को दर्द हो रहा था। अब में समझ गया था कि शायद भैया का लंड 5 इंच के आस पास ही है, क्योंकि अब भाभी दर्द से भरी जा रही थी। अब मेरा लंड जो कि 8 इंच का था। अभी भी करीब 3 इंच बाहर था। फिर मैंने पूछा कि अगर दर्द हो रहा तो क्या रुक जाऊं? तो तब भाभी बोली कि नहीं जल्दी से फाड़ दे मेरी चूत को। फिर मैंने जोश में एक और ज़ोर से धक्का मारा तो मेरा लंड 7 इंच तक घुस गया। अब भाभी की आँखों में आसूं आ गये थे, लेकिन उन्होंने अपनी चीख रोक ली थी। फिर मैंने अपना लंड बाहर निकालकर एक दो धक्के मारने शुरू किए। फिर थोड़ी देर के बाद भाभी को भी मज़ा आने लगा। फिर मैंने अपनी पूरी स्पीड से धक्के लगाने शुरू किए तो अब मेरा पूरा लंड अंदर बाहर जा रहा था। फिर मैंने उनकी स्टाइल बदल दी और उनको कुत्तिया स्टाइल में बैठा दिया। फिर मैंने उनके ऊपर चढ़कर उनके पीछे से उनकी चूत में अपना लंड डाल दिया और फिर उस स्टाइल में काफ़ी देर तक चोदता रहा। फिर थोड़ी देर के बाद फिर से स्टाइल चेंज करके वो मेरे ऊपर बैठ गयी और उछल उछलकर अपनी चूत में मेरा लंड लेने लगी थी। फिर काफ़ी देर तक हम एक दूसरे को अलग-अलग स्टाइल में चोदते रहे।

फिर आखरी में में फिर से उनके ऊपर आकर चोदने लगा। तब भाभी ने मुझे एकाएक कसकर भींचा और ढीली पढ़ गयी। अब वो झड़ गयी थी और अब में भी झड़ने वाला था, इसलिए मैंने भाभी की चूचीयों को मसलते हुए अपने धक्के तेज कर दिए। फिर थोड़ी देर के बाद मैंने भी अपना सारा रस भाभी की चूत में उडेल दिया। अब हम दोनों बहुत बुरी तरह हांफ रहे थे, लेकिन अब हमें एक अजीब सी संतुष्टि महसूस हो रही थी कि मानो जैसे बहुत बड़ा युद्ध जीत लिया हो। फिर हम दोनों पूरी रात एक दूसरे को चूमते, चाटते रहे और फिर मैंने उस रात दो बार और भाभी की कसकर चुदाई की। फिर सुबह होने से कुछ देर पहले भाभी और मैंने अपने कपड़े पहन लिए और थोड़ा दूर दूर होकर लेट गये। फिर सुबह मम्मी ने आकर जब मुझे जगाया तो पता चला कि 7 बज गये है और भाभी नहा भी ली थी। अब भाभी मुझे मुस्कुराती हुई देख रही थी। अब उनकी बरसों की मुराद मैंने पूरी जो कर दी थी।

फिर पूरा दिन जब भी मुझे कोई मौका मिला तो में उन्हें पकड़ लेता और उनकी चूचीयों को मसलकर चूसता और अपनी उंगलियों को उनकी चूत में घुसा देता था। फिर शाम को जब भैया आ गये तो उन्होंने जाने का प्रोग्राम बना लिया और फिर थोड़ी देर के बाद वो निकल गये। फिर जाते-जाते भाभी ने मुझसे थैंक्स बोला कि मैंने उनका बहुत ध्यान रखा और मुझे अपने घर आने की भी ज़िद की। तब मेरी मम्मी ने वादा किया की जल्द ही वो मुझे वहाँ भेज देंगी। फिर उनके जाने के बाद मेरी ज़िंदगी दुबारा पुरानी तरह से बिज़ी हो गयी कि अचानक 1 महीने के बाद मुझे मम्मी से पता चला कि भाभी प्रेग्नेंट है। तो तब मुझे कुछ हैरानी हुई, लेकिन अब मेरी आँखों के सामने उस रात का प्यार सामने आ गया था। अब में समझ गया कि यह होने वाला बच्चा उन्हें मेरी ही वजह से मिल रहा है।

फिर कुछ समय के बाद जब एक प्रोग्राम में मेरा उनसे मिलना हुआ तब यह पता भी चल गया, लेकिन वो बहुत खुश थी कि अब उनके ऊपर से बांझ होने का कंलक मिट गया था ।।

धन्यवाद …

Best Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone


ghar me chudai ki storybandh kar chodagirlfriend sex boyfriendmastram ki mast chudai kahaniyabhartiya chudai ki kahanishreya ki chudaiantarvasna chudai photodesi sali ki chudaichudai historiladki ki sexyteri chudaisexy bhashakhala ki chudai sex storymami ki hot storyindian sex stories wifemaa beta ki chudai ki storyandu gundu thanda panichut chodne ki storysex in desi auntymom chudai story hindibaap beti chudaimami ka chodabhai k sathgandi hindi sex kahaniwww savita bhabhi ki chudai commast ram ki khaniyaaunty ki jabardasti chudaibhabhi chutdedi kahanimuslim bhabhi ki chudai kahanihindi sexy satorichut me lolaaunty or bhabhi ki chudaixxx sex story comsexy kahani in hindi languagehindi rep sexsexstroies in hindireal mami ki chudairandi ki choot chudaididi ki chodai storysuhagrat new storychodai ke khanesali ki chootchoda chodi hindi kahaniantarvasna hindi videochudai pic kahaniaadhachut ka rapebehan ko choda hindi storyhindi mai chudai storybehan ki chudai hindi storiesbhavna ki chudaimaja chudai kachut marni haihouse sex auntypati patni ki suhagraathindi hot bhabhichut ki bhuksexy story hindi memaa ko blackmail kiyabehan ki chudai ki kahanichudai ki kahani freechudai ki photo hindibeti se chudaibete ne gand maribf chootbus indian sexchodna sikhayapapa ki chudai kahanimaa sex commaa ki chudai sote huesheela auntyhindi gandi kahaniwww desisexstory com