Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

अब्बू का बेलगाम लण्ड-19


hindi chudai ki kahani यार मुझे मर्द हमेशा नंगे नंगे ही अच्छे लगते है . मैं बड़ा एन्जॉय करती हूँ जब मैं नंगे मर्दों को देखती हूँ . उनका जिस्म देखती हूँ . उनकी छाती देखती हूँ . उनकी मस्त भुजाएं देखती हूँ, चौड़े चौड़े कंधे देखती हूँ, उनकी तंदुरस्ती देखती हूँ . उनके लण्ड देखती हूँ . लण्ड का सुपाडा देखती हूँ .पेल्हड़ देखती हूँ . झांटे देखती हूँ . उनकी गांड भी देखती हूँ . ये सब तो मुझे दूर से दिखाई पड़ जाते है . पर जब मैं नजदीक से देखती हूँ तो पूरे जिस्म पर हाथ फेर कर देखती हूँ . छाती के बालों पर ऊँगलियाँ फिराती हूँ . झांटों पर ऊँगलियाँ फिराती हूँ . चूतडों पर गांड पे हाथ फेरी हूँ . जाँघों पर हाथ रगडती हूँ . गाल चूमती हूँ . होठ चोमती हूँ . लण्ड पर तो सबसे ज्यादा ध्यान देती हूँ . लण्ड पकड़ पकड़ कर देखती हूँ तो मज़ा आता है . हिला हिला कर देखती हूँ . चारों तरफ से घुमा घुमा कर कर देखती हूँ . पेल्हड़ भी सहला सहला कर मज़ा लेती हूँ . लण्ड चूमती हूँ, पेल्हड़ चूमती हूँ . मैं वाकई बड़ी मस्ती करती हूँ मर्दों के साथ .
मेरी सबसे बड़ी कमजोरी है खड़ा लण्ड पकड़ना ? मेरे सामने अगर कोई टन टनाता हुआ लण्ड खड़ा हो, तो फिर मैं सारी दुनिया भूल जाती हूँ और उसे पकड़ कर प्यार करने लगती हूँ . उसको पुचकारती हूँ . उसकी खूब चुम्मी लेती हूँ . उसे अपने पूरे चेहरे पर घुमाती हूँ . अपनी मस्त चूंचियों की शैर कराती हूँ . और फिर चुपके चुपके अपनी चूत तक ले जाती हूँ .
मर्दों के साथ मैं भी नंगी रहती हूँ . मैं घर में न किसी मर्द को कपडे पहनने देती हूँ और न खुद पहनती हूँ . मेरे कॉलेज के जितने लड़के मेरे घर आते है मैं पहले उन्हें नंगा करती हूँ . उनके लण्ड पकड़ती हूँ फिर उनकी बात सुनती हूँ . मुझे लण्ड पकडे पकडे बात चीत करना बड़ा अच्छा लगता है . आप जब मेरे घर आयेंगे तो मैं आपका भी लण्ड पकड़ कर आप से बात करूंगी .
एक दिन मेरे घर में स्टीफेन नाम का एक लड़का आ गया . इसने अभी इसी साल एम् बी ए में एड्मीसन लिया है . लड़का बड़ा स्मार्ट है और सेक्सी भी लगता है . आते ही बोला मेम मुझे आपसे कुछ कहना है . मैंने कहा ठीक है पहले अपने कपडे उतारो ? वह मेरी नियत को समझ नहीं पाया और अपनी कमीज उतार दी . मैंने कहा पैन्ट भी उतारो . पहले तो वह थोड़ा झिझका फिर मेरे कहने पर उतार दिया . मैं उसे सामने सोफे पर बैठी थी . उसकी चड्ढी के ऊपर से उसके लण्ड का उभार मैं बड़े मन से देखने लगी . उस पर अपना हाथ फेरा तो वह थोड़ा सकपका गया . मैंने कहा डरो नहीं यार मैं तुम्हे प्यार करती हूँ . मैं तुम्हारा सब काम कर दूँगी पर मुझे पहले अपना काम करने दो . मैंने अपनी दोनों चूंचियाँ खोल दी . फिर धीरे से अपना पेटीकोट भी खोल दिया . वह मेरी चूंची के अलावा मेरी चूत भी देखने लगा . फिर मैंने झट्ट से उसकी चड्ढी नीचे घसीट दी . उसका लौड़ा टन टना कर मेरे सामने आ गया .
मैंने उसे पकड़ा और बोली वाओ, कितना शैतान है तेरा लौड़ा ? कितना मस्त है तेरा लण्ड ? यार इतना बढ़िया लण्ड तुम अभी तक मुझसे छुपा कर बैठे थे . मैंने लण्ड चूमा और बोली हां अब कहो तुम क्या कहना चाहते हो . मैंने उसे अपने बगल में बैठाया और उसका लण्ड सहलाते हुए बात करने लगी . वह भी मेरी चूंचियाँ दबाते हुए बतलाने लगा .

वह बोला :- मेम मैं आपसे इंग्लिश पढ़ना चाहता हूँ . मेरी अंग्रेजी बहुत कमजोर है .
मैंने कहा :- ठीक है शाम को आया करो मैं पढ़ा दिया करूंगी . पर तुम्हे नंगे नंगे ही पढना पड़ेगा . और मैं भी नंगी नंगी ही पढ़ाऊंगी .
उसने हां कर दी . मुझे मस्ती आने लगी . मैंने लौड़ा मुह में लिया और चपर चपर चाटने लगी . चूसने लगी . बार बार सुपाडा मुह में लेती और बाहर निकालती . स्टीफेन थोड़ा सिस्याने लगा . मैं समझ गयी की इसे भी मज़ा आ रहा है .मैं फिर लण्ड का सडका लगाने लगी . मुझे मुठ्ठ मारने में बड़ा मज़ा आता है . मैं गचागच लण्ड को ऊपर नीचे करने लगी और गाली बकने लगी ., साले तेरी माँ की चूत ? मैं बहन चोद तेरा निकाल लूंगी तेल ? मैं मारूंगी तेरी गांड भोषडी के ? अब तुम रोज़ रोज़ आना और मेरी चूत की शैर करना ? आज तो मैं तेरा मक्खन खा कर रहूंगी साले माँ के लौड़े ? और जब वह झड़ने लगा तो मैं मुह फैलाकर सारा मक्खन खा गयी . मुझे लण्ड का स्वाद लाजबाब लगा .
उसके बाद वह आने लगा और मैं हर दिन उसका लण्ड पकड़ने लगी .
मित्रों, मैं शिवानी हूँ, २६ साल की एक मस्त हट्टी कट्टी खूबसूरत और सेक्सी बंगाली लड़की .
मेरे बूब्स बड़े बड़े है . मेरे चूतड़ बड़े बड़े है और गांड तो मेरी मटकती है जब मैं चलती हूँ . आगे से चूंचियाँ हिला हिला कर चलती हूँ तो लडको के लण्ड खड़े होने लगते है . मैं मुबई की पढ़ी हुई हूँ और अपने स्टूडेंट – लाईफ में बहुत एन्जॉय किया है . बहुत शराब पिया है सिगरट पिया है और लण्ड पिया है . ये सब मैं आज भी पीती हूँ . कोई ऐसा लड़का नहीं था जिसका लण्ड मैंने पकड़ा न हो ? तभी से मेरी आदत लण्ड पकड़ने की हो गयी है . मैं मन ही मन सोच रही थी की मुझे कोई ऐसी नौकरी मिले जिसमे मुझे लण्ड पकड़ने का खूब मौका हो ? तब मेरे दिमाग में आया की मैं कॉलेज की टीचर हो जाती हूँ . मुझे तभी लडको के लण्ड पकड़ने का मौका मिलता रहेगा . हर साल नये नये लण्ड ? कितना मज़ा आया करेगा ? और मैने इसी तरफ कोशिश की . आज मैं कामयाब हूँ . असली बात यह है की मैं चुदवाती कम हूँ लण्ड का सड़का ज्यादा लगाती हूँ .
चुदवाने में समय भी ज्यादा लगता है और एकांत जगह की भी ज्यादा जरुरत पड़ती है . मुठ्ठ मारने में न तो ज्यादा समय लगता है और न ही किसी खास जगह की जरुरत पड़ती है .
बस पैन्ट की जिप खोली और घुसेड दिया हाथ पकड़ लिया लण्ड ? धीरे धीरे हिलाने सहलाने लगी . जब खड़ा हो गया लण्ड तो मार दिया फ़चाफ़च सड़का और चाट लिया बहन चोद का सारा मक्खन ?
मैं कभी कभी क्लास में बैठे बैठे लड़कों के लण्ड पकड़ लेती थी . इसीलिए मेरे क्लास के लड़के पैन्ट के नीचे कुछ नहीं पहनते थे . मुझे लण्ड पकडाने के लिए मेरे अगल बगल ही बैठा करते थे . कभी कभी तो मैं दोनों हाथ में लण्ड लेकर मज़ा करती थी . मुझे नंगे लड़के तभी से बहुत अच्छे लगने लगे ?
मेरी कॉलोनी में एक रमजान अंकल रहते है . मैं उन्हें अच्छी तरह जानती हूँ . उनसे खूब बोलती हूँ और कभी कभी हंसी मजाक भी कर लेती हूँ . मैं तो बिलकुल नंगी थी घर में . मैंने जल्दी से एक पेटीकोट पहन लिया . एक दुपट्टा गले में माला की तरह डाल कर दरवाजा खोल दिया . मेरी चूंचियाँ बिलकुल आज़ाद थी. आते ही बोले शिवानी मैं तुमसे कुछ बात करना चाहता हूँ . मैंने कहा बैठो मैं अभी करती हूँ .मैं भी बगल के सोफे पर बैठ गयी . मैंने कहा :- अंकल अपनी पैन्ट खोलो ?
वह बोला :- कैसी बातें कर रही हो शिवानी ?
मैंने कहा :- अंकल बातें तो मैं बाद में करूंगी . पहले अपनी पैन्ट खोलो कमीज खोलो .
खैर मेरे कहने पर उसने खोल दी .
मैं आगे बढ़ी और उसके लण्ड को ऊपर से दबा कर बोली :- अब इस भोषडी वाले लण्ड को भी खोलो ?
वह बोला :- अरे शिवानी क्या हो गया है तुम्हे ?
मैंने कहा :- मुझे नहीं अंकल मेरी जवानी को कुछ हो गया है . मैं मर्दों को नंगा करके उनसे बात करती हूँ . मैं मर्दों के लण्ड पकड़ कर उनसे बात करती हूँ . अगर तुम्हे मुझसे बात करना है तो मैं तुम्हारा लण्ड पकड़ कर ही तुमसे बात करूंगी .

वह मान गया . मैंने जब उसका लौड़ा देखा तो मेरी आँखे खुल गयी .
इतना बड़ा लण्ड मैं पहली बार देख रही थी . मेरे मुह से निकला :- बाप रे बाप, अंकल तेरा बहन चोद इतना बड़ा लण्ड है ? इतना मोटा ताज़ा लौड़ा ? ये तो किसी का भोषडा फाड़ देगा ?
मेरे पकड़ते ही और मेरी सेक्सी बातें सुनकर लण्ड बढ़ने लगा . झांटे थी नहीं ? उसका सुपाड़ा ही मादर चोद ४” का था . मेरी एक मुठठी में लण्ड आ ही नहीं रहा था . मैंने उसे दोनों हाथों से पकड़ा उसे चूमा और बोली हां अंकल अब बताओ क्या कहना चाहते हो ? वो बोला मेरा एक किरायेदार है आरिफ उसे तुम्हारे कॉलेज में दाखिला चाहिए . तुम उसे सारे डाकुमेंट्स देख लो और उसको एडमिट कर लो . मैंने कहा इतवार को उसे मेरे पास भेज देना मैं देख कर उसका काम कर दूँगी .
इतने में अंकल ने मेरा पेटीकोट खोल डाला मैं एकदम नंगी हो गयी . मैं उसे बेड रूम ले गयी और पटक दिया उसे बिस्तर पर . चढ़ बैठी मैं उसके ऊपर . उसका लौड़ा हिला हिला कर उसे मस्त करने लगी . मैंने लण्ड अपनी दोनों गदेलियों के बीच रखा और मथानी की तरह मथने लगी . लण्ड बहन चोद हिनहिनाने लगा . मुझे जोश आ गया और मैं लण्ड पर चढ़ बैठी . मैं कूद कूद कर लण्ड चोदने लगी . मैंने कहा माँ के लौड़े भोषडी के अंकल आज मैं तेरी माँ चोदूंगी . बहुत दिनों के बाद मुझे एक मरदाना लौड़ा मिला है . आज तो मैं अपनी बुर फड़वा कर ही तुझे जाने दूँगी . वह बोला हां हां शिवानी आज मैं तेरी बुर के चीथड़े उडा दूंगा . मैं तो बहुत दिनों से तुझे चोदने की सोच रहा था . मैं जब जब तेरी चूंचियाँ देखता था तो मेरा लण्ड खड़ा हो जाता था . आज मैं इस मादर चोद चूंची की माँ चोदूंगा ? थोड़ी देर में मैंने कहा अब बहन के लौड़े अंकल मुझे पीछे से चोदो . मुझे कुतिया की तरह चोदो ? मुझे घोड़ी की तरह चोदो ? मुझे गधी की तरह चोदो ? पर चोदो भकाभक ? मैं चुदवाये चली जा रही थी . उस दिन मुझे मालूम हुआ की मुस्लिम लण्ड चोदने में कितना अच्छा होता है और कितना मज़ा देता है . हां मुस्लिम लण्ड का मुठ्ठ मारने में थोड़ी दिक्कत होती है क्योंकि उसकी ऊपर की खाल नहीं होती ? मेरी चूत मुस्लिम लण्ड की दीवानी होती जा रही थी . आखिर में जब लण्ड झड़ने को आया तो मैंने मुह फैला दिया . क्या बात है इतना सारा मक्खन ? मेरे मुह में, मेरी चूंची पर, मेरी चूत पर ?
इतवार को आरिफ आ गया . मैंने उसे अन्दर किया और उसके सामने अपनी चूंची खोले हुए बैठ गई .
वह बोला :- मेम मैं सब डाकुमेंट्स ले आया हूँ . आप देख लीजिये ?
मैंने कहा :- मुझे अपने डाकुमेंट्स नहीं अपना लौड़ा दिखाओ ?
वह बोला :- अरे मेम ये आप क्या कह रही है ?
मैंने कहा :- मैं जो कह रही हूँ वो करो . मैं तेरा लण्ड देख कर तुझे एड्मिसन दूँगी . तुम तो मेरी चूंची देख रहे हो न और मुझे अपना लौड़ा दिखाने में तेरी गांड फट रही है . अच्छा लो मेरी चूत भी देख लो .
मैंने अपना पेटीकोट उसके सामने खोल कर फेंक दिया .
अब वह कपडे खोलने लगा . जब उसका लौड़ा बाहर आया तो मेरा हाथ अपने आप आगे बढा और लण्ड पकड़ लिया ? लण्ड खड़ा होने लगा ? मैंने आवाज़ दी शीला यहाँ आओ ? शीला नंगी नंगी आ गयी . उसे देख कर आरिफ का लौड़ा टन टना उठा ?

मैंने कहा :- ज़रा शेखर रोहित और ज़मील तीनो को बुलाओ ?
वे तीनो लड़के नंगे नंगे ही मेरे सामने आ गये . उन्हें देख कर मैंने कहा :- देखो आरिफ इन तीनो लडको को आज ही मैंने एडमिशन दिया है क्योंकि इनके लण्ड मुझे पसंद आ गये है .
मैं फिर बोली :- और तेरा लौड़ा भी मुझे पसंद है ? तूने कभी किसी की बुर चोदी है ?
वह बोला :- हां अपनी भाभी की बुर चोदी है .
मैंने फिर पूंछा :- और किस किस की चोदी है बुर ?
वह बोला :- अपनों खाला का भोषडा चोदा है, मेम ?
मैंने कहा :- इसका मतलब तुम चोदना जानते हो ? ठीक है पर आज मैं ज्यादा मारती हूँ चुदवाती कम हूँ . सड़का मारती हूँ . किसी और दिन तुमसे चुदवाऊँगी ? आज से जब भी मेरे घर आना तो फ़ौरन कपडे उतार कर नंगे हो जाना और नंगे नंगे ही घर में घूमना जैसे ये मादर चोद तीनो घूम रहे है . जाओ तुम भी उनमे शामिल हो जाओ . सबको ठीक से अपना लण्ड दिखाओ और सबके देखो .
शाम को मेरी कुलीग मिस रीता आ गयी . रीता भी मेरे कॉलेज में मेरे साथ पढ़ाती है . उसने आरिफ को नंगा देखा . दो तीन और लडको को नंगा देखा . वह समझ नहीं पायी की ये क्या हो रहा है ?
वह बोली :- यार शिवानी ये लोग नंगे क्यों है ?
मैंने कहा :- यार मुझे नंगे नंगे लोग बड़े पसंद है . मैं उनके लण्ड देखती हूँ तो मुझे बड़ा मज़ा आता है .
वह बोली :- तो फिर इनसे चुद्वाती भी होगी ?
मैंने कहा :- हां बिलकुल तो इसमें हर्ज़ ही क्या है ? हां मैं लण्ड पीती ज्यादा हूँ . मुठ्ठ ज्यादा मारती हूँ चुदवाती कम हूँ .
वह बोली :- यार लण्ड तो मुझे भी बहुत अच्छे लगते है . पर मैं चुदवाती ज्यादा हूँ मुठ्ठ कम मारती हूँ .

मैंने कहा :- तो तुम कब और कहाँ चुदवाती हो ?
वह बोली :- अपने कॉलेज के टीचरों से और सीनियर लडको से अपने घर में ही चुदवाती हूँ .
मैंने कहा :- यार मैं तो मर्दों को अपने घर में नंगा ही रखती हूँ . जब चाहती हूँ, चुदवा लेती हूँ नहीं तो सड़का मार देती हूँ .
रीता बोली :- हां यही तो मैं भी करती हूँ . मैं अभी अभी राबर्ट सर और विक्रांत सर से चुदवा कर आ रही हूँ . दोनों बड़ा मस्त चोदते है ?
मैंने कहा :- हां विक्रांत का लौड़ा थोडा टेढ़ा है न उससे चूत को खूब मज़ा आता है .
वह बोली :- तो तुम भी उससे चुदवाती हो ?
मैंने कहा :- मैं तो बहन चोद प्रिंसिपल से भी चुदवाती हूँ . उसका लण्ड छोटा है मगर मोटा सबसे ज्यादा है ? इतना मोटा लण्ड न किसी लड़के का है और न ही किसी टीचर का ?
रीता बोली :- तू तो भोषडी वाली मुझसे ज्यादा चालू निकली .
मैंने कहा :- सबसे ज्यादा चालू तो मेरी चूत है माँ की लौड़ी ? न खुद चैन से कभी बैठती है और न मुझे बैठने नहीं देती है ? उसे तो हर रोज़ कोई न कोई नया लण्ड चाहिए ?

Best Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone


do chut ki chudaichut ki gahraihindi randihindi sexy stroeshindi behan ki chudaibhabhi or maa ko chodamousi ki chudai ki kahanihindi sexiestsexy chudai kahani hindi meindian maa bete ki chudaianal hindibhabhi in bra and pantykuwari girl chudaichachi ki chut hindibehan ki chudai ki hindi kahanibhabhi ki chudai ki kahani newdevar bhabhi sex pornsexy choot girlchachi hindi sex storybhatiji sexmast kahanirekha chutbhabhi bhabhi ki chudaichut main lundmummy chudimausi ko choda sex storyhindi aexgoa ka sexkarishma ko chodaindian wife swapping sex storiesantarvasna bhai bahan ki chudaikaali chootmaa bete ki sexy chudaimastram bhabhisasur ne train me chodaindian suhagrat chudai videoindian sex aunty sexhindi real sexhindi mom sex storymousi ki chudai hindi videowww chut kahani comsavita bhabhi ko chodaincest story hindisexy hindi story chudaimadhuri ki gandchudai sabkisax chotkhel me chudaibahan sex storychut ki sawarisavita bhabhi hindi readchudai ki khahniyabeti ki chudai ki kahani hindifree hindi hot storymaa bete ki chudai kahani in hindichudai ki kahani hindi meinsuhagrat ki chudai ki kahani in hindimastram kahanichodan sex storyboobs pressing storiesrajjo ki chudaiaantervasna hindi storieshd hindi sexy chudaichudai madammaa ki choot lundbhabhi ko chodna haibhabhi se sexchudai ki sabse gandi kahani8 saal ki ladki ko chodahot sardarnimastram ki hindi storybhabhi ko holi me chodasexy chudai ki kahani hindisex com hotschool me mujhe chodahot chutbhai bhan sexy storymalish sexmeri sister ki chudai