Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

अब्बू का बेलगाम लण्ड-7


hindi porn stories चूत बिचारी तड़प रही है – झांटें मेरी सुलग रही है
मैंने अपना पेटीकोट ऊपर उठाया और सासू को अपनी चूत दिखाते हुए बोली देखो सासू जी, मेरी झांटें सुलग रही है ? थोड़ी देर में बिलकुल राख हो जाएँगी मेरी झांटें, बहन चोद ?
मेरी सास ने कहा अरी बहू ऐसा क्या हो गया की तेरी झांटें सुलगने लगी ?
मैंने कहा आये हाय तू तो ऐसे बोल रही है जैसे की कुछ जानती ही नहीं बुर चोदी ? अभी कल ही मेरा नंदोई आया था उसने पहले अपनी सास का भोसड़ा चोदा फिर सास की नन्द के भोसड़ा में अपना लौड़ा पेला और भकाभक चोद कर चला गया भोसड़ी वाला ? उसे अपने साले की बीवी की बुर नहीं चोदी ? उसे मेरी चूत का बिलकुल ख्याल नहीं आया ? मेरी चूत बिचारी लण्ड के लिए तरसती रही ? बस यही सोंच सोंच कर मेरी चूत जली भुनी जा रही है, सासू ?
वह बोली :- अरी मेरी भोसड़ी की बहू, मुझे चोदने के बाद कल मेरी नन्द को चोदते समय उसका फोन आ गया था। वह तुरंत किसी काम से चला गया। वो तो कल रात भर तेरी बुर चोदने के लिए तैयार था पर क्या करता बिचारा काम ही कुछ ऐसा आ गया की उसे जाना पड़ा ? अच्छी बात यह है बहू, की अभी अभी उसका फोन आया है और उसने कहा है की मैं जल्दी ही आऊँगा अपनी साले साहेब की बीवी चोदने ?
दोस्तों, मेरा नाम है नाज़ ? मेरी शादी हसन के साथ पिछले साल ही हुई है। मैं २५ साल की हूँ और वह २८ साल का ? मेरी ससुराल में मेरी सास है मिसेज मुमताज़, मेरी नन्द है मिसेज शमा खान उसकी शादी साजिद खान नाम के लड़के से अभी ६ महीने पहले ही हुई है। मेरी सास की नन्द है मिसेज रेहाना ? मेरा ससुर है इरफ़ान। अभी कल मेरा नंदोई साजिद आया था जिसका ज़िकर मैं ऊपर कर चुकी हूँ। साजिद बड़ा हंसमुख लड़का है, हंसी मजाक खूब करता है ? मुझे इसी तरह से खुश मिज़ाज़ लोग पसंद आते है। साजिद जब भी आता है तो मुझसे खूब बातें करता है। कल जब वह मुझसे बिना मिले चला गया तो सही में मेरी झांटें सुलग गयी ? मेरी झांटें इस बात से और सुलग गयी की मेरी सास भोसड़ी वाली ने चुदवा लिया उससे, अपनी नन्द का भोसड़ा भी चुदवा लिया उसने और मेरी चूत के बारे में सोंचा तक नही ? अगर साजिद ने वापस आने का वादा न किया होता तो मैं कल ही सास की गांड मार देती ? मुझे जब गुस्सा आता है तो मैं सबकी माँ बहन चोदने लगती हूँ चाहे वो जो भी हो ? एक दिन तो मैं गुस्से में अपने ससुर की माँ बहन चोदने लगी थी लेकिन जब मुझे मालूम हुआ की उसकी गलती नहीं थी तो मैंने माफ़ी भी मांग ली ? तबसे मेरा ससुर भोसड़ी का मुझसे बड़े प्यार से बोलने लगा है। हकीकत यह है की मैं किसी मादर चोद भोसड़ी वाले को डरती नहीं हूँ ?
मैं ये सब बातें सोंच ही रही थी की अचानक मेरी नन्द का देवर असर आ गया।
आते ही बोला नाज़ भाभी मेरी भाभी कहाँ है ?
मैंने बताया तेरी भाभी अपनी अम्मी के साथ कहीं गयी है। कोई ख़ास काम है क्या रे तेरा ?
वह बोला नहीं ऐसी कोई बात नहीं है भाभी। चलो मैं तब तक तुमसे बातें कर लेता हूँ। ( वह बड़ी बेबाकी से मेरे बगल में बैठ गया। मैं उसे बड़े गौर उसे देखने लगी। वैसे तो मैं उसे कई बार देख चुकी थी लेकिन इस समय मैं किसी और नज़र से देख रही थी। मेरी नियत उस पर ख़राब होने लगी। चुदासी तो मैं थी ही ? मैंने सोंचा की मौक़ा अच्छा है इस भोसड़ी वाले का लौड़ा पहले पकड़ा जाये, तब मज़ा आएगा ? लड़का तो जवान है, तगड़ा तंदुरस्त है, हैंडसम है और सेक्सी भी है बहन चोद ? तो फिर मैं इसका फायदा क्यों न उठाऊं ? )

मैं बोली भोसड़ी के असर तूने अपनी भाभी की चूंची कभी पकड़ी है ?
अरे भाभी आप भी क्या बातें कर रही है ? पर एक बात है मेरी शमा भाभी एकदम मस्त है ?
अच्छा बिना उसकी चूंची देखे, बिना उसे नंगी देखे, तू यह बात कैसे कह सकता है ?
एक बार तो बाथ रूम में भाभी को नंगी देखा था बड़ा मस्त और सेक्सी बदन है उसका ?
अब तू बातें न बना ? सच सच बता मुझे नहीं तो मैं तेरी पोल खोल के तेरी माँ चोद दूँगी ? तेरी भाभी मुझे सब कुछ बता चुकी है। ( यह सुनकर उसकी गांड फट गयी ? )
वह बोला :- हां नाज़ भाभी, मैं शमा भाभी की चूंचियां पकड़ता हूँ।
अपना लौड़ा पकड़ाते हो उसको ? बुर चाटते हो अपनी भाभी की, असर मादर चोद ?
हां भाभी पकड़ाता हूँ उसे अपना लण्ड ? और वो भी सब करता हूँ।
हां अब आये हो रास्ते पर ? देख जब तू अपनी भाभी की बुर चोद सकता है तो भोसड़ी के मेरी बुर क्यों नहीं चोद सकता ? मेरी बुर में कोई खराबी है क्या ?
मैंने तो यह कहा नहीं भाभी ? मैंने तो अभी देखा भी नहीं तेरी,,,,,, ?
अरे इसमें क्या ? ‘बुर’ कहने में तेरी माँ क्यों चुद रही है, असर ? खुल कर बोल न मेरे सामने ? शर्माने की कोई जरुरत नहीं है ? ले मेरी ब्रा खोल कर मेरी चूंची पकड़ ले ? (उसने मेरी ब्रा खोली तो मैंने उसका पैजामा खोल डाला ? उसने मेरी चूंची पकड़ लिया तो मैंने उसका लण्ड ? मेरे पकड़ते ही लण्ड टन टना कर एकदम से खड़ा हो गया ?)
मैं बोली वाह असर तेरा लौड़ा भी साला बड़ा असर दार है ? यही लौड़ा तू शमा की बुर में घुसाता है न ?
हां भाभी यही लौड़ा घुसाता हूँ ? एक बात और बता दूँ भाभी ? मेरा एक दोस्त भी मेरी भाभी की बुर चोदता है।
कौन है वो तेरा दोस्त है ? क्यां नाम है उस भोसड़ी वाले का ?
ताहिर नाम है उसका भाभी, एक बात और है मैं भी उसकी भाभी की बुर चोदता हूँ।
तो तुम दोनों बहन चोद बड़े हरामी हो ? तुम उसकी भाभी चोदते हो वो तेरी भाभी चोदता है। लोग तो बीवी अदल बदल कर चोदते है तू भाभी अदल बदल कर चोदता है ? अपनी भाभी अपने दोस्तों से चुदवाते हो ?
अरे भाभी हम लोगों ने तय किया है की शादी होने के बाद हम एक दूसरे की बीवी चोदा करेंगे ?
मैं तो कहती हूँ तू अपनी सुहागरात में ही अपने दोस्त से अपनी बीवी चुदवाना और उसके सुहागरात में तुम उसकी बीवी चोदना ?

ऐसा कह कर मैं अपने सारे कपडे उतार कर उसका लण्ड चूसने लगी। लण्ड तो वाकई उसका बड़ा मस्त था ? ऐसा लौड़ा तो बड़े बड़े लोगों का भी नहीं होता ? मैं उसका सुपाड़ा चाटते हुए बोली असर तेरा लण्ड तो मेरे दिल में बैठ गया है। अब जब भी तुम आया करो तो मुझे अपना लण्ड जरूर पकड़ाया करो ? हम दोनों मादर चोद बिलकुल नंगे थे । मेरी चूत भठ्ठी की तरह जल रही थी। मैं बोली यार असर अब अपना ये भोसड़ी का लण्ड पेल दो मेरी बुर में ? मैं और रुक नहीं सकती बहन चोद ? वह भी ताव में था। उसने फटाक से घुसेड़ दिया लण्ड और मैं चुदवाने लगी। बहुत दिनों के बाद आज मैं एक मस्ताने लौड़े से चुदवा रही थी। मेरी चूंचियां उछलती हुई देख कर वह मजे से जल्दी जल्दी चोदे जा रहा था ।
वह बीच में बोला :- भाभी एक बात और बताऊँ ?
मैंने कहा :- हां बता न माँ का लौड़ा, असर ? तेरे पास बातें बहुत है ?
वह बोला :- शमा भाभी ने एक बार चुदवाते हुए कहा था की असर किसी दिन तुम मेरी माँ का भोसड़ा चोदना ?
मैं बोली :- अच्छा अब मैं समझी, शमा बुर चोदी ने अपनी माँ चुदाने के लिए तुझे बुलाया है। उस भोसड़ी वाली को अपनी माँ चुदाने में बड़ा मज़ा आता है। वह बोला :- भाभी एक बात और है ?
मैंने कहा :- तू बहन चोद वाकई बड़ा हरामी है ? एक एक बात निकालता रहता है। एक बार में सारी बातें बताने में तेरी गांड फटती है क्या रे असर ? अच्छा बोल, अब यह भी बात बता ही दे तू नहीं तो तेरी गांड में दर्द होता रहेगा, बहन चोद ?
वह बोला :- शमा भाभी ने यह भी कहा था की असर मैं तेरे दोस्त से भी अपनी माँ का भोसड़ा चुदवाऊँगी ?
मैंने कहा :- शमा भोसड़ी की बड़ी कुत्ती चीज है। खुद तो झमाझम गैर मर्दों से चुदवाती है और फिर उन सबके लण्ड अपनी माँ के भोसड़ा में घुसेड़ कर अपनी माँ चुदवाती है। इसीलिए उसकी चूंचियां ६ महीने में ही दूनी हो गयी है ? उसे चूतड़ भी बड़े बड़े हो गये है ? उसकी गांड भी मोटी हो गयी है ?
वह बोला ;- हां भाभी, शमा भाभी की चूत भी चबूतरा जैसे हो गयी है। मेरे जैसे लोग उसे खूब धमाधम चोदते है ?
वह बोला :- एक बात और बताऊँ नाज़ भाभी ?
मैंने कहा :- यार अब तू बातें न बता ? अब मन लगा कर पहले बुर अच्छी तरह चोद ले उसके बाद इकठ्ठा सारी बातें बता देना ? अच्छा चल नहीं मानता है तो बता दे यह भी बात ?
वह बोला :- शमा भाभी मेरे दोस्त से अपनी गांड भी मरवाती है। मुझसे भी कहा था की असर मेरी गांड मारा करो लेकिन मुझे गांड मारने में मज़ा नहीं आता ? मैं बोली :- ठीक है मैं भी गांड ज्यादा नहीं मरवाती ? हां कभी कभी मरवा लेती हूँ। अब किसी दिन तेरे दोस्त से ही मरवाऊँगी अपनी गांड ?
असर फिर भकाभक चोदने लगा मेरी चूत ?
मुझे असर से चुदवाने में खूब मज़ा आया। मैंने उससे जाते समय कहा असर अबकी बार आना तो अपने दोस्त को भी लेते आना। मैं उससे बुर भी चुदवाऊँगी और गांड भी मरवाऊँगी ? अब तेरी भाभी की खबर लेती हूँ तू तो बाद में चोदेगा उसकी माँ मैं तो आज ही चोद डालूंगी उसकी माँ ?
शाम को सबसे पहले मेरी सास मुमताज़ आ गयी। उसे देखते ही मैं बोली कहाँ से आ रही हो सासू जी अपना भोसड़ा चुदवा के ? – उसने जबाब दिया अपनी नन्द की ससुराल से आ रही हूँ अपना भोसड़ा चुदवा के ? तेरी झांटें क्यों जली जा रही है माँ की लौड़ी बहू भोसड़ी की ? – मेरी झांटें क्यों जलेंगी, तू चाहे गांड मरा चाहे बुर चुदा मेरे लाड़े से ? – तो फिर क्यों बक बक कर रही है तू बहन चोद ? – मैं तो इसलिए पूंछ रही हूँ की कोई तेरा भोसड़ा चोदने यहाँ भी आया था ? – हाय दईया कौन आया था मेरा भोसड़ा चोदने ? किसको मेरा भोसड़ा इतना प्यारा है ? – तेरी बुर चोदी बिटिया का देवर आया था तुझे चोदने – हाय अल्ला, कितना बढ़िया मौक़ा था ? – मौक़ा बढ़िया था तभी तो चुदवा लिया मैंने उससे – अच्छा तो तेरी बुर चोद कर गया है वो ? कोई बात नहीं अगली बार तो आएगा ही मुझे चोदने ?
तब तक उसकी बेटी यानी मेरी नन्द शमा भी आ गयी। मुझे देखते ही बोली :- हाय नाज़ भाभी कैसा लगा मेरे देवर का लण्ड ?

मैंने बताया :- यार इतना मस्त लौडा है उसका तूने पहले मुझे बताया ही नहीं ? मैंने तो बड़े प्यार से चुदवाया उससे ? एक बात है शमा तू बहन चोद बड़ी चालाक है। तू अपने देवर से अपनी माँ का भोसड़ा चुदवाने जा रही है लेकिन तूने उससे कभी मेरी बुर चोदने को नहीं कहा ? वह बोली :- यार तुझे चोदने तो आज मेरे मियां आ रहा है। उस दिन तुझे बिना चोदे चला गया तब से वह बस इसी ताक में है की कब भाभी की बुर चोदने को मिले ? आज उसे मौक़ा मिल गया। मेरी बात फोन पर हो गयी है। आज हम दोनों मियां बीवी मिलकर तेरी बुर चोदेंगें भाभी ? अपनी झांटें वगैरह बना कर तैयार हो जाओ ?
मैं मन ही मन बड़ी खुश हो गयी।
मैं जब शाम को ड्राइंग रूम में गयी तो देखा की वहां दो आदमी और बैठे हैं ? मुझे देख कर मेरी सास बोली लो आ गयी न मेरी बुर चोदी बहू नाज़ ? यही मेरी बहू है यार ? जितनी मस्त मेरी बहू है उतनी ही मस्त इसकी चूत है ? तब तक मेरी नन्द शमा भी आ गयी। उसे देख कर सासू बोली अरे वाह लो मेरी बेटी भी भोसड़ी वाली आ गयी है। ये है माँ ली लौड़ी शमा इसकी बुर चाहने वाले बहुत लोग है। जब चुदाना शुरू करती है तो जाने कितने लोगों से एक साथ चुदवा लेती है ? और इसके पीछे है इसका शौहर साजिद खान इसका लौड़ा बहन चोद सबको पसंद है। आज तो ये मेरी बहू की बुर चोदने से शुरू करेगा ? सासू फिर बोली ये है भोसड़ी का नज़ीब मेरी नन्द का देवर और ये है इसका दोस्त अज़ीज़ ? आज घर होगी घमाशान चोदा चोदी ?

मैंने कहा नज़ीब और अज़ीज़ अंकल ये है मेरी बुर चोदी सास मुमताज़ भोसड़ी की बड़ी चुप्पा चुदक्कड़ है ? इसका भोसड़ा जाने कितने लण्ड खा जाता है, सबसे बड़ी बात यह है की मेरी सास अपनी बहू की बुर चुदवाती है अपनी बिटिया की बुर चुदवाती है। और बड़ी से हम लोगों के साथ रहती है।
“हम तीनो के बीच तीन रिश्ते है माँ बेटी, सास बहू और नन्द भौजाई
हम तीनो खूब एक दूसरे को गन्दी गन्दी भद्दी भद्दी गालियां देतीं हैं,
एक दूसरे की चूत में लण्ड पेलती है और मस्ती से इकठ्ठे चुदवाती है
एक दूसरे को खुश रखती है और ज़िन्दगी एन्जॉय करती है”

रात को जब महफ़िल लगी तो मैंने सबसे पहले शमा के मियां लण्ड पकड़ लिया और उसे हिलाते हुई बोली हाय मेरी सासू जी देख कितना प्यारा लौड़ा है इसका ? ये उस दिन तुम्हे चोद कर चला गया था। मैं चुदासी रह गयी थी तो मेरी झांटें सुलग गयी थी। आज इसका लण्ड पकड़ कर मेरी झांटें शांत हो गयी है। शमा ने नज़ीब का लौड़ा पकड़ लिया और सास ने अज़ीज़ का लौड़ा ? हम तीनो एक दूसरे को देख देख कर लण्ड चाटने लगी और फिर रात भर लण्ड अदल बदल कर चुदवाया ?

Best Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone


bhai behan ki hot storymaa ki chudai desichut chudai ki khaniyasali ki chut chudailadki chodne ki kahanichut chudai storychodna kahaninew sexy chudai kahanisex story hindi maylatest chutmami ki bahan ki chudaijyoti ki chutbhabhi ko room me chodamastram story commuslim ki chutbhabhi sex bfchut chataichut land ke khanemarwadi sxehindi bf hindibhabhi k sath sexbur chudai hindi storymummy chudai comsexy kahani bhabhibhabhi ka brasexy gujratido chut ek landdesi lund se chudaimummy ki rasili chutchoti behan ki gand mariaunty ki gand mari with photoaap ki kahanisali ki mast chudaiboor aur land ki chudaiteacher ki class me chudaimaa beta ki chudai commaa ki chut me mota lundchudai gandshadi chodabhabhi ki chudai fuckhindi secy storypariwar me chudai k sukhaunty ki gand mari storyaanti sex comchut ki dukanmami ki chudai hindi mewww hindi sex storis combf kahaniyagharelu chudai kahanimaa chudai story in hindichudai ki kahanniyamaa ko choda patakehindi sec storybehan ki chuchihindi saxy khanidoctor ne chodachudai ghar kichudai train mea hindi sex storybhabhi ki boor ki chudaihindisex kathahindi chudai ki kahani combhabhi ki chudai in sareekamsin sali ki chudainarm chutpli in hindihindi chachi ki chudaireal wife swap storieshindi aunty sexaunty ki sexy choothottest sex storieschachi ki chudai 2010nri ki chudaisexi khaniya hindi megujarati sex storybhai behan ki sex kahanibhabhi ki chuthindi sexy story comchut rasilichudai ke picturedidi ki brapushpa bhabhi ki chudaithreesome sex storiesgirl ki chudaihindi saxe storesexy stories in hindi frontmeri chut fadicrossdressing hindi storyaantervasna combahan ko choda storysex story mami ko chodakamukta kahanihindi choodai ki kahani